एक व्यक्ति गुजर नहीं सकता वहां बना रहे फुटपाथ

नगर निगम की एक ओर वित्तीय स्थिति खराब होने के चलते कर्मचारियों के वेतन के लाले पड़े हुए हैं। वहीं दूसरी ओर नगर निगम द्वारा विकास के नाम पर खुलेआम पैसों की बर्बादी की जा रही है। आकाशवाणी तिराहे से मेला रोड पर फुटपाथ पर लाखों रुपए खर्च किए जा रहे हैं जबकि देखा जाए तो यहां एक व्यक्ति के गुजरने तक की जगह नहीं है। इसके साथ ही यहां लगे पेड़ पौधों को भी इंटर लॉकिंग टाइल्स के जरिए कवर्ड किया जा रहा है जिससे इनके सूखने का खतरा भी बढ़ गया है।

By: Vikash Tripathi

Updated: 18 Mar 2020, 09:46 PM IST

आकाशवाणी तिराहे से मेला चौराहे तक करीब ९०० मीटर की सड़क के दोनों ओर फुटपाथ बनाया जा रहा है। इस पर इंटर लॉकिंग टाइल्स लगाई जा रही हैं। जबकि यहां एक साल पहले दोनों ओर पौधे लगाए गए थे जो कि अब बड़े हो चुके हैं। इसकी चौड़ाई की बात करें तो कई जगह आधा फुट ही है और पेड़ लगे होने के बाद तो यहां से कोई गुजर ही नहीं सकता है। दोनों ओर इंटर लॉकिंग टाइल्स पर करीब ९ लाख रुपए तक खर्च आएगा। ऐसे में देखा जाए तो इन टाइल्स को लेकर सवाल खड़े हो रहे हैं।
बहुत कम गुजरते हैं लोग
आकाशवाणी तिराहे से सूर्य नमस्कार चौराहे तक जिस मार्ग पर फुटपाथ बनाया जा रहा है वहां इसकी उपयोगिता बहुत ही कम है। इस मार्ग पर पैदल लोग बहुत ही कम गुजरते हैं। जबकि शहर के अन्य मार्ग जहां पर पैदल लोगों की तादात अधिक है वहां पर फुटपाथ नहीं बनाए जा रहे हैं।
लग सकते हैं पौधे
नगर निगम द्वारा जहां फुटपाथ बनाया जा रहा है वहां देखा जाए तो टाइल्स लगाने की जरूरत ही नहीं है। जो जगह है उस पर यहां पौधे लगाए जा सकते हैं। इंटर लॉकिंग टाइल्स के कारण तो पेड पौधे लगे हैं उनको भी पूरी तरह से कवर्ड कर दिया गया है जिससे उनके सूखने का भी खतरा है। शहर की बात करें तो यहां पहले से ही पेड़ पौधों की संख्या कम है ऐसे में उन्हें बढ़ाने के बजाए टाइल्स लगाई जा रही हैं।

सड़क के दोनों ओर फुटपाथ बनाए जाने का प्लान है उसके तहत ही निर्माण किया जा रहा है। जगह कम जरूर है लेकिन वहां पर लोग निकल सकते हैं।
प्रेम पचौरी, सीसीओ नगर निगम

Vikash Tripathi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned