ये है अपराधियों को पकडऩे का पुलिस का प्लान

ये है अपराधियों को पकडऩे का पुलिस का प्लान
ये है अपराधियों को पकडऩे का पुलिस का प्लान

Rajesh Shrivastava | Updated: 11 Oct 2019, 11:29:13 PM (IST) Gwalior, Gwalior, Madhya Pradesh, India

शहर की घनी बस्तियों के अलावा आउटर कॉलोनियों और नई बस्तियों में सुरक्षा पुलिस के लिए इन दिनों बड़ा टॉस्क है। इन बस्तियों में कौन लोग रह रहे हैं इसकी जानकारी पुलिस के पास पूरी तरह नहीं है।

ग्वालियर. शहर की घनी बस्तियों के अलावा आउटर कॉलोनियों और नई बस्तियों में सुरक्षा पुलिस के लिए इन दिनों बड़ा टॉस्क है। इन बस्तियों में कौन लोग रह रहे हैं इसकी जानकारी पुलिस के पास पूरी तरह नहीं है। कुछ समय पहले हुई बड़ी वारदातों के बाद पता चला है कि शार्प शूटर्स और वारदात की साजिश रचने वाले इन आउटर कॉलोनियों में आकर बस रहे और अपराध को अंजाम देकर निकल गए। ऐसी वारदातों की पुनार्वृति नहीं हो इसलिए पुलिस काम के तरीके में बदलाव का दावा कर रही है। इस संबंध में सीएसपी रवि भदौरिया से पत्रिका रिपोटर्र ने बातचीत की।

? शहर के बाहरी इलाकों में बनी बस्तियां, कॉलोनियों में रहने वालों की सुरक्षा के लिए क्या इंतजाम हैं।
- इन कॉलोनियों में किराएदार मकान मालिक की लगातार जानकारी जुटाई जा रही है। महाराजपुरा, हजीरा और पुरानी छावनी में कई कॉलोनियां हाइवे से जुडी हैं। किराएदार मकानमालिक की जानकारी से पता लगाया जा रहा है। इसके अलावा इन कॉलोनियों में पेट्रोलिंग तो लगातार की जाती है, हाइवे से सटे होने की वजह से इनमें दाखिल होने के लिए कई ऐसे रास्ते है जो आमतौर पर नजर में नहीं आते। इन रास्तों से आने वालों से पूछताछ के लिए मोबाइल चेकिंग लगाई जा रही है।
? नो एंट्री के वक्त भारी वाहनों की शहर में आवाजाही के लगातार आरोप पुलिस पर लगते हैं। लोगों की शिकायत रहती है कि चेकिंग प्वाइंट से पुलिसकर्मी कुछ फायदे में भारी वाहनों को शहर में आने देते हैं इनसे परेशानी होती है। यह वाहन हादसों का कारण भी बनते हैं।
- पुरानी छावनी में निरावली, महाराजपुरा में लक्ष्मणगढ़ नो एंट्री के वक्त भारी वाहनों का शहर में दाखिला रोकने के लिए दो प्वाइंट हैं। यहां पुलिस तैनात रहती है। लेकिन महाराजपुरा औद्योगिक इलाका है इसी तरह हजीरा में भी इंडस्ट्रियल एरिया और यातायात नगर है। इन जगहों पर भारी वाहनों को दिन के वक्त भी आने की इजाजत है।
? त्योहार पर सर्किल में पुलिस की तैयारी, खासकर नशा, जुआ और अवैध हथियारों के धंधे पर कंट्रोल के लिए क्या प्लानिंग
-कुछ इलाके अपराध के लिहाज से पुलिस के लिए ज्यादा चौकस रहने वाले इलाके हैं। इसलिए हजीरा, महाराजपुरा और पुरानी छावनी मेंं लोगों के साथ सीधा संवाद कर उन्हेंं पुलिस से जोड़ा जा रहा है। पब्लिक से हर मुलाकात में यही कहा जाता है कि अगर कहीं अपराध या अपराधी की जानकारी हो तो पुलिस को तुरंत बताएं ।

Show More

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned