Productivity प्रोडक्टिविटी बढ़ाने के लिए स्टार्टअप्स का "Work Away Camp" 

स्टार्टअप्स, जो अपने प्रोडक्ट को लेकर जितना इनोवेटिव हैं, उससे कहीं ज्यादा प्रोडक्टिविटी को लेकर। स्टार्टअप का वर्किंग कल्चर अकसर दायरे को तोड़ता नजर आता है, वर्क फ्रॉम होम इन्हीं कंपनीज का कल्चर है। 

ग्वालियर।  स्टार्टअप्स, जो अपने प्रोडक्ट को लेकर जितना इनोवेटिव हैं, उससे कहीं ज्यादा प्रोडक्टिविटी को लेकर। स्टार्टअप का वर्किंग कल्चर अकसर दायरे को तोड़ता नजर आता है, वर्क फ्रॉम होम इन्हीं कंपनीज का कल्चर है। अब यह कल्चर इससे भी आगे बढ़ता नजर आ रहा है। नए तरीके की ये कंपनीज अब अपने एम्प्लॉइज के लिए 'वर्कअवे कैम्पÓ प्लान करने लगी हैं।

स्टार्टअप इकोसिस्टम में तेजी से ग्रोथ कर रहे ग्वािलयर में अब एेसी ट्रिप प्लान की जा रही हैं, जिसमें एम्प्लॉई टूरिज्म डेस्टिनेशन पर न सिर्फ एंजॉय कर सकें, बल्कि वहां से कंपनी के लिए काम भी कर सकें। 'वर्कअवे कैम्प्सÓ को लेकर शहर के स्टार्टअप्स में काम करने वाले यंगस्टर्स उत्साहित नजर आ रहे हैं। अब कई कंपनीज ये कैंप प्लान कर रही हैं।

स्टार्टअप्स का कहना है कि समर में वर्कअवे कैम्प्स से एम्प्लॉय अपनी फैमिली के साथ घूमने भी जा पा रहे हैं और इससे कंपनी का वर्क भी सफर नहीं कर रहा है। इस कैम्प का प्रोडक्टिविटी पर पॉजिटिव असर देखने को मिल रहा है। हर कंपनी की कोशिश रहती है कि उनका प्रोडक्शन लगातार बढ़ता रहे। इसके लिए कंपनियां एम्प्लॉयज को मोटिवेट करने और उन्हें स्ट्रेस फ्री माहौल देने के लिए कई तरीके अपनाती है। ऐसा ही एक तरीका है वर्कअवे कैंप।

हमेशा याद रहेगी ये ट्रिप
सिटी सेंटर में रहने वाले अनुराग बंसल ने बताया कि उन्होंने बार्सिलोना में वर्कअवे कैंप प्लान किया था। इस दौरान वहां न सिर्फ काम किया बल्कि ट्रिप को एंजॉय भी किया। ट्रिप के दौरान स्टार्टअप्स के लिए कई जरूरी बातें भी सीखने को मिली। यह ट्रिप हमेशा याद रहेगी। यदि ये ट्रिप सिर्फ एंजॉयमेंट के लिए प्लान करते तो शायद भूल जाते पर वहां बीच के किनारे काम करना और स्काइप्स के थू्र मीटिंग याद रहेगा।

जनरेट होते हैं नए आइडियाज
तेजस जैन ने बताया कि हम वुमन आउटफिट्स डिजाइन और सेल करते हैं। इसलिए हमें नए आइडियाज की जरूरत होती है। ऐसे में हम टीम के अलग-अलग मेंबर्स को टूरिस्ट स्पॉट पर भेजते रहते हैं।
Image may contain: 2 people, people sitting
वहां आने वाले अलग-अलग कल्चर और अलग-अलग फैशन ट्रेंड को देखकर कई नए आइडियाज जनरेट होते हैं। इसके लिए हम इंडिया के टूरिस्ट स्पॉट के अलावा फॉरेन डेस्टिनेशन भी विजिट करते हैं, जहां एंजॉय करने के साथ काम भी होता है वो भी ज्यादा प्रोडक्टिविटी के साथ।
Show More
Gaurav Sen
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned