ट्रेन में फेरी लगाकर समोसा बेच रहा था तभी चलती ट्रेन से फिसल गया पैर शरीर को हो गया अलग, कमजोर दिल वाले न देखें फोटो

जैसे ही ट्रेन बदरवास रेलवे स्टेशन पर आई तो बल्लू लपक कर ट्रेन में चढ़़ गया। जैसे ही बल्लू ट्रेन चढ़ा तो ट्रेन चल दी और युवक ट्रेन से नीचे जा गिरा।

By: shyamendra parihar

Published: 11 Sep 2017, 01:05 PM IST

ग्वालियर/शिवपुरी। बदरवास का रहने वाला वीरेन्द्र उर्फ बल्लू ट्रेन में राहगीरों को समोसे बेचता था। हमेशा की तरह वो ट्रेन का इंतजार कर रहा था। जैसे ही ट्रेन बदरवास रेलवे स्टेशन पर आई तो बल्लू लपक कर ट्रेन में चढ़़ गया। जैसे ही बल्लू ट्रेन चढ़ा तो ट्रेन चल दी और युवक ट्रेन से नीचे जा गिरा।

 

MUST READ : नशेड़ी बाप ने नाबालिग बेटी के साथ की हैवानियत की हदें पार, बेटी चिल्लाई तो पीटा और करता रहा घिनौनी हरकत

 

बीना-ग्वालियर पैसेंजर रविवार की शाम को जब बदरवास स्टेशन से रवाना हुई, उसी समय चलती ट्रेन में चढऩे का प्रयास कर रहे समोसा बेचने वाले युवक का पैर स्लिप हो गया और ट्रेन के नीचे आ जाने से एक पैर कट गया। खून से लथपथ युवक आधा घंटे तक प्लेटफार्म पर तड़पता रहा, तब कहीं जाकर डायल-100 मौके पर पहुंची। गंभीर हालत होने पर युवक को बदरवास *****्पताल से शिवपुरी रैफर कर दिया गया।

जानकारी के अनुसार रविवार की शाम साढ़े पांच बजे बीना-ग्वालियर पैसेंजर बदरवास स्टेशन पर आकर रुकी। स्टेशन पर समोसा बेचने वाला वीरेंद्र उर्फ बल्लू (18) पुत्र नंदनलाल आदिवासी, एक डिब्बे में चढ़कर यात्रियों को समोसा बेचकर जब नीचे उतरकर दूसरे डिब्बे की तरफ बढ़ा। इसी बीच ट्रेन चल दी और वो एक हाथ मेंं समोसे की टोकरी लेकर दूसरे हाथ से जब डिब्बे का डंडा पकड़ा तो उसका पैर स्लिप हो गया।

 

MUST READ :   खंभे पर चढ़े युवक को लगा करंट, 5 घंटों तक तार पर लटकती रही उसकी लाश, मौत का ये मंजर दिल दहला देगा

 जिसके चलते वो प्लेटफार्म व ट्रेन के बीच में आ गया। इसी बीच किसी यात्री ने चैन पुलकर  ट्रेन को रुकवा लिया। जब वीरेंद्र को बाहर निकाला तो उसका एक पैर कटकर पेंट में ही लटका हुआ था। उसके शरीर से लगातार खून रिस रहा था। तत्काल डायल-100 को सूचना दी गई तथा ट्रेन भी लगभग 15 मिनिट तक रुकी रही, लेकिन डायल-100 नहीं पहुंची। तब तक युवक की हालत लगातार बिगड़ती रही। लगभग आधा घंटे बाद डायल-100 ने घायल को उठाकर बदरवास *****्पताल पहुंचाया, जहां से उसे शिवपुरी रैफर कर दिया।

shyamendra parihar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned