कुशल एवं प्रशिक्षित मानव संसाधन तैयार करना विक्रांत इंस्टीट्यूट का उद्देश्य

विक्रांत समूह ने तय किया 12 साल का सफर

By: Mahesh Gupta

Published: 23 Oct 2020, 10:31 PM IST

ग्वालियर.
विक्रांत समूह ग्वालियर की नींव आज से 12 वर्ष पूर्व तकनीकी एवं व्यवसायिक शिक्षा को एक नया स्वरूप देने के लिए रखी गई थी। विक्रांत ने अपनी कुशल शैक्षणिक प्रणाली के आधार पर प्रदेश ही नहीं बल्कि देश में अपनी एक अलग पहचान बनाई है। विक्रांत समूह के संस्थापक आरएस राठौर ने बताया कि बेहतर प्लेसमेंट के कारण ही स्टूडेंट्स देश-विदेश में संस्थान और शहर का नाम रोशन कर रहे हैं। छात्रों को उच्च शिक्षा की डिग्री के साथ-साथ एनएसडीसी, पीएमकेवीवाय द्वारा संचालित रोजगारोन्मुखी कोर्स नि:शुल्क कराए जा रहे हैं। समूह में अत्याधुनिक कम्प्यूटर लैब, लैंग्वेज लैब, सभागार, डिजिटल ई-लाइब्रेरी, खेल परिसर, 100 परसेंट प्लेसमेंट सुविधा, मेधावी छात्रों को नि:शुल्क शिक्षा, परिवहन सुविधा, अनुभवी फैकल्टी, प्रयोगशालाएं अवेलेबल हैं।

होनहार छात्रों को 60 परसेंट तक चेयरमैन स्कॉलरशिप
कॉलेज को हाईटेक बनाने के साथ-साथ छात्रों को नैतिक शिक्षा भी प्रदान की जाती है, जिसमें छात्र भारतीय संस्कार से परिचित हो सकें। साथ ही लास्ट ईयर आइआइटी बॉम्बे से एमओयू शाइन किया है। इसके तहत वर्चुअल लैब, ऑनलाइन सर्टिफि केट, टेक्नोलॉजी में आर्टिफि शियल इंटेलीजेंस और मशीन लर्निंग की शिक्षा नि:शुल्क छात्रों को मिलती है। स्टूडेंट्स को इकोनॉमिक टूर, इंडस्ट्रियल विजिट, दार्शनिक भ्रमण कराए जाते हैं, जिससे छात्रों की तकनीकी प्रायोगिक क्षमता बढ़ सके। संस्थान के संचालक आरएस राठौर प्रति वर्ष 10 से 15 होनहार छात्राओं की उच्च शिक्षा नि:शुल्क कराते हैं। सामान्य वर्ग के होनहार छात्रों को 60 परसेंट तक चेयरमैन स्कॉलरशिप प्रदान की जाती है।

देश के पांच तकनीकी संस्थान में शामिल विक्रांत
देश के पांच तकनीकी संस्थान में विक्रांत कॉलेज भी शामिल है, जिसमें फ ायर टेक्नोलॉजी एण्ड सेफ्टी विषय में इंजीनियरिंग की डिग्री प्रदान की जाती है। संस्थान द्वारा छात्रों के हितार्थ समय-समय पर देश व विदेश के विभिन्न विषय विशेषज्ञों को सेमीनार, राष्ट्रीय एवं अंतरराष्ट्रीय कार्यशालाओं एवं ई-लेक्चर के लिए आमंत्रित किया जाता है। विक्रांत समूह के इलेक्ट्रिकल एवं मैकेनिकल इंजीनियरिंग विभाग के छात्रों द्वारा बनाए गए सोलर व्हीकल (ई-रिक्सा) प्रोजेक्ट को स्मार्ट सिटी कॉर्पोरेशन ग्वालियर द्वारा चयनित किया गया। इस प्रोजेक्ट को आगे बढ़ाने के लिये स्मार्ट सिटी कॉर्पोरेशन ग्वालियर एवं विक्रांत समूह के बीच एमओयू साइन हुआ।

प्रदेश में अग्रणी संस्थान
विक्रांत समूह के मैकेनिकल इंजीनियरिंग के छात्रों द्वारा बनाए गए कार्ट रेसिंग व्हीकल ने 2017 में कोल्हापुर (महाराष्ट्र), 2018 में क्वार्ड बाइक ने बिजनौर (उप्र), 2019 में ऑलटेरेन व्हीकल ने गोवा एवं 2020 में एटीव्ही ने बड़ोदरा (गुजरात) में आयोजित राष्ट्रीय कार्ट रेसिंग प्रतियोगिताओं में भाग लेकर सराहनीय एवं उम्दा प्रदर्शन कर प्रदेश के तकनीकी संस्थानों में विक्रांत समूह को अग्रणी स्थान प्राप्त कराया।

Mahesh Gupta
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned