शताब्दी एक्सप्रेस में मारा पत्थर, कांच तोडक़र सीट पर बैठी महिला को लगा, जानिए ऐसा करने पर क्या सजा है

सुबह करीब 9 बजे ट्रेन बानमोर से निकली तभी किसी ने पत्थर फेंक दिया, जो खिडक़ी कांच तोड़ते हुए राखी को लगा, जिससे उन्हें चोट लग गई।

By: Rahul rai

Published: 07 Jul 2019, 02:02 AM IST

ग्वालियर। शताब्दी एक्सप्रेस में शनिवार को सुबह बानमोर स्टेशन के पास अज्ञात युवकों द्वारा पत्थर फेंककर मारने से ट्रेन की खिडक़ी का कांच टूट गया और सी-वन कोच में बैठी युवती घायल हो गई। इस घटना से कोच में बैठे अन्य यात्री भी परेशान हो गए। आरपीएफ मामले की जांच कर रही है।

 

आरपीएफ से मिली जानकारी के अनुसार ग्वालियर निवासी राखी कुमारी (24) सुबह शताब्दी एक्सप्रेस से दिल्ली से ग्वालियर आ रही थीं, वह कोच सी-वन की सीट 43 पर बैठी थीं। सुबह करीब 9 बजे ट्रेन बानमोर से निकली तभी किसी ने पत्थर फेंक दिया, जो खिडक़ी कांच तोड़ते हुए राखी को लगा, जिससे उन्हें चोट लग गई। जानकारी कंट्रोल के माध्यम से ग्वालियर स्टेशन को दी गई, जिस पर डिप्टी एसएस और आरपीएफ के जवानों ने पहुंचकर चोटिल युवती से उन्हें अस्पताल ले जाने को कहा, लेकिन वह स्वयं इलाज कराने की बात कहकर ट्रेन से उतर गईं।

 

पहले भी हुए ऐसे हादसे
ट्रेनों में पथराव की घटनाएं कई बार सामने आई हैं। नौ महीने में तीन बड़े मामले हुए हैं।
1- 12 मई को शताब्दी एक्सप्रेस में रायरू-बानमोर के पास मानसिक विक्षिप्त ने पत्थर मार दिया था।
2- 20 मार्च को गतिमान एक्सप्रेस में बिरला नगर स्टेशन के पास अज्ञात व्यक्ति ने पथराव किया। इस पर मामला दर्ज किया गया, जिसकी अभी तक जांच चल रही है।
3- 17 नवंबर-2018 को हीराकुंड एक्सप्रेस के एसी कोच पर डबरा- कोटरा के बीच तीन बच्चों ने पथराव कर दिया था। तीनों बच्चों पर मामला दर्ज किया गया। यह केस बाल न्यायालय में पहुंच गया।

 

पांच वर्ष तक की सजा हो सकती है
रेलवे एक्ट के तहत धारा 153 और 154 के तहत यात्रियों की सुरक्षा को खतरा होने का मामला दर्ज होने पर आरोपी को जेल भेज दिया जाता है। उसमें पांच वर्ष तक की सजा का प्रावधान है।

 

जांच की जा रही है
शताब्दी एक्सप्रेस में सी-वन कोच की खिडक़ी का कांच टूटने से एक महिला यात्री चोटिल हो गई है। यह कांच पत्थर से या पास में निकल रही मंगला एक्सप्रेस के किसी कोच की पट्टी टकराने से हुआ है, इसकी जांच की जा रही है।
आनंद पांडेय, टीआई आरपीएफ

Rahul rai
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned