गवाहों को धमकाने वाला बोला- जिस मोबाइल से पोस्ट किया वह चोरी हो गया

आरोपी अंडरग्राउंड कांग्रेस नेता रमन और संजय की तलाश

By: prashant sharma

Published: 04 Aug 2020, 07:29 PM IST

ग्वालियर. प्रॉपर्टी कारोबारी पंकज भदौरिया की हत्या में गवाहों को मुंह बंद रखने के लिए धमकाने वाला आशु बिहारी पकड़े जाने पर सारी हेकड़ी भूल गया है। पुलिस ने सामने बैठाकर सलीके से शंट किया तो गुंडा कान पकडकऱ कसम खा रहा है कि दोबारा रंगबाजी नहीं दिखाएगा। उसे हत्याकांड से कोई मतलब नहीं है। गवाहों को अदालत में जो बोलना है वह कहें। अब गुंडा सारी हरकत नशे में करने का हवाला देकर बचने के पैंतरे खेल रहा है। उधर पुलिस ने उसे एक दिन की रिमांड पर लिया है। उसे अल्टीमेटम दिया है कि पंकज की हत्या में शुमार जिन लोगों को बचाने के लिए गवाहों को धमका रहा था अब दिमाग पर जोर देकर उनके छिपने के ठिकाने बता दे। नहीं तो उसकी खैर नहीं है।
हजीरा टीआइ आलोक भदौरिया ने बताया पंकज हत्याकांड में गवाहों को मारने की धमकी देने वाले आशु बिहारी से हत्यारोपी रमन चौहान और संजय तोमर के बारे में पूछताछ की जा रही है। क्योंकि आशु फरार आरोपी रमन का जिगरी यार है। रमन कहां दुबका है जाहिर है उसे पता होगा। हालांकि आशु पुलिस को चकमा देने के लिए उससे ताल्लुक नहीं रखने की दलील दे रहा है, लेकिन अपनी ही बात में उलझ भी रहा है। रमन के बारे में पूछने पर जब वह उससे दूरी का पैंतरा खेलता है तो पुलिस का एक सवाल होता है फिर गवाहों को क्यों धमका रहा था। उससे किसने हरकत के लिए कहा था। इससे उसे क्या फायदा होने वाला था। इसका जवाब भी गुंडा नहीं दे पा रहा है।

मोबाइल फोन में होंगे कई राज
जिस मोबाइल से आशु ने फेसबुक पर धमकी भर वीडियो वायरल किया था वह भी उसने कहीं छिपा दिया है। आरोपी आशु जानता है कि फोन पुलिस के हाथ लग गया तो उसके खिलाफ सबूत बनेगा। इसके अलावा फोन में फरार हत्यारोपी रमन और संजय से जुड़ी बातें भी पुलिस के सामने आएंगी। इसलिए कहानी सुना रहा है कि फोन चोरी हो गया। उसके फोन की डिटेल निकाली जा रही है। इससे पता चलेगा कि बदमाश किन लोगों के सपंर्क में था। आशु बिहारी को पुलिस ने रविवार को राजस्थान से पकड़ा था। उसके खिलाफ पंकज के भाई रविन्द्र ने धमकी देने का मामला दर्ज कराया था।

prashant sharma Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned