महिलाएं अपने आपको कमजोर न समझें, अंदर छिपी ताकत को पहचानें

अभाविप का वीरांगना स्मृति सम्मान समारोह

By: Mahesh Gupta

Updated: 22 Nov 2020, 12:52 PM IST

ग्वालियर.
अभाविप का वीरांगना स्मृति सम्मान समारोह

महिलाएं आज किसी भी क्षेत्र में पीछे नहीं हैं। प्रथ्वी से लेकर आकाश तक हर जगह उन्होंने अपना परचम फहराया है। कोई भी महिला अपने आपको कमजोर न समझे। उसमें भी वही इच्छाशक्ति है, जो औरो में है। जरूरत है उसे अपने आपको अंदर से पहचानने की। यह बात मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद की राष्ट्रीय महामंत्री निधि त्रिपाठी ने कही। वह अभाविप की ओर से आयोजित वीरांगना स्मृति सम्मान समारोह में शामिल हुईं। यह कार्यक्रम रानी लक्ष्मीबाई की 192वीं जयंती पर हुआ, जिसमें विभिन्न क्षेत्रों में उल्लेखनीय कार्य करने वाली 192 महिलाओं को सम्मानित किया गया। विशिष्ट अतिथि के रूप में समाजसेवी प्रमिला वाजपेयी, प्रदेश मंत्री नीलेश सोलंकी, प्रांत सह मंत्री अनमोल व्यास उपस्थित रहे।

एबीवीपी लगाएगा दामोदर की मूर्ति
कार्यक्रम के पूर्व निधि त्रिपाठी ने महारानी लक्ष्मीबाई समाधि स्थल पर श्रद्धासुमन अर्पित किए। साथ ही कहा कि रानी लक्ष्मीबाई की मूर्ति पर दामोदर राव नहीं है। इस कार्य को एबीवीपी पूरा कराएगा। कृषि महाविद्यालय में आयोजित कार्यक्रम में उन्होंने उपस्थित लोगों को रानी लक्ष्मीबाई के जीवन से परिचित कराया। साथ ही महिलाओं को वीरांगना के जैसी इच्छाशक्ति अपने अंदर जगाने की प्रेरणा दी।

192 महिलाओं का किया सम्मान
कार्यक्रम में एसआइ गीता भदौरिया, टीआइ प्रीती भार्गव, समाजसेवी नम्रता सक्सेना, नेशनल योगा ट्रेनर प्राची जैन, निहारिका पाराशर, अनीसा सिकरवार, सौम्या अग्रवाल, आकांक्षा सोनी, गुंजन व्यास, ईसू व्यास, हर्षा शर्मा सहित 192 महिलाओं को सम्मानित किया गया।

Mahesh Gupta
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned