निजी वाहनों का क्यों नहीं कर सकते व्यावसायिक उपयोग

जल्द ही प्राइवेट व टैक्सी वाहन चालक जो व्यावसायिक उपयोग कर रहे वाहन चालकों के खिलाफ सख्त कार्रवाई शुरु होगी। इसमें सबसे ज्यादा वाहन स्कूलों में लगे हुए हैं। इस कार्रवाई के चलते ऐसे वाहनों को बाहर का रास्ता दिखाया जाएगा।

ग्वालियर. शहर में जल्द ही प्राइवेट व टैक्सी वाहन चालक जो व्यावसायिक उपयोग कर रहे वाहन चालकों के खिलाफ सख्त कार्रवाई शुरु होगी। इसमें सबसे ज्यादा वाहन स्कूलों में लगे हुए हैं। इस कार्रवाई के चलते ऐसे वाहनों को बाहर का रास्ता दिखाया जाएगा। इस संबंध में एआरटीओ रिंकू शर्मा ने पत्रिका को बताया कि ऐसे वाहनों की शिकायतों के बाद अब कार्रवाई में तेजी लाई जाएगी। जिससे सभी वाहन अपने रिेकार्ड के आधार पर दर्ज हो सकेंगे।

ट्रैकिंग डिवाइस अभी तक नहीं लग सके?

शहर में चल रहे टैंपों में टै्रकिंग डिवाइस को लेकर काफी समय से अभियान चलाया जा रहा है। इसके तहत अभी तक 1134 वाहनों में टै्रकिंग डिवाइस लग चुके हैं। शहर में 1245 वाहन हैं। अब जल्द ही बाकी वाहनों में भी टै्रकिंग डिवाइस लगाए जाएंगे।

प्राइवेट बसें बिना टैक्स के दौड़ रही है?

शहरी क्षेत्र के साथ-साथ बाहरी क्षेत्रों में कुछ प्राइवेट बसें बिना टैक्स के सडक़ों पर दौड़ रही हैं। इसके लिए समय-समय पर अभियान चलाया जाता है। अभी कुछ दिनों पहले ही आठ बसों को बिना टैक्स भरे पाए जाने पर कार्रवाई की है। जल्द ही अन्य वाहनों पर भी सख्त कार्रवाई की जाएगी।

टेंपो चालक निर्धारित रुट पर नहीं चलते है?

शहर में टेंपो चालकों के लिए रुट निर्धारित किया गया है, लेकिन इसमें से अधिकांश टेंपो अपने निर्धारित रुट पर नहीं चलते हैं। जिसके कारण आए दिन लोगों को भी समस्या का सामना करना पड़ता है। लेकिन अगर ऐसी कहीं से भी शिकायतें आती है तो उस पर कार्रवाई की जाती है। ऐसे लोगों पर भी सख्त कार्रवाई की जाएगी।

चैकिंग अभियान चलने के बाद बंद क्यों हो जाता है?

हमारे पास चैकिंग अभियान के साथ-साथ कई सारे विभाग के कार्य भी होते हंै। इसलिए समय-समय पर चैकिंग अभियान चलाया जाता है। वहीं मार्च को देखते हुए इस समय राजस्व वसूली पर भी फोकस है।

Show More
राजेश श्रीवास्तव Desk
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned