इस युवक ने सरकारी नौकरी पाने का ढूंढा ऐसा तरीका, जिसने भी सुना रह गया हैरान

इस युवक ने सरकारी नौकरी पाने का ढूंढा ऐसा तरीका, जिसने भी सुना रह गया हैरान

monu sahu | Updated: 02 Aug 2019, 07:15:08 PM (IST) Gwalior, Gwalior, Madhya Pradesh, India

दो साल पहले पुलिस विभाग की कंम्प्यूटर शाखा में सिपाही के पद के लिए किया था आवेदन

ग्वालियर। शहर में एक ऐसा मामला सामने आया है जिसे सुनने के बाद हर कोई हैरान है। दरअसल एक युवक ने सरकारी नौकरी पाने के लिए एक ऐसा तरीका अपनाया जिसे सुनने के बाद हर कोई दंग रह गया। सिपाही बनने के लिए भर्ती परीक्षा में शामिल परीक्षार्थी ने अपनी जाति ही बदल दी,उसने अनुसूचित जाति का फर्जी प्रमाण पत्र बनवा कर फायदा उठाने की कोशिश की, लेकिन साजिश नाकाम रही। उसके प्रमाण पत्र पर शक ठहर गया। उसकी पड़ताल की तो फर्जीवाड़ा पकड़ा। फरेब करने पर करीब दो साल बाद कंपू पुलिस ने एफआईआर दर्ज की है।


इसे भी पढ़ें : बंगाल की खाड़ी में बन रहा है सिस्टम, बारिश को लेकर मौसम वैज्ञानिक ने कही यह बड़ी बात

पुलिस ने बताया टीकमगढ़ निवासी संदीप पुत्र हरनारायण रैकवार ने दो साल पहले पुलिस विभाग की कंम्प्यूटर शाखा में सिपाही के पद के लिए आवेदन किया था। इसमें आरक्षण का फायदा उठाने के लिए संदीप ने जाति का फर्जी प्रमाण पत्र बनवा लिया। इसके आधार पर उसने आवेदन किया। लिखित परीक्षा पास की, इसमें चयन होने पर 25 दिसंबर 2017 को उसे फिजीकल टेस्ट के लिए एसएएफ की 14 बटालियन पर बुलाया गया। यहां संदीप को मूल प्रमाण पत्रों के साथ आना था।


इसे भी पढ़ें : 125 साल बाद हरियाली अमावस्या पर बना ऐसा संयोग, इन राशियों की चमकेगी किस्मत

उसे उम्मीद नहीं थी कि जो प्रमाण पत्र उसने बनवाए हैं उनका फरेब पकड़ा जाएगा। इसलिए संदीप बेधडक़ प्रमाण लेकर शारीरिक परीक्षण परीक्षा में शामिल हो गया। यहां टेबिल नंबर 10 पर नेमाचंद आर्य ने उसके दस्तावेज चेक किए। शारीरिक परीक्षा देकर संदीप चला गया। उसने जो दस्तावेज प्रस्तुत किए थे उनकी जांच की गई तो उसमें जाति प्रमाण पत्र फर्जी निकला।


इसे भी पढ़ें : देश में यहां लगती है महादेव की अदालत, जहां जज बन भोलेनाथ सुनते हैं मामले और सुनाते हैं अपना फैसला

 

संदीप टीकमगढ़ का रहने वाला था तो वहां पुलिस को मामले की जांच के लिए कहा गया। लेकिन पता चला कि संदीप ने जाति और निवास प्रमाण पत्र ग्वालियर से बनवाए थे तो अजाक पुलिस को पड़ताल के लिए केस सौंपा गया। उसमें संदीप का फर्जीवाड़ा पकड़े जाने पर कंपू पुलिस ने धोखाधड़ी और फर्जीवाड़े का केस दर्ज किया है।


इसे भी पढ़ें : रामेश्वरम मंदिर की तर्ज पर बना है यह महादेव का मंदिर, दूर-दूर से आते हैं भक्त

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned