वीआईपी ड्यूटी करता रहा सिपाही, नवआरक्षक पत्नी जेवर पैसा लेकर  लापता 

करीब एक महीने पहले सिपाही के साथ सात फेरे लेने के बाद  नवआरक्षक दुल्हन रहस्यमय तरीके से  लापता हो गई। घर से पैसा और जेवर भी गायब हैं। 

ग्वालियर। करीब एक महीने पहले सिपाही के साथ सात फेरे लेने के बाद  नवआरक्षक दुल्हन रहस्यमय तरीके से  लापता हो गई। घर से पैसा और जेवर भी गायब हैं।  सिपाही पति को शक पत्नी को गायब करने में मायके वाले शामिल हैं। उसके साथ कोई वारदात कर सकते हैं, इसलिए पुलिस से पत्नी को ढूंढने में मदद मांगी है। 

यातायात पुलिस के आरक्षक बैच नंबर 2148  सत्येन्द्र सिंह ने बताया 30 अगस्त 2016 को  ममता चौधरी से शादी हुई थी। ममता  मथुरा  में  उसके साथ स्कूल में पढ़ी है। तब से दोनों में दोस्ती थी। फिर ममता से इश्क हो गया। 2013 में वह सिपाही बन गया। दो साल बाद ममता भी पुलिस में नव आरक्षक बन गई। ममता वेच क्रमांक 1724 इन दिनों डीआरपी लाइन में नव आरक्षक  है। करीब दो साल दोनों के बीच दूरी रही, तो प्रेमिका को डर था सत्येन्द्र उसे भुला सकता है। इसलिए कुछ दिन पहले एसपी ग्वालियर से शिकायत की प्रेमी (सत्येन्द्र) उसके साथ दगा कर रहा है। अफसरों के सामने पेशी में दोनों ने तय किया शादी करेंगे। 30 अगस्त को कोर्ट से ममता से उसने शादी की। 30 सितंबर को ममता को मथुरा से ममता का भाई रामू आया था। दो दिन बहन के घर रहा। 2 अक्टूबर को वह (सतेंद्र) राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के ग्वालियर आगमन पर ड्यूटी में था तब ममता और रामू लापता हो गए। 3 अक्टूबर को ड्यूटी पूरी होने पर वह घर पहुंचा तो पत्नी घर पर नहीं मिली। अलमारी में रखा करीब 35 हजार रुपया, सोने की 4 चूडि़यां, अंगूठी, सहित करीब 3 लाख का जेवर भी गायब है । पुलिस लाइन जाकर पत्नी को तलाशा वहां से भी  गैर हाजिर थी। उसका मोबाइल भी बंद है। तब बहोड़ापुर पुलिस को बताया पत्नी जेवर और पैसा लेकर चली गई है। 
धमकी केस में फंस चुका आरक्षक
सत्येन्द्र को शक है पत्नी को गायब करने में ससुराल पक्ष की साजिश है, साला रामू प्लानिंग से ममता को मथुरा ले गया है। उसके साथ कोई वारदात हो सकती है। क्योंकि शादी से पहले ममता के परिजन ने मोबाइल पर धमकी देने का केस भी दर्ज कराया था। 

rishi jaiswal
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned