भारत की सबसे तेज ट्रेन गतिमान एक्सप्रेस की हालत खराब, कोच में टपक रहा है बारिश का पानी

भारत की सबसे तेज ट्रेन गतिमान एक्सप्रेस की हालत खराब, कोच में टपक रहा है बारिश का पानी

Muneshwar Kumar | Updated: 18 Aug 2019, 08:48:45 PM (IST) Gwalior, Gwalior, Madhya Pradesh, India

भारी बारिश में खुली गतिमान एक्सप्रेस की व्यवस्था की कलई।

ग्वालियर. सोशल मीडिया पर भारत की सबसे तेज ट्रेन गतिमान एक्सप्रेस का एक वीडियो बहुत तेज से वायरल हो रहा है। भारत की सबसे तेड दौड़ने वाली ट्रेन की हालात अब खराब है। भारी बारिश के बाद इस ट्रेन की छत से पानी टपक रहा है। इसे रोकने के लिए रेलवे के कर्मियों ने कोच में टब लगा दिया। सोशल मीडिया पर वायरल इस वीडियो को एक यात्री ने शूट किया है। उसके बाद रेल मंत्री पीयूष गोयल के पास भी भेजा है।

 

बताया जा रहा है कि इस वीडियो दो दिन पहले शूट किया गया है। जब यह ग्वालियर स्टेशन पर आकर खड़ी थी। वायरल वीडियो में दिख रहा है कि कैसे छत के ऊपर से पानी टपक रहा है। यह उस ट्रेन की हालत है, जिसे बड़े ही तामझाम के साथ कुछ साल पहले शुरू किया गया था। आधुनिक सुविधाओं से लैस इस ट्रेन की हालत देख लोग रेलवे पर सवाल खड़ा कर रहे हैं।

 

लगा दिया टब
छत से गिर रहे बारिश के पानी को रोकने के लिए गतिमान एक्सप्रेस में तैनात रेलवे के कर्मियों ने उसमें टब लगा दिया। टब में ही बारिश का पानी गिर रहा है। उसके बाद भी आप वीडियो में देख सकते हैं कि कैसे पानी पूरे कोच में फैल रहा है। लेकिन इससे यात्रियों को हो रही परेशानी को लेकर कोई सुध नहीं लेने वाला है। वीडियो वायरल होने के बाद नॉर्दन रेलवे के सीपीआरओ दीपक कुमार ने कहा है कि मामले की जांच कराई जाएगी।

 

वायरल वीडियो कोच नंबर सी-4 और सी-6 का है। वीडियो को देखकर तो यही लग रहा है कि गतिमान एक्सप्रेस की हालत जर्जर हो गई है। सेमी हाईस्पीड ट्रेन गतिमान एक्सप्रेस की शुरुआत 5 अप्रैल 2016 को हुई थी। लेकिन तीन सालों में ही इसकी हाल बदहाल है। ऐसे में देखना होगा कि रेलवे इस दिशा में अब क्या कदम उठाती है। क्योंकि यात्री आम ट्रेनों की तुलना में इसमें किराया भी ज्यादा चुकाते हैं। ऐसे में सवाल है कि फटेहाल व्यवस्था में सफर क्यों करेंगे। यह ट्रेन 160 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से दौड़ती है।

Show More

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned