हत्या के बाद किसने दी पनाह, गुंडे परमाल से उगलवाया जाएगा राज

gnप्रॉपर्टी कारोबारी पंकज सिकरवार हत्याकांड

By: prashant sharma

Updated: 03 Dec 2019, 01:36 AM IST

ग्वालियर. प्रॉपर्टी कारोबारी पंकज सिकरवार की हत्या के बाद मास्टरमाइंड परमाल तोमर को साढ़े चार महीने तक कौन लोग पनाह देते रहे, उसके मददगार पुलिस के रडार पर हैं। उधर गैंगस्टर परमाल से पनाहगारों के बारे में पूछताछ नहीं हुई है। पुलिस की दलील है बदमाश हिरासत में हैं। उसे गिरफ्तार कर पंकज हत्याकांड को सिलसिलेवार उगलवाया जएगा। पंकज के परिजन का कहना है कि सिर्फ गुंडे परमाल के पकड़े जाने से हत्याकांड का पूरा खुलासा नहीं हुआ है। पंकज की हत्या का असली साजिशकर्ता तो पर्दे के पीछे है। उसका चेहरा सामने आ चाहिए।
रविवार तडक़े घुटने में गोली मारकर पकड़ा गया बदमाश परमाल जेएएच के कैदी वार्ड में पहरे में इलाज करा रहा है। उसकी चौकसी में आठ पुलिसकर्मी लगाए गए हैं। चिकित्सक उसे फिट बताएंगे तब पुलिस उसे गिरफ्तार करेगी। हालांकि चिकित्सक एनकाउंटर के बाद ही बता चुके हैं जख्म ज्यादा गहरा नहीं है। जल्द ही उसे पुलिस के हवाले किया जाएगा। तब उससे बताना पड़ेगा कि पंकज की हत्या के बाद साढ़े चार महीने तक उसे किन लोगों ने खाना खिलाया, रहने की जगह मुहैया कराई, घूमने के लिए गाड़ी और डीजल का इंतजाम किया।
फरार आरोपियों की घेराबंदी : प्रॉपर्टी कारोबारी पंकज की हत्या में शामिल शूटर आशू, सोनू तोमर, रमन चौहान, संजय तोमर, सहित रामू तोमर अभी पकड़ से बाहर हैं। गुंडा परमाल उनके बारे में कुछ नहीं बता रहा है। लेकिन इनमें कुछ बदमाशों को पनाह देने वालों का सुराग मिला है। वहां पुलिस की टीम भेजी गई हैं।

कारोबारी को टारगेट कर उगाही का प्लान
डीएसपी रत्नेश तोमर के मुताबिक फरारी में गुंडा परमाल टैरर टैक्स वसूली के लिए शहर के कुछ कारोबारियों को टागरेट कर चुका था। एक कारोबारी को उसके गुर्गे पैसा वसूली के लिए धमकी देने वाले भी थे। उनका प्लान था कि अगर कारोबारी रकम देने से इंकार करेगा तो उस पर अटैक किया जाएगा। दहशत फैलाकर गुंडे की टीम पैसे वालों से उगाही करने वाली थी।
इन बिंदुओं पर होगी पूछताछ
पंकज सिकरवार को मारने के पीछे किसका प्लान। कारोबार के अलावा पंकज से दुश्मनी की क्या वजह। मास्टरमाइंड परमाल से पहले पकड़े गए गैंग मेंबर्स खुलासा कर चुके हैं पंकज की हत्या की सुपारी यूपी के शूटर सोनू गौतम को भी दी गई थी। पंकज की मौत का ठेका देने वाला कौन।
दुश्मनी के अलावा मौत से कारोबार में किन लोगों को फायदा, हत्या के पहले और बाद में आरोपी किन लोगों के संपर्क में थे।

prashant sharma Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned