चाट और मिठाई बेचने वालों की है ये गैंग, इनती वारदातें सुन रौंगटे हो जाएंगे खड़े

चाट और मिठाई बेचने वालों की है ये गैंग, इनती वारदातें सुन रौंगटे हो जाएंगे खड़े

Gaurav Sen | Publish: Mar, 28 2019 10:44:35 AM (IST) Gwalior, Gwalior, Madhya Pradesh, India

चाट और मिठाई बेचने वालों की है ये गैंग, इनती वारदातें सुन रौंगटे हो जाएंगे खड़े

ग्वालियर. अलीगढ़ में चाट बेची, फिर दिल्ली में मिठाई का धंधा किया, लेकिन किसी धंधे में मोटा मुनाफा नहीं दिखा तो कारोबार बंद कर ममेरे भाई के चोर गैंग में एंट्री ले ली। पिछले एक साल में करीब 15 चोरियां कीं। इनमें कई वारदातों को पुलिस ने दर्ज किया तो चोरों की हिम्मत और बढ़ गई। शातिर चोरों की जमात में गिनती होने पर आखिर पुलिस ने धर लिया।

पुलिस ने बताया भदौरोली महाराजपुरा निवासी मनोज पाल को पकडा है। मनोज शातिर चोर है। करीब एक साल पहले उसने ममेरे भाई गिर्राज निवासी मुरैना का गैंग ज्वॉइन किया है। पता चला था कि मनोज सिलसिलेवार चोरियां कर रहा है। दो दिन पहले हत्थे चढ़ गया तो उसे इंट्रोगेट किया। पूछताछ में चोर मनोज ने खुलासा किया कि रात को गिरोह उन बाजारों में घुसता है जहां चौकीदार नहीं होते, अगर मौजूद भी हैं तो सुस्त हैं। गैंग का टारगेट बड़े गोदाम और दुकानें रहती हैं। चोरियां करने के लिए उसके साथ गैंग लीडर गिर्राज और सोन चिरैया रहते हैं। एक साथी चौकीदार और पुलिस के मूवमेंट पर नजर रखता है, जबकि बाकी दो शटर के ताले चटकाकर उसका गल्ला और सामान चुराते हैं।

इन चोरियों का खुलासा

  • 16 से 22 फरवरी 2018 तक: लोहिया बाजार में गोदाम से लोहे के एंगल चोरी किए।
  • 5 जुलाइ 2018: गोरखी स्कूल में घुसकर यूपीएस, बैट्री,पंखा चुराया
  • 7 सितंबर 2018: माधौगंज में अनिल गुप्ता की दुकान से 21 हजार रु और काजू चुराए
  • 14 सितंबर से 19 सितंबर तक- कोतवाली थाने के पास शताब्दी काम्पलेक्स में घुसकर 98 किलो तांबे का तार चुराया

शौक पर किया पैसा खर्च
कोतवाली टीआइ अजय चानना के मुताबिक मनोज पाल और चोर गैंग के बाकी मैंबर चोरी की रकम को शौक पर खर्च करते थे। कुछ वारदातें ऐंसी हैं जिनकी रिपोर्ट दर्ज नहीं हुई है। चोरी में जो पैसा मिलता था उसे चोर आपस में बांट लेते थे। इनसे मंहगे कपडे, होटल में खाना पीना और नशे का शौक पूरा करते थे।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned