वसूली को बढ़ाए, पेंडिग ड्राइविंग लाइसेंस को जल्द से जल्द बनाए

परिवहन विभाग छुट्टी वाले दिनों में भी बना सकता है लाइसेंस

ग्वालियर. परिवहन आयुक्त ने शनिवार को परिवहन कार्यालय में आरटीओ और चेकपोस्ट अधिकारियों की बैठक में निर्देश दिए कि वसूली को बढ़ाए और लॉकडाउन के दौरान जो ड्राइविंग लाइसेंस पेंडिग़ है उनको सबसे पहले निराकरण किया जाए। जो लोग एक मुश्त राशि देकर परमिट सरेंडर करना चाहते है उनकी सूची बनाई जाए। परिवहन आयुक्त मुकेश कुमार जैन ने कहा, लॉकडाउन के कारण वाहन चालकों को काफी रियायतें दी गई है ये सब 30 सितंबर को समाप्त हो जाएगी। इसलिए अपनी तैयारी को पूरी रखे और जितनी वसूली पेंडिंग है उसका निराकरण जल्द से जल्द करें। लर्निंग और ड्राइविंग लाइसेंस के जो पेंडिंग है उनको का जल्द से जल्द से निराकरण करें जिससे राजस्व आ सके। बैठक में अपर परिवहन आयुक्त (प्रर्वतन) अरविंद कुमार सक्सेना आदि उपस्थित थे।


ऑटोमेटिक सिस्टम से बनाए जाए लाइसेंस: परिवहन आयुक्त ने कहा, इंदौर और भोपाल की तरह ग्वालियर सहित पूरे 52 जिलों में ऑटोमेटिक ड्राइविंग लाइसेंस बनाने की व्यवस्था की जाए। इसके लिए कैमरे आदि की व्यवस्था की जाए।


चेक पोस्ट पर कटर के सहारे न रहे: चेक पोस्ट पर जो अधिकारी पदस्थ है वह रोज वहां अपनी उपस्थित दर्ज कराए। इसके अलावा अधीनस्थ कर्मचारियों की ड्यूटी 8-8 घंटे की रोटेशन में लगाई जाए। कटर सहारे एक भी चौकी नहीं रहना चाहिए।


18 चौकियों को करेंगे इंट्रीग्रेट: 42 चौकियों में से 19 चौकियां इंट्रीग्रेट हो चुकी है 5 पर काम चल रहा है। भविष्य शेष 18 चौकियों को इंट्रीगेट किया जाएगा इसके लिए अभी से जगह देखकर रखें। जिससे शासन से स्वीकृत मिलने के बाद काम जल्द शुरू हो सके।


प्रमोशन और वेतनमान के प्रकरण निपटाए: परिवहन विभाग में 10 वर्षों में जिन एएसआई, हवलदार आदि के प्रमोशन और वेतनमान के प्रकरण रूके हुए है उनको जल्द से जल्द निपटाया जाए। सभी की एसीआर को कंपलीट कर ले जिससे काम आसान हो सकें।

Patrika
राहुल गंगवार Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned