रेलवे स्टेशन पर लिफ्ट के लिए दो साल से खुदे गड्ढे बने मुसीबत

रेलवे स्टेशन पर लिफ्ट के लिए दो साल से खुदे गड्ढे बने मुसीबत

Rizwan Khan | Updated: 11 Jun 2019, 07:22:35 PM (IST) Gwalior, Gwalior, Madhya Pradesh, India

रेलवे स्टेशन पर यात्रियों को लिफ्ट की सुविधा मिल सके, इसके लिए रेलवे ने दो साल पहले काम शुरू कराया था, लेकिन रेलवे के अधिकारियों की ढील के कारण काम बहुत धीमी गति से चल रहा है, जिससे यात्रियों को लिफ्ट की सुविधा मिलने में देरी हो रही है

ग्वालियर. रेलवे स्टेशन पर यात्रियों को लिफ्ट की सुविधा मिल सके, इसके लिए रेलवे ने दो साल पहले काम शुरू कराया था, लेकिन रेलवे के अधिकारियों की ढील के कारण काम बहुत धीमी गति से चल रहा है, जिससे यात्रियों को लिफ्ट की सुविधा मिलने में देरी हो रही है। काम की शुरु आत तो रेलवे अधिकारियों ने बहुत तेजी से कराई थी, लेकिन बाद में रफ्तार बहुत धीमी हो गई। बीच में लगभग आठ, नौ महीने काम बंद रहा। इसके बाद रेलवे ने ठेकेदार को ब्लैक लिस्टेड कर दिया। उसके दो-तीन महीने बाद रेलवे ने दूसरी कंपनी को इसका ठेका दिया, लेकिन वह कंपनी भी धीरे-धीरे काम कर रही है। इसके चलते दो साल से खुदे पड़े गड्ढे यात्रियों के लिए मुसीबत बन रहे हैं।
रेलवे स्टेशन पर लिफ्ट का काम चारों प्लेटफॉर्म पर शुरू हुआ था, लेकिन चारों ही प्लेटफॉर्म पर गड्ढे करके छोड़ दिया गया। बाद में प्लेटफॉम-1 को छोडकऱ बाकी तीन प्लेटफॉर्म पर काम शुरू किया गया, लेकिन प्लेटफॉर्म-1 पर काम काफी समय तक बंद ही रहा। रेलवे इंजीनियरों ने प्लेटफॉर्म-1 पर जिस स्थान पर लिफ्ट के लिए गड्ढा कराया था, उसकी ड्राइंग में गलती थी, इसलिए रेलवे अधिकारियों ने दूसरी ड्राइंग तैयार कर नए सिरे से काम शुरू किया। लेकिन एक महीने से गड्ढे ही खोदे जा रहे हैं, इसके चलते प्लेटफॉम-1 पर यात्रियों को सबसे ज्यादा परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। रेलवे को नौ महीने पहले सितंबर-2018 में यह काम पूरा करना था, जो अभी तक नहीं हुआ है।
लिफ्ट का काम ग्वालियर और झांसी में एक साथ शुरू हुआ था। इसके बावजूद झांसी में रेलवे के वरिष्ठ अधिकारियों के बैठने से लिफ्ट का काम बहुत तेज चला और 19 जनवरी को झांसी में शुरू भी हो गई। जबकि ग्वालियर में इसके लिए चारों ही प्लेटफॉर्म पर बड़े- बड़े गड्ढे खोदकर डाल दिए गए हैं।

सवा साल से प्लेटफॉर्म पर रखा सामान
प्लेटफॉर्म-1 पर ड्राइंग में गलती होने के कारण पहले ठेकेदार ने बीच में ही काम छोड़ दिया था, लेकिन इस प्लेटफॉर्म पर लिफ्ट में लगने वाला सामान लगभग सवा साल से प्लेटफॉर्म पर ही रखा हुआ है। इससे यात्रियों को ट्रेन पकडऩे के दौरान काफी दिक्कत का सामना करना पड़ता है। जिस स्थान पर यह सामान रखा हुआ है, वहां पर झांसी की ओर जाने वाली ट्रेनों के स्लीपर कोच आते हैं। इन ट्रेनों में अधिक संख्या में यात्री यात्रा करते है, सामान रखा होने से उन्हें काफी परेशानी होती है। दो साल में रेलवे के कई बड़े अधिकारी स्टेशन का निरीक्षण करने के लिए आए, जिन्होंने लिफ्ट का काम देखने के बाद संबंधित अधिकारियों को इसे जल्द पूरा कराने के निर्देश दिए, लेकिन हर बार अधिकारी कोई न कोई बहाना बनाकर इस काम को रोके रखे रहे। इसके चलते हालात यह हो गए हैं कि लिफ्ट का काम लगातार लेट होता जा रहा है, जिससे यात्रियों को समय पर सुविधा नहीं मिल पा रही है।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned