scriptThe culture of Gwalior seen in theatrical performance | नाट्य मंचन में दिखी ग्वालियर की संस्कृति | Patrika News

नाट्य मंचन में दिखी ग्वालियर की संस्कृति

आइटीएम ग्लोबल स्कूल का एनुअल फंक्शन

ग्वालियर

Published: December 07, 2021 10:00:20 am

ग्वालियर.
ढोलक की थाप पर रंग-बिरंगी वेशभूषा में बुंदेलखंडी नृत्य, मंच पर ही पेड़-पौधो से भरे जंगल में राजा मानसिंह का आखेट दृष्य...। मौका था आइटीएम ग्लोबल स्कूल के एनुअल फंक्शन का, जिसमें बच्चे ‘मृगनयनी-एक प्यारी चंबल गाथा’ का मंचन कर रहे थे। नाट्य मंचन एनुअल फंक्शन का प्रमुख आकर्षण रहा, जिसमें नृत्य, संगीत, गाथा, अभिनय, रंग, संस्कृति, इतिहास सभी कुछ समाहित था। इस नाट्य प्रस्तुति में स्कूल के नन्हे-मुन्नों से लेकर सीनियर स्टूडेंट्स ने एक से बढकऱ अभिनय कला की प्रस्तुति दीं। मुख्य अतिथि नगर निगम कमिश्रर किशोर कान्याल उपस्थित रहे। इस आयोजन को फेसबुक लाइव भी किया गया।
इस अवसर पर स्कूल के प्रिंसिपल डॉ सुजाष भट्टाचार्य, स्कूल की चेयरपर्सन रूचि सिंह चौहान उपस्थित रहे।
नाट्य मंचन में दिखी ग्वालियर की संस्कृति
नाट्य मंचन में दिखी ग्वालियर की संस्कृति
संस्कृति व इतिहास से रचे इस कार्यक्रम में प्री प्राइमरी के स्टूडेंट्स ने शास्त्री धुन पर कथक प्रस्तुत किया। अगली प्रस्तुति में स्टूडेंट्स ने राग भोपाली विशेष रूप से मंच पर पेश किया। इसके बात 9वीं शताब्दी के राजा मानसिंह तोमर की प्रेम कथा का नाट्य मंचन किया। स्टूडेंट्स ने इंस्ट्रुमेंटल परफॉर्मेंस भी दी। कार्यक्रम का संचालन स्टूडेंट ज्योतिष्को भट्टाचार्य व अग्रिमा वैष्य ने किया। अंत में आभार प्रदर्षन स्कूल की हेड गर्ल हुनर शाक्य ने किया।

संगीत, संस्कृति से कराया मृगनयनी में इतिहास दर्शन
‘मृगनयनी एक प्यारी चंबल गाथा’ नाट्य मंचन में हर प्रसंग को बड़ी सुंदरता से दर्शाया गया। नाट्य में बताया गया कि किस तरह गुजरी जाति की कन्या निन्नी ने अपनी बुद्धि, बल व शौर्य से राजा का दिल जीता। राजा मानसिंह तोमर ने उससे विवाह कर उसका नाम गुजरी निन्नी से बदलकर मृगनयनी रखा। साथ ही उनकी तीन शर्तों को मानते हुए उसके लिए गुजरी महल तैयार करवाया। इस नाट्य मंचन में तात्कालीन संस्कृति में रमे गीत, संगीत, नृत्य को भी आकर्षक तरीके से प्रस्तुत किया गया। कहानी के साथ-साथ एक्टिंग को ओर ज्यादा इफेक्टिव बना रही थी स्टेज के बैकग्राउंड में लगी विशाल एलईडी पर दिखता ग्वालियर किला और ऐतिहासिक दृश्य। साथ ही नाटक के हर दृष्य को प्रभावी बना रहा था वहां लगाई कलाकृतियां जो दृष्यों की आवश्यकता के अनुसार बदली जा रही थीं।
शांत रहें और नैतिकता से समझौता न करें
आइटीएम ग्लोबल स्कूल की चेयरपर्सन रूचि सिंह ने कहा कि पेंडेमिक हर किसी के लिए कई समस्याएं लेकर आया, लेकिन उसके दुष्प्रभावों से हमें खुद को प्रभावित नहीं होने देना चाहिए। उन्नति का मूल अच्छी शिक्षा, संस्कृति व अनुशासन होता है। हमेशा सच्चे रहें, किसी भी स्थिति में नैतिकता से समझौता नहीं करें। शांत रहें, आत्मविश्वासी रहें। खासकर बच्चों को अभी से ये सीखना चाहिए कि गुस्सा किसी चीज का हल नहीं है। सहनशक्ति रखकर ही हम किसी समस्या का हल निकाल सकते हैं। आप भी ऐसे कार्य करें जिससे समाज की मदद कर सके।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

इन नाम वाली लड़कियां चमका सकती हैं ससुराल वालों की किस्मत, होती हैं भाग्यशालीजब हनीमून पर ताहिरा का ब्रेस्ट मिल्क पी गए थे आयुष्मान खुराना, बताया था पौष्टिकIndian Railways : अब ट्रेन में यात्रा करना मुश्किल, रेलवे ने जारी की नयी गाइडलाइन, ज़रूर पढ़ें ये नियमधन-संपत्ति के मामले में बेहद लकी माने जाते हैं इन बर्थ डेट वाले लोग, देखें क्या आप भी हैं इनमें शामिलइन 4 राशि की लड़कियों के सबसे ज्यादा दीवाने माने जाते हैं लड़के, पति के दिल पर करती हैं राजशेखावाटी सहित राजस्थान के 12 जिलों में होगी बरसातदिल्ली-एनसीआर में बनेंगे छह नए मेट्रो कॉरिडोर, जानिए पूरी प्लानिंगयदि ये रत्न कर जाए सूट तो 30 दिनों के अंदर दिखा देता है अपना कमाल, इन राशियों के लिए सबसे शुभ

बड़ी खबरें

देश में वैक्‍सीनेशन की रफ्तार हुई और तेज, आंकड़ा पहुंचा 160 करोड़ के पारपाकिस्तान के लाहौर में जोरदार बम धमाका, तीन की नौत, कई घायलजम्मू कश्मीर में सुरक्षाबलों को मिली बड़ी कामयाबी, लश्कर-ए-तैयबा का आतंकी जहांगीर नाइकू आया गिरफ्त मेंCovid-19 Update: दिल्ली में बीते 24 घंटे के भीतर आए कोरोना के 12306 नए मामले, संक्रमण दर पहुंचा 21.48%घर खरीदारों को बड़ा झटका, साल 2022 में 30% बढ़ेंगे मकान-फ्लैट के दाम, जानिए क्या है वजहचुनावी तैयारी में भाजपा: पीएम मोदी 25 को पेज समिति सदस्यों में भरेंगे जोशखाताधारकों के अधूरे पतों ने डाक विभाग को उलझायाकोरोना महामारी का कहर गुजरात में अब एक्टिव मरीज एक लाख के पार, कुल केस 1000000 से अधिक
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.