scriptvaccination is much better than the first and second wave of patients | कोरोना विस्फोट के बीच राहत भरी खबर, इन दवाओं से छूमंतर हो रहा संक्रमण | Patrika News

कोरोना विस्फोट के बीच राहत भरी खबर, इन दवाओं से छूमंतर हो रहा संक्रमण


-मल्टी विटामिन से ही स्वस्थ हो रहे संक्रमित मरीज
-मास्क तो लगाने लगे लोग पर सोशल डिस्टेंसिंग में लापरवाही ठीक नहीं ....

ग्वालियर

Published: January 10, 2022 04:29:10 pm

लवीन ओव्हाल, इंदौर। कोरोना संक्रमितों का ग्राफ रोज ऊपर जा रहा हो, लेकिन अच्छी बात यह कि मरीजों को पैनिक नहीं कर रहा। दरअसल, अब संक्रमित मरीजों को सामान्य उपचार की भी जरूरत नहीं पड़ रही। मामूली मल्टी विटामिन दवाओं से संक्रमण छूमंतर हो रहा है। कोरोना वैक्सीन लगवा चुके अधिकतर लोगों को तो इन दवाओं की जरूरत न के बराबर पड़ रही है। डॉक्टरों की मानें तो कोरोना की पहली व दूसरी लहर डराने वाली थी, लेकिन इस बार तीव्र असर देखने को नहीं मिल रहा है।

coronavirus-in-india_1618484848.jpeg
vaccination

शहर में रोजाना 600 से ज्यादा संक्रमित मरीज सामने आ रहे हैं। पिछले 8 दिनों में ही करीब 3 हजार से ज्यादा मरीज मिल चुके हैं। लेकिन, राहत की बात यह है कि पिछले सात दिन में इनमें से करीब 500 मरीज ठीक भी हो चुके हैं। इन सभी को होम आइसोलेशन में रखा गया था। यानी इन्हें अस्पताल या कोविड केयर सेंटर तक जाने की जरूरत नहीं पड़ी। दूसरी लहर की तरह संक्रमण के शुरुआती लक्षणों की तरह इन्हें न तो तेज बुखार आया नही सांस से जुड़ी कोई तकलीफ हुई। हल्का बुखार, सामान्य सर्दी खांसी और गले में खराश जैसी समस्या कुछ लोगों में जरूर देखने को मिली, लेकिन अधिकतर तो पूरी तरह सामान्य ही थे। जब इन्हें इलाज देने की बारी आई तो मल्टी विटामिन और विटामिन सी जैसी दवाएं इन्हें प्राथमिकता से दी गई।

केस-1

विजयनगर निवासी 38 वर्षीय भंवरकुआं निवासी 49 वर्षीय पुरुष महिला को पहले दिन बुखार आया। की रिपोर्ट कांटेक्ट ट्रेसिंग में रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद दवाएं पॉजिटिव आई लक्षण नहीं थे, पर लेना शुरू कीं। तीसरे दिन से ही संक्रमण के चलते मल्टीविटामिन व स्थिति सामान्य हो गई। बुखार की सामान्य दवाएं लीं, जिससे रिपोर्ट दवाएं लेने की जरूरत नहीं पड़ी। जल्द ही निगेटिव आ गई।

केस-2

तिलकनगर निवासी 18 वर्षीय युवती को दोनों डोज लग चुके थे। संक्रमण का पता चलने पर घर में ही आइसोलेशन में रहकर सामान्य उपचार लिया। हालांकि इस दौरान सिर्फ हल्की खांसी की शिकायत थी, जो दो दिन में ही ठीक हो गई। इसके बाद कोरोना टेस्ट करवाया तो रिपोर्ट निगेटिव आई।

सभी ने लगवाए थे दोनों डोज

इस बार संक्रमण की सामान्य स्थिति के पीछे का बड़ा कारण कोरोना वैक्सीन है। जितने भी मरीज मिले हैं वे सामान्य उपचार से ठीक हो गए हैं। संक्रमितों में से अधिकतर लोग कोरोना वैक्सीन लगवा चुके हैं। ऐसे में उन पर कोरोना संक्रमण का घातक असर देखने को नहीं मिल रहा है। सामान्य दवाओं से ही लोग ठीक हो रहे हैं।

पहले यह था उपचार


पैरासिटामोल 650एमजी 14 दिन
नेप्रोक्सेन 250 एमजी 14 दिन
लेवरमेक्टिन 200 एमजी 14 दिन
हाइड्रोक्लोरोक्वीन 400एमजी: 5 दिन
बुडिसोनाइड 800एमसीजी 7

अब यह दे रहे उपचार

मल्टी विटामिन 1 एमजी 10 दिन
सिट्रीजिन 10 एमजी: 10 दिन (जरूरत पड़ने पर)
पेरासिटामोल 500 एमजी: 10: दिन (जरूरत पड़ने पर ) दिन
विटामिन सी 100 एमजी: 10 दिन


डॉ. सलिल भार्गव, विभागाध्यक्ष रेस्पिरेटिरी मेडिसिन विभाग का कहना है कि लोगों में संभवतः हर्ड वैक्सीन लगी होने से बड़ा अंतर आया है। यही वजह है मरीजों की रिकवरी पहली और दूसरी लहर के मुकाबले काफी बेहतर है। भर्ती मरीज भी सामान्य दवाओं से ही ठीक हो रहे हैं।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

बिहार में बड़ा हादसा: गंडक नदी में डूबा ट्रैक्टर, हादसे में 2 लोगों की मौत, 20 लापताभारत ने निर्धारित अंतरराष्ट्रीय उड़ानों पर बैन 28 फरवरी तक बढ़ायासानिया मिर्जा ने किया संन्यास का ऐलान, बोलीं-'मेरा शरीर खराब हो रहा है'UP Assembly Elections 2022 : अखिलेश यादव ने कहा सपा की सरकार बनी तो महिलाओं को देंगे 1500 रुपये प्रति महीने पेंशनMaharashtra Nagar Panchayat Election Result: 106 नगरपंचायतों के चुनावों की वोटों की गिनती जारी, कई दिग्‍गजों की प्रतिष्‍ठा दांव परकोई बना दिल का राजा तो किसी को जनता ने बताया नकारा, मंत्रियों पर हुए सर्वे में खुलासाOBC Reservation: ओबीसी राजनीतिक आरक्षण पर आज सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई, आ सकता है बड़ा फैसलाUP Election 2022: यूपी चुनाव से पहले मुलायम कुनबे में सेंध, अपर्णा यादव ने ज्वाइन की बीजेपी
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.