पानी पर कलह: वार्ड 53 से 47 में पानी की पाइपलाइन के लिए पहुंचे अफसर, पानी रोकने की कोशिश में पहुंची महिलाएं,

पानी पर कलह: वार्ड 53 से 47 में पानी की पाइपलाइन के लिए पहुंचे अफसर, पानी रोकने की कोशिश में पहुंची महिलाएं,

Gaurav Sen | Publish: Sep, 16 2018 07:57:55 PM (IST) Gwalior, Madhya Pradesh, India

पानी पर कलह: वार्ड 53 से 47 में पानी की पाइपलाइन के लिए पहुंचे अफसर, पानी रोकने की कोशिश में पहुंची महिलाएं,

 

ग्वालियर. पानी को लेकर वार्ड 53 और 47 के बीच तनाव बढ़ता जा रहा है। निगम परिषद की बैठक में तय हो गया था कि वार्ड 53 स्थित ब्रिगेड टंकी से र्वाड 47 के लोगों के लिए पानी की पाइप लाइन डाली जाएगी। ताकि जरूरत मंद लोगों को पानी मिल सके। इसके लिए शनिवार को अधीक्षण यंत्री पीएचई आरएलएस मौर्य, कार्यपालन यंत्री आरएन करैया, एई प्रवीण दीक्षित मौके पर पहुंंचे और पाइप लाइन डालने की साइट को पाइनल कर अफसरों से संबंधित ठेकेदार को काम शुरू करने के निर्देश दिए।

इसके बाद मौर्य वापस हो गए, वहीं क्षेत्र की कुछ महिलाएं मौके पर पहुंची और पानी को वार्ड 47 में ले जाने का विरोध करने लगी। इसकी जानकारी जब वरिष्ठ अफसरों को दी गई तो उन्होंने इंजीनियरों को निर्देश दिए कि वह किसी से भी न उलझें अगर कोई शासकीय कार्य में बाधा पैदा करे तो संबंधित के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की तैयारी रखें। क्योंकि पानी हर घर तक पहुंचाना निगम की जिम्मेदारी है। अगर किसी के मकान या जमीन में से पाइप लाइन गुजरे तो संबंधित इसके लिए आपत्ति जता सकता है। अगर कोई केवल पानी की पाइप लाइन ले जाने के कार्य का विरोध करता है तो ऐसे लोगों की वीडियोग्राफी कर कार्रवाई प्रस्तावित करें।

भाजपा के सभी पार्षद
पानी को लेकर यह कलह पिछले तीन साल से लगातार बनी हुई है। जबकि वार्ड 53 से पार्षद खुशबू गुप्ता, वार्ड 47 से गीता दंडोतिया और वार्ड 50 से वंदना अरोरा पार्षद हैं। यह तीनों महिला पार्षद भाजपा से ही हैं। इसके बावजूद पानी को लेकर मच रहा कलह अब निगम परिषद के बाद जमीनी स्तर पर उतर आया है। इसके चलते निगम अफसर पानी की पाइप लाइन के निर्णय में तेजी नहीं कर पा रहे हैं। वहीं वार्ड 50 को गोरखी टंकी से पानी देने की बात अफसरों ने कही है।

पानी पर सबका हक
पानी पर सभी का है। लेकिन टंकी के भराव की छमता और उसके पहुंच दायरे वाले क्षेत्र को तय करना निगम अफसरों का काम हैं। जिन लोगों को पानी मिल रहा है वह दूसरों को पानी मिलने से नहीं रोक सकते। हम अपना काम कानून के दायरे में रहकर पूरा करेंगे।
आरएलएस मौर्य, अधीक्षण यंत्री पीएचई नगर निगम

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned