बड़ी खबर : गर्मी की छुट्टी मनाकर लौट रही फैमली कार सहित खाई में गिरी, दो की मौत, चार घायल

बड़ी खबर : गर्मी की छुट्टी मनाकर लौट रही फैमली कार सहित खाई में गिरी, दो की मौत, चार घायल

By: monu sahu

Published: 24 May 2018, 08:31 PM IST

ग्वालियर। गुना जिले के चाचौड़ा थाना अंतर्गत बीनागंज चौकी क्षेत्र के घोड़ापछाड़ पुल के पास बीती रात नींद की झपकी लगने से एक कार चालक का संतुलन बिगड़ गया और कार अनियंत्रित होकर रोड किनारे बनी खाई में जा गिरी। कार जमीन पर न गिरते हुए एक टूटे हुए कच्चे मकान पर जाकर फंस गई। रात में तेज आवाज सुनकर आसपास से ग्रामीण मौके पर पहुंचे तथा पुलिस को सूचना दी। पुलिस व ग्रामीणों ने कार सवार लोगों को वाहन से बाहर निकाला। घटना इतनी वीभत्स थी कि एक महिला सहित दो लोगों की जहां मौके पर ही मौत हो गई,वहीं चार लोग गंभीर रूप से घायल हो गए। घटना में दो मासूम बच्चे सुरक्षित बच गए।

यह भी पढ़ें : फिर टूटा रिकॉर्ड, 46.20 पर पहुंचा तापमान, मौसम विभाग ने भी दिए ये बड़े संकेत

 

कार सवार सभी लोग गर्मी की छुट्टी मनाकर वापस शिवपुरी आ रहे थे। पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है। शहर में रहने वाले व्यवसायी पुत्र अंकुर (30) पुत्र राकेश सहगल अपनी पत्नी पलका (28) व 8 साल का बेटा लवित,अंकुर का मित्र नमन (31) पुत्र गणेशीलाल अग्रवाल, उसकी पत्नी प्रियंका (27) व एक अन्य मित्र चिराग मित्तल व उसकी पत्नी कल्पना तथा चिराग की 2 साल की बेटी, यह सभी तीन दिन पूर्व गर्मी की छुटटियों में भोपाल,इंदौर व उज्जैन घूमने गए थे। सभी लोग बुधवार की रात करीब 10 बजे उज्जैन से शिवपुरी के लिए अपनी आरटिका कार से रवाना हुए।

यह भी पढ़ें : कॉलेज संचालकों की नैक की नई गाइड लाइन ने उड़ाई नींद,ये है नया नियम

रात दो बजे जैसे ही वह बीनागंज चौकी क्षेत्र स्थित घोड़ापछाड़ पुल के पास आए,तभी मोड़ पर अचानक से कार चला रहे चिराग को नींद का झोंका आ गया और कार अनियंत्रित होकर रोड छोड़ते हुए नीचे खाई में बने एक कच्चे मकान की छत पर जाकर फंस गई। घटना इतनी भीषण थी कि कार सवार लोगों में से नमन अग्रवाल व कल्पना मित्तल की दर्दनाक मौत हो गई,जबकि शेष लोग गंभीर रूप से घायल हो गए।

यह भी पढ़ें : breaking : ग्वालियर-भिण्ड में हुई बारिश,ओले भी गिरे, लोगों को भीषण गर्मी से मिली राहत

घायलों में से अंकुर व उसकी पत्नी पलका को दिल्ली अस्पताल, वहीं चिराग व उसकी बेटी को ग्वालियर रैफर किया गया। इधर नमन की पत्नी प्रियंका को प्राथमिक इलाज के बाद छुट्टी दे दी गई। बताया जा रहा है कि इन सभी लोगों के पास करीब एक लाख रूपए नकद व सोने-चांदी के जेवरात थे,जो बीनागंज पुलिस ने परिजनों के सुपुर्द कर दिया। बाद में दोनों मृतकों के शवों का पीएम कराकर पुलिस ने आगे की पड़ताल शुरू कर दी है।

 

 

 

 

two man death

पुलिस व स्थानीय लोगों ने किया सहयोग
घटना के दौरान जब कार रोड़ से उतरकर एक कच्चे मकान की छत में जा फंसी तो इस घटना की तेज आवास सुनकर आसपास रहने वाले ग्रामीण सहित पुलिस मौके पर पहुंच गई। कार नीचे न गिर जाए इसके लिए ग्रामीणो ने कार के नीचे बल्ली लगाई और फिर घायलों को कार में से निकाला। इसके बाद पुलिस ने घायलों को गुना अस्पताल पहुंचाया। चूंकि तीनों परिवार काफी संपन्न है इसलिए काफी संख्या में इनके परिजन व रिश्तेदार गुना अस्पताल में घायलों को हाल-चाल जानने पहुंचे।

two man death

तीन माह पूर्व हुई थी नमन की शादी
हादसे में मृत हुए नमन अग्रवाल की शादी 7 फरवरी 2018 को ही हुई थी,जबकि विवाह से पूर्व 4 दिसंबर को नमन के पिता गणेशी लाल अग्रवाल का निधन हो गया था। पिता के जाने के बाद नमन पर ही परिवार की पूरी जिम्मेदारी आ गई थी,लेकिन परिवार का यह सहारा भी छिन गया। महज छह माह के अंतराल में एक के बाद एक हुई दो मौतों से पूरे परिवार सहित समाज में शोक का माहौल का व्याप्त हो गया।

यह भी पढ़ें : breaking : भाजपा पार्षद ने उपयंत्री से की मारपीट, चुनाव पर पड़ेगा बड़ा असर

उधर चिराग की पत्नी कल्पना की मौत से भी पूरा परिवार दुखी है, क्योंकि कल्पना की एक दो साल की बेटी है,जो अब मां की मौत के बाद कैसे रहेगी?,उसके सवालों के जवाब परिजन क्या देंगे?, इन सब बातों से हर कोई दुखी है। इस पूरी घटना में हुई दो मौतों से दोनों परिवारों सहित शहर में शोक का माहौल बना हुआ है।

monu sahu
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned