नक्सली हमले में शहीदों के अंतिम दर्शनों के लिए उमड़ा जन शैलाब,नम आखों से दी श्रद्धांजलि

monu sahu

Publish: Mar, 14 2018 07:11:52 PM (IST)

Gwalior, Madhya Pradesh, India
नक्सली हमले में शहीदों के अंतिम दर्शनों के लिए उमड़ा जन शैलाब,नम आखों से दी श्रद्धांजलि

जिला मुख्यालय स्थित एसएएफ की 17वीं बटालियन के हैलीपेड पर पहुंचने पर दोनों शहीदों को गार्ड ऑफ ऑनर के साथ सलामी दी

ग्वालियर। छत्तीसगढ के सुकमा जिले में नक्सलियों के हमले में शहीद हुए सीआरपीएफ के चतुर्वेदी नगर भिण्ड के जवान जितेन्द्र सिंह एवं मुरैना जिले के तरसमां गांव के एएसआई श्री रामकृष्ण सिंह तोमर का पार्थिक शरीर सीमा सुरक्षा बल के हेलीकाप्टर से जिला मुख्यालय स्थित एसएएफ की 17वीं बटालियन के हैलीपेड पर पहुंचने पर दोनों शहीदों को गार्ड ऑफ ऑनर के साथ सलामी दी। एसएएफ के हैलीपेड पर सीआरपीएफ के आईजी आरपी पाण्डेय,डीआईजी आरसी मीणा,कलेक्टर भिण्ड डॉ. इलैया राजा टी, मुरैना भास्कर लक्षाकार,एसपी भिण्ड प्रशांत खरे,अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक मुरैना अनुराग सुजानिया ने दोनों शहीदों के पार्थिक शरीर पर पुष्पचक्र अर्पित कर शहीदों को नम आखों से श्रृद्वांजलि दी।

यह भी पढ़ें: बड़ी खबर : शहीद की पत्नी ने कहा हमें रोना नहीं है,हम दुश्मनों को मिटा देंगे

 

शहीदों को नम आखों से श्रृद्वांजलि
नक्सली हमले में शहीद हुए भिण्ड के जवान जितेन्द्र सिंह एवं मुरैना के एएसआई श्री रामकृष्ण सिंह तोमर के पार्थिक शरीर एसएएफ ग्राउण्ड स्थित हैलीपेड से सीआरपीएफ की वाहनो से भिण्ड के चतुर्वेदी नगर एवं मुरैना जिले की तहसील पोरसा के ग्राम तरसमां के लिए रवाना हुए।

यह भी पढ़ें: बड़ी खबर : नक्सली हमले में एमपी के दो जवान शहीद,गांव में पसरा मातम

दोनों शहीदों के वाहनो के पीछे सीआरपीएफ और प्रशासन तथा पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों का काफिला रवाना हुआ। इसके बाद शहीद जवान जितेन्द्र ंिसह का पार्थिक शरीर उनके गृह निवास चतुर्वेदी नगर भिण्ड पहुंचा और मुरैना के शहीद एएसआई रामकृष्ण सिंह तोमर का पार्थिक शरीर भिण्ड से सडक मार्ग होते हुए पोरसा तरसमां पहुंचा गया। दोनों ही शहीदों को नम आखों से श्रृद्वांजलि दी गई।

यह भी पढ़ें: GST : एडवांस टैक्स जमा करने में चूके तो भरनी पड़ेगी भारी भरकम पेनल्टी,यह है नियम

स्कूल का होगा नामकरण
शहीदों के घर प्रभारी मंत्री लाल सिंह आर्य एवं स्थानीय विधायक नरेंद्र सिंह कुशवाह और नपा उपाध्यक्ष रामनरेश शर्मा सहित अन्य अधिकारी उनके घर पर पहुंचे। मंत्री आर्य ने शहीद जितेंद्र सिंह कुशवाह को श्रद्धांजलि देने के बाद उनके पिता को ढाढंस बंधाया और कहा कि शहीद के नाम उनके गांव के स्कूल का नामकरण करने साथ ही गांव के प्रवेश द्वार का नाम भी शहीद के नाम से कराने की बात कही। इसके अलावा उनके परिवार में एक अनुकंपा नियुक्ति एक सदस्य को दिलाने की बात कही है

Two jawan

डाउनलोड करें पत्रिका मोबाइल Android App: https://goo.gl/jVBuzO | iOS App : https://goo.gl/Fh6jyB

Ad Block is Banned