लापरवाही ही बाधा बनी नाला निर्माण में

अपशिष्ट जल निकास का साधन बने नाले में गिरने से एक महिला, एक ऑटो ड्राइवर की मौत हो चुकी है। इसके अलावा कुछ बच्चे, आवारा पशु और एक साइकल सवार गिरकर घायल हो चुका है।

ग्वालियर। नगर निगम के विनय नगर क्षेत्र में दुर्घटनाओं का बायस बने नाले का निर्माण एक साल से नहीं हो पाया है। यह स्थिति तब है जब नाला निर्माण के लिए राशि जारी हो चुकी है और संबंधित विभाग के पास पहुंच चुकी है। लेकिन अधिकारियों की लापरवाही के कारण निर्माण अभी तक शुरू नहीं हो सका है। खास बात यह है कि चुनाव से पहले जिस नाले को वर्तमान खाद्य मंत्री ने मुद्दा बनाया था, वे भी इसके निर्माण को लेकर सकारात्मक पहल नहीं कर सके हैं। अब पत्रिका द्वारा याद दिलाए जाने के बाद जल्द निर्माण कराने की बात कर रहे हैं।

हो चुकी हैं दो मौत
-डीआरपी लाइन से लेकर मोहिते गार्डन होकर बहोड़ापुर की ओर अपशिष्ट जल निकास का साधन बने नाले में गिरने से एक महिला, एक ऑटो ड्राइवर की मौत हो चुकी है। इसके अलावा कुछ बच्चे, आवारा पशु और एक साइकल सवार गिरकर घायल हो चुका है। नाले के दूसरी ओर लगभग दो हजार छात्र संख्या वाला हायर सैकंडरी स्कूल होने के कारण इसमें कभी भी दुर्घटना हो सकती है।

विधायक ने दिया था धरना
विधानसभा चुनाव से पहले वर्तमान विधायक प्रद्युम्न सिंह तोमर ने डीआरपी लाइन से बहोड़ापुर की ओर जाने वाले इस नाले का निर्माण कराने के लिए धरना दिया था। तत्कालीन सरकार और मंत्री पर क्षेत्र की अनदेखी करने का आरोप भी लगाया था। इसके बाद धरना देने वाले नेता विधायक बन गए हैं, लेकिन नाला निर्माण अभी तक नहीं हो सका है।

-बारिश के पहले इसकी स्वीकृति हुई थी, इसके बाद बारिश के समय निर्माण शुरू नहीं हो सका। अब जल्दी निर्माण शुरू हो जाएगा। नगर निगम को इसके लिए निर्देशित कर रहे हैं।
प्रद्युम्न ङ्क्षसह तोमर, विधायक एवं खाद्य मंत्री

Show More
राजेश श्रीवास्तव
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned