scriptYou have a read, feedback and search attitude | आप पढ़ें, प्रतिप्रश्न करें और खोज का नजरिया रखें | Patrika News

आप पढ़ें, प्रतिप्रश्न करें और खोज का नजरिया रखें

आइटीएम ग्लोबल स्कूल में एनुअल अवॉर्ड सेरेमनी

ग्वालियर

Published: December 24, 2021 12:05:47 am

ग्वालियर.
आइटीएम ग्लोबल स्कूल में एनुअल अवॉर्ड सेरेमनी

पुरस्कार मिलना पहली सीढ़ी है। अभी तो आप बच्चों को भविष्य में देश के निर्माण और उसे बेहतर बनाने में योगदान देना है। 140 करोड़ की आबादी वाला देश आपको संभालना है। पढ़े लेकिन प्रतिप्रश्न भी करें। खोज की दृष्टि बढ़ाएं। कुछ ऐसे ही प्रेरक वाक्यों से आइटीएम ग्लोबल स्कूल के स्टूडेंट्स को सम्बोधित कर रहे थे वरिष्ठ पत्रकार व लेखक राकेश अचल। आइटीएम ग्लोबल स्कूल में एनुअल अवॉर्ड सेरेमेनी और मैग्जीन ‘रेवरीज’ का विमोचन किया गया। सेरेमनी में पिछले एकेडमिक ईयर में बेहतर प्रदर्शन करने वाले स्टूडेंट्स को सम्मानित किया गया। स्कूल की चेयरपर्सन रूचि सिंह चौहान ने कहा कि ज्ञान, विचार, सफलता, बेहतर अनुभव व सीख के लिए किताबें पढऩा बहुत जरूरी हैं। प्रिंसिपल डॉ सुजाष भट्टाचार्य ने कहा कि अचीवमेंट और सक्सेस का सेलिब्रेशन है। ऑनलाइन कार्यक्रम में स्टूडेंट्स को 45 एकेडमिक अवॉर्ड, 12 जनरल अवॉर्ड और 2 फ्यूचर अवॉर्ड दिए गए।
आप पढ़ें, प्रतिप्रश्न करें और खोज का नजरिया रखें
आप पढ़ें, प्रतिप्रश्न करें और खोज का नजरिया रखें
एनुअल मैग्जीन ’रेवरीज 2020-21’ का हुआ विमोचन
राकेश अचल ने कहा कि हम इस पेंडेमिक के दौर में किताबों से छूट गए हैं। खासकर स्टूडेंट्स जबसे ऑनलाइन मोड में आए हैं, तबसे वे किताबों को टच और फील भूल गए हैं। हमें किताबें पढऩे और लिखने की जरूरत है। गांधीजी ने हर चीज लिखी, वे क्या सीखे, क्या बदलाव किए और कैसा जीवन रहा। वो चाहते थे लोग उनके अनुभवों से सीखें। इस समय जब सब ऑनलाइन है तब आपको बुक्स से ज्यादा से ज्यादा कनेक्ट होने की जरूरत है। फैक्ट्स भी ऑनलाइन ढूंढने की बजाय बुक्स में ढूंढे। स्टूडेंट्स किताबें पढ़ते रहें, आप बेहतर ब्रेन कनेक्टिविटी महसूस करेंगे।
किताबें पढऩे की आदत डालें
स्कूल की चेयरपर्सन रूचि सिंह चौहान ने कहा कि आप लोग बेहतर कर रहे हैं और विश्वास है जब आप स्कूल एजुकेशन पूरी कर लेंगे तो एक बेहतर युवा के रूप में समाज में होंगे। इतने विस्तृत करीकुलम में विभिन्न अर्पाच्र्युनिटी होती हैं, जिसे सिंसियर स्टूडेंट्स ही पहचान पाते हैं। खासकर किताबें जरूर पढ़े और इतिहास से सम्बंधित किताबें भी पढऩे की आदत डालें। युवाओं में इतिहास की दृष्टि होना बहुत जरूरी है कि कल क्या हुआ, आज क्या करना है और कल क्या करना होगा।
स्टूडेंट्स ने दी परफॉर्मेंस
ऑनलाइन सेरेमनी में स्टूडेंट्स ने कल्चरल परफॉर्मेंस दी। खासकर स्टूडेंट्स का क्लासिक डांस और वेस्टर्न बैले का फ्यूजन डांस बहुत आकर्षक रहा। कुछ स्टूडेंट्स ने इंस्ट्रमेंटल परफॉर्मेंस भी दी। इसके बाद सभी क्लासेस में बेस्ट एकेडमिक परफॉर्मेंस देने वाले स्टूडेंट्स को सम्मानित किया गया। इसके बाद स्कूल की मैग्जीन ‘रेवरीज’ का विमोचन किया गया।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Republic Day 2022: परम विशिष्ट सेवा मेडल के बाद नीरज चोपड़ा को पद्मश्री, देवेंद्र झाझरिया को पद्म भूषणRepublic Day 2022: 939 वीरों को मिलेंगे गैलेंट्री अवॉर्ड, सबसे ज्यादा मेडल जम्मू-कश्मीर पुलिस कोस्वास्थ्य मंत्री ने कोरोना हालातों पर राज्यों के साथ की बैठक, बोले- समय पर भेजें जांच और वैक्सीनेशन डाटाBudget 2022: कोरोना काल में दूसरी बार बजट पेश करेंगी निर्मला सीतारमण, जानिए तारीख और समयमुख्यमंत्री नितीश कुमार ने छोड़ा BJP का साथ, UP चुनावों में घोषित कर दिये 20 प्रत्याशीAloe Vera Juice: खाली पेट एलोवेरा जूस पीने से मिलते हैं गजब के फायदेगणतंत्र दिवस और स्वतंत्रता दिवस पर झंडा फहराने में क्या है अंतर, जानिए इसके बारे मेंRepublic Day 2022: गणतंत्र दिवस परेड में हरियाणा की झांकी का हिस्सा रहेंगे, स्वर्ण पदक विजेता नीरज चोपड़ा
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.