scriptWhere there was inundation in August last year, the situation is still | पिछले वर्ष अगस्त में जहां आया था सैलाब, वहां स्थिति अब भी खतरनाक | Patrika News

पिछले वर्ष अगस्त में जहां आया था सैलाब, वहां स्थिति अब भी खतरनाक

कल 2 अगस्त है, पिछले वर्ष इसी दिन जिले के 45 गांवों में सैलाब आया था। 3 हजार से अधिक घर क्षतिग्रस्त हो गए थे और 2 करोड़ रुपए से अधिक का अन्य नुकसान...

ग्वालियर

Published: August 01, 2022 07:48:15 pm

ग्वालियर. कल 2 अगस्त है, पिछले वर्ष इसी दिन जिले के 45 गांवों में सैलाब आया था। 3 हजार से अधिक घर क्षतिग्रस्त हो गए थे और 2 करोड़ रुपए से अधिक का अन्य नुकसान हुआ था। नुकसान की भरपाई के लिए बहुत से परिवार अभी भी संघर्षरत हैं। प्राकृतिक प्रकोप से संबंधित 63 शिकायतें अभी भी लंबित हैं। ङ्क्षसध और पार्वती नदी में अचानक बढ़े पानी की वजह से हुए इस नुकसान को झेलने के बाद भी लोग जागरुक नहीं हुए हैं। खतरा होने के बाद भी भितरवार के 24 गांवों के लोग फिर से नदी किनारे जल भराव वाली जगहों पर ही बसे हैं। खास बात यह है कि बारिश की शुरुआत के साथ ही ङ्क्षसध नदी के किनारे बसे विजकपुर गांव में एक घर ढह चुका है लेकिन बाकी के लोग इस घटना से सीख लेने की बजाय रेत के अवैध उत्खनन के लालच में अपनी जगह नहीं छोड़ रहे हैं।
उल्लेखनीय है कि बीते वर्ष 2-3 अगस्त 2021 ङ्क्षसध और पार्वती नदियों में आए उफान से भितरवार, घाटीगांव और डबरा के 45 गांवों में तबाही हुई थी। जल भराव की वजह से 80 हजार से अधिक लोग अपना घर छोडऩे को विवश हुए थे। अब फिर से बारिश का मौसम में जल भराव वाले 36 गांवों में खतरा है। इनमें भितरवार के 24 और घाटीगांव एवं डबरा के 12 गांवों में ज्यादा सजग रहने की जरूरत है। अधिकारियों का कहना है कि बचाव के लिए कंट्रोल रूम स्थापित किए हैं। आपदा प्रबंधन को लेकर एनडीआरएफ और एसडीआरएफ की टीमों ने भी पूर्वाभ्यास कर लिया है, लेकिन आकस्मिक स्थिति में राहत पहुंचने से पहले क्षेत्र में रह रहे लोगों को ही स्थिति को संभालना होगा।
flood sheopur
पिछले वर्ष अगस्त में जहां आया था सैलाब, वहां स्थिति अब भी खतरनाक
इन गांवों में ज्यादा सावधानी की जरूरत
भितरवार तहसील के पनानेर, कैठोद, धोबट, खिरिया, बोढ़ी, जखावर, गधौटा, बसई, सिल्हा,पलायछा,खेरा, नजरपुर, आदमपुर, सांसन, भितरवार कस्बे की निचली बस्तियां, मछरया, पवाया, घाटखेरिया, डढ़ूमर, गोलेश्वर, सहारन, मसूदपुर, खरगोली और बांसौड़ी गांव सहित 45 गावों मेें पानी भरा था।
बड़े बांधों पर रखनी होगी नजर
-ओवर फ्लो होने पर हरसी बांध से 3413 क्यूसेक पानी छोड़े जाने की संभावना रहती है। इसके अलावा पहसारी बांध से 534 क्यूसेक, ककैटो बांध से 4400 क्यूसेक पानी छोड़ा जा सकता है। इन बांधों से पानी छोड़े जाने की सूचनाओं पर ग्रामीणों को ध्यान देना जरूरी होगा।
यह रही थी संभाग में स्थिति
-2 अगस्त 2021 को आई बाढ़ से ग्वालियर-चंबल संभाग में 6704 परिवारों के घर क्षतिग्रस्त हुए थे।
-ग्वालियर जिले में 3168 मकान क्षतिग्रस्त हुए थे, जिनमें से 1224 मकान पूरी तरह और 1944 मकान आंशिक क्षतिग्रस्त हुए थे।

सबसे ज्यादा नुकसान वाले गांव
-भितरवार विधानसभा के भितरवार कस्बे में 531 घर, सहारन क्षेत्र मेंं 250, गधौटा क्षेत्र में 416, धोबट में 54, बेला में 90, आदमपुर क्षेत्र में 193,बनियातोर में 59, पलायछा में 396, जखबार में 97, खेड़ा भितरवार में 204, बांसौड़ी में 60, लुहारी में 140, बामरोल में 107, पवाया में 93 घर गिरने की जानकारी सर्वे में सामने आई थी।

उठते रहे हैं सवाल
-बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में परिवारों को 50-50 किलो खाद्यान्न निशुल्क वितरण करने पर लगातार सवाल खड़े होते रहे।राहत राशि का लेकर अभी भी शिकायतें लंबित हैं।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

NSA अजीत डोभाल की सुरक्षा में चूक को लेकर केंद्र का बड़ा एक्शन, हटाए गए 3 कमांडोरोहिंग्या शरणार्थियों को फ्लैट देने की खबर है झूठी, गृह मंत्रालय ने कहा- केंद्र ने ऐसा कोई आदेश नहीं दियागुजरात चुनाव से पहले कांग्रेस को बड़ा झटका, वरिष्ठ नेता नरेश रावल और राजू परमार ने थामी भाजपा की कमानलालू यादव ने बताया 2024 का प्लान, बोले- तानाशाह सरकार को हटाना हमारा मकसद, सुशील मोदी को बताया झूठाBJP के नए संसदीय बोर्ड और चुनाव समिति का गठन, गडकरी व शिवराज की छुट्टी, देखिए कौन-कौन नेता शामिलMaharashtra Monsoon Session: व्हिप को लेकर आमने-सामने हुए शिंदे गुट और ठाकरे खेमा, महाराष्ट्र विधानसभा में विपक्ष का जमकर हंगामा'अपने पहले मैच में 4 रन बनाकर आउट हो गए थे सचिन तेंदुलकर' 35 साल बाद उसी मैदान पर पहुंच भावुक हुए मास्टर ब्लास्टरIPL फ्रेंचाइजी टीम कोलकाता नाइट राइडर्स को चंद्रकांत पंडित के रूप में मिला नया हेड कोच, ब्रैंडन मैक्कुलम की लेंगे जगह
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.