पत्रिका की खबर की असर : एक फीट और बढ़ाने का लिया निर्णय , 5 साल बाद तिघरा में वाटर लेवल 738.70 फीट के पार

पत्रिका की खबर की असर : एक फीट और बढ़ाने का लिया निर्णय , 5 साल बाद तिघरा में वाटर लेवल 738.70 फीट के पार

Gaurav Sen | Publish: Sep, 07 2018 10:56:06 AM (IST) Gwalior, Madhya Pradesh, India

पत्रिका की खबर की असर : एक फीट और बढ़ाने का लिया निर्णय , 5 साल बाद तिघरा में वाटर लेवल 738.70 फीट के पार

 

ग्वालियर। तिघरा डैम में पांच साल बाद पानी का स्टोर लेवल 738.70 फीट के पार होने पर तिघरा के गेट खोले गए। गुरुवार की रात करीब 8 से 10 बजे तक गेट खोले गए, जिसमें से करीब 28 एमसीएफटी पानी को रिलीज किया गया। इसके पहले 22 अगस्त 2013 को वाटर लेवल 738 फीट था। इस वर्ष 0.70 फीट की बढ़त दर्ज की गई है। हालांकि इसके लिए अफसरों को भोपाल में हुई बैठक के निर्णय का हवाला देना पड़ा है।

पत्रिका ने तिघरा के 738 फीट के ऊपर भरने को लेकर मुद्दा उठाया था, क्योंकि इसके संधारण को लेकर जल संसाधन विभाग करोड़ों रुपए खर्च कर चुका है। पत्रिका की खबर के बाद अफसरों ने तिघरा को एक फीट और भरने का निर्णय लिया। इससे तिघरा में शहर के लिए एक माह से अधिक का पानी स्टोर हो जाएगा।

कब-कब पहुंचा 738 के पार

दिनांक लेवल फीट में पानी एमसीएफटी में
21.09.08 738.90 4239.450
23.09.10 738.15 4089.550
15.08.11 738.80 4269.472
19.09.12 738.80 4269.648
22.08.13 738.00 4059.648

सीजन की सबसे अच्छी बारिश का आंकड़ा बस 22 एमएम दूर

सितंबर में अच्छी बारिश होने से पिछले काफी वर्षो बाद शहर सीजनल बारिश का आंकड़ा छूने जा रहा है। इस माह इन छह दिनों में हर दिन बारिश होने से मौसम में भी बदलाव आ गया है। गुरुवार को दिन भर में कई बार बूंदाबांदी होती रही। मौसम विभाग के अनुसार चार माह में सीजनल बारिश 790.6 एमएम होना चाहिए। चार सालों से बारिश कम होने से सीजनल बारिश भी नहीं हो पा रही है। इस वर्ष अच्छी बारिश होने से सीजनल बारिश का आंकड़ा छूने में मात्र 22 एमएम ही दूर है। अभी बारिश 30 सितंबर तक होना है। गुरुवार को अधिकतम तापमान 29.3 और न्यूनतम 21.0 डिग्री दर्ज किया गया।

पिछले दस वर्षो के आंकड़े

2010 835.7
2011 735.3
2012 802.2
2013 857.4
2014 590.1
2015 665.5
2016 563.8

 

2017 708.4

करेंगे मेंटेन
हम तिघरा को इस बार 739 फीट तक भरेंगे। फिलहाल हमने गुरुवार को पानी की आवक को देखते हुए 738.70 फीट पर पानी रोका, फिर 738.50 फीट के लेवल को मेंटेन करने के लिए पानी छोड़ा गया। हम पल पल तिघरा पर निगाह बनाए हुए हैं, ताकि पानी को बिना दबाव 739 पर रोका जा सके।
राजेश चतुर्वेदी, कार्यपालन यंत्री जल संसाधन विभाग

tighra news

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned