बेटी को दामाद और समधी करते थे प्रताडि़त दुखी पिता ने किया था सुसाइड

तीन पर एफआइआर

ग्वालियर। बेटी को दहेज के लिए ससुरालवाले प्रताडि़त कर रहे थे। जब पिता से उसका दुख नहीं देखा गया तो परेशान होकर पिता ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। उन्होने सुसाइड नोट भी छोड़ा था, जिसमें बेटी के ससुरावालों की प्रताडऩा बताई। जांच पर जनकगंज थाना पुलिस ने बेटी के पति, ससुर और देवर पर मामला दर्ज किया।

पुलिस के मुताबिक सत्यनारायण की टेकरी निवासी ब्रह्मजीत शर्मा ने १४ अक्टूबर को फांसी लगाई थी। ब्रह्मजीत मूलत: कल्याणपुर वाह के रहने वाले हैं। उन्होंने अपनी बेटी की शादी ६ फरवरी २०१८ को योगेश शर्मा से की थी। शादी के कुछ दिन बाद ससुरालवाले दहेज के लिए तंग करने लगे। योगेश उसे अपने साथ गुडग़ांव लेकर गया। वहां भी उसे पीटा। मकान मालिक ने घरवालों को फोन किया तो उसे लेकर आए। इसके बाद ९ जनवरी २०१९ को महिला थाने में आवेदन दिया। ब्रह्मजीत का कहना था तारीख पर तारीख दी जा रही थी, लेकिन पुलिस कोई कार्रवाई नहीं कर रही थी। १४ अक्टूबर को ब्रह्मजीत ने सुसाइड कर लिया। पुलिस को पता चला तो मौके पर पहुंची। घर से सुसाइड नोट भी मिला, लेकिन उस पर ब्रह्मजीत के हस्ताक्षर नहीं थे। पुलिस ने जांच की घरवालों के बयान लिए तो ससुरालवालों की प्रताडऩा सामने आई। इस पर जनकगंज थाना पुलिस ने बेटी के पति, योगेश, ससुर वासुदेव और देवर मनोज पर एफआइआर कर ली है।

यह लिखा था सुसाइड नोट में
सुसाइड़ नोट में लिखा कि बेटी का दुख मुझसे नहीं देखा जाता। उसे दामाद और उसके घरवाले दहेज के लिए प्रताडि़त करते थे। पुलिस मेरी बात सुन नहीं रही। मैं तारीख करते-करते परेशान हो चुका हूं। इसलिए जीना नहीं चाहता।

Harpal chauhan
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned