कोरोना संक्रमण बढ़ाने के लिए ये लोग बन रहे सबसे बड़े जिम्मेदार

कोरोना वायरस को काबू करने के लिए लॉकडाउन का सख्ती से पालन कराने के लिए पुलिस एड़ी चोट का जोर लगा रही है, लेकिन तमाम हिदायतों के बावजूद शहर की तमाम बस्तियों में लोगों की घर के बाहर आवाजाही चालू है।

ग्वालियर. कोरोना वायरस को काबू करने के लिए लॉकडाउन का सख्ती से पालन कराने के लिए पुलिस एड़ी चोट का जोर लगा रही है, लेकिन तमाम हिदायतों के बावजूद शहर की तमाम बस्तियों में लोगों की घर के बाहर आवाजाही चालू है।
यहां ज्यादा हालत खराब
यह हालाता रामाजी का पुरा, इस्लामपुरा, मेवाती मोहल्ला, लधेड़ी, घासमंडी, गोसपुरा, किला तलहटी की बस्तियों, सत्यनारायण की टेकरी, बावन पायगा, दानाओली, अवाड़पुरा, आपागंज सहित तमाम बस्तियों में है। लोग घर से बाहर नहीं निकलें यहां चौकसी करने वाले पुलिसकर्मी बताते हैं कि लोगों को लगातार समझा रहे हैं कि कोरोना वायरस का खतरा समझो, इससे सिर्फ संक्रमित ही नहीं उसके संपर्क में आने वालों की जान भी खतरे में आएगी। लगातार इन बस्तियों में एनाउंस भी किया जा रहा है। जब पुलिस आती तो घर से बाहर तफरी करने वाले लपक कर घर में घुस जाते हैं और गश्त पार्टी के जाते ही लोग फिर बाहर आकर गुट बनाकर बेठते हैं।


टाइम पास के लिए खतरे से अनदेखी
- निचली बस्तियों में जुआ टाइम पास का जरिया बना हुआ है। सकरी गलियों और जिन रास्तों पर पुलिस की आवाजाही कम है वहां सुबह से रात तक जुए की फड़ जम रही है।

- गलियों और मोहल्लों में लोग सुबह और शाम घर से बाहर निकलकर सोशल डिस्टेसिंग के नियमों को ताक पर रख रहे हैं।

- कुछ कॉलोनी में इन दिनों महिलाओं की किटी पार्टी का दौर बढ़ा है। घर के अंदर चलने वाली पार्टी में भी सोशल डिस्टेसिंग का ध्यान नहीं रखा जा रहा है।

रिज़वान खान Desk
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned