खेलगांव का अब तक शुरू नहीं हो सका काम

खेलगांव का काम अब तक शुरू नहीं हो सका है। अटल बिहारी वाजपेयी भारतीय सूचना एवं प्रौद्योगिक संस्थान के सामने मुरैना रोड पर प्रस्तावित खेल...

ग्वालियर. खेलगांव का काम अब तक शुरू नहीं हो सका है। अटल बिहारी वाजपेयी भारतीय सूचना एवं प्रौद्योगिक संस्थान के सामने मुरैना रोड पर प्रस्तावित खेल गांव को 50 एकड़ भूमि आवंटित कर दी गई है, लेकिन यहां सिर्फ बोर्ड लगा हुआ है। इसके अलावा कोई काम नहीं हुआ है। जनवरी में खेल संचालक ग्वालियर आए थे और काम जल्द शुरू होने को कहा था, लेकिन तीन महीने के बाद भी कुछ नहीं हुआ।
वर्तमान में इस जमीन की हालत खराब है झाडिय़ां और घास के अलावा यहां कुछ नहीं है। तार फेंसिंग और बोर्ड लगाकर इस जमीन को अधिग्रहण कर लिया गया है। खेल गांव की 50 फीसदी भूमि का उपयोग पीपीपी मॉडल से विकास करना था। इस खेलगांव में क्रिकेट, हॉकी, फुटबाल मैदानों को तैयार करना है। एथलेटिक्स ट्रैक व तैराकी के लिए स्वीमिंग पुल भी प्रस्तावित किया गया था। मैदान को तैयार करने के लिए पहले चरण में बाउंड्रीवाल का काम शुरू होगा, जिसके लिए करीब 10 करोड़ रुपए स्वीकृत हो चुके है। काम के लिए टेंडर प्रक्रिया भी हो चुकी है। बाउंड्रीवाल बनने के बाद आगे काम शुरू होगा इसलिए खिलाड़ी जल्द यहां खेलने के लिए अभी इंतजार करना होगा।


अंतरराष्ट्रीय स्तर का होगा खेलगांव
खेल एवं युवा कल्याण विभाग इस खेल गांव को अंतरराष्ट्रीय सुविधाओं के साथ तैयार करना चाहते हैं, जिससे यहां राष्ट्रीय नहीं बल्कि अंतरराष्ट्रीय स्तर की प्रतियोगिताएं आयोजित हो सकें। भविष्य में कॉमनवेल्थ और एशियन गेम्स हो सकें इस तरह से खेलगांव को विकसित किया जाएगा। केन्द्र सरकार और राज्य सरकार से कितना बजट मिलता है उसके हिसाब से उसका स्वरूप तय होगा। खेलगांव में जो भी मैदान तैयार होंगे वे हाईटेक होंगे। यह दिल्ली से पास है इसलिए हवाई, टे्रन और सड़क मार्ग से आने-जाने में ज्यादा समय नहीं लगता है इसलिए भविष्य में अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिताएं यहां आयोजित हो सकती हैं।

रिज़वान खान Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned