"बुंदेलखंड से चाहे सीएम लड़े या फिर मुलायम दोनों होंगे पराजित"

Gangacharan

Abhishek Gupta | Publish: Dec, 22 2016 11:51:00 PM (IST) Lucknow, Uttar Pradesh, India

हमीरपुर राठ.  अनू पूरक बजट में प्रदेश सरकार ने बुन्देलखण्ड की पूरी तरह से उपेक्षा की है। ऐसे उपेक्षा करने वालो को बुन्देलखण्ड की जनता माफ नहीं करेगी। सपा बुन्देलखण्ड राज्य निर्माण की सबसे बड़ी विरोधी है। यहां से चाहे मुख्यमंत्री अखिलेश यादव लड़े या मुलायम सिंह यादव, यहां की जनता उन्हें पराजित करके भेजेगी। यह बात हमीरपुर महोबा के पूर्व सासंद व भाजपा नेता गंगाचरण राजपूत ने अपने आवास में प्रेसवार्ता के दौरान कहीं। उन्होंने आगे कहा कि सपा द्वारा अवैध खनन कराया गया है। साथ ही यहां के लिये विकास की बड़ी योजनायें नहीं दी। आज अखिलेश बुन्देलखण्ड से चुनाव लड़ने की बात करते हैं। तो यहाँ की जनता पराजित करके उन्हें भेजेगी क्योंकि इन्होंने विकास के कार्य सैफाई, इटावा, मैनपुरी, आदि में कराये हैं। यहां की जनता के साथ दोहरी नीति अपनायी है। आज पुलिस संरक्षण में शराब जुआ के अड्डे चल रहे हैं तथा अवैध खनन कराया जा रहा है।

गंगाचरण राजपूत ने कहा कि कोई वी0आई0पी0 जब चुनाव लड़ता है तो उसके दर्शन नहीं होते। मैनें चुनाव आयोग को लिखकर भेजा कि यहां का मतदाता चुनाव में 50 फीसदी ही वोट करेगा क्योंकि वह अपने खेतों की रखवाली करेगा या वोट देने आयेगा क्योंकि प्रदेश सरकार ने अन्ना पशुओं के बारे में कुछ नहीं सोचा और किसान आज अपने खेतों की रखवाली दिन रात कर रहा है।

राजपूत ने आगे कहा कि नोट बंदी के फैसलें से आम जनता को कोई परेशानी नहीं है। केवल इस नोट बंदी से काला धन रखने वाले ही चिल्ला रहे हैं। जो करेंसी समस्या है वह चंद दिनों की है। यह समस्या शीघ्र ही दूर हो जायेगी। प्रदेश में भाजपा की सरकार बनेगी और यहां गुण्डा माफियों की सरकार का खात्मा होगा। जब कोई आज काम करता है तो उसे कुछ दिन तो कष्ट सहना ही पड़ता है। चंद दिनों के कष्ट के बाद लोगों को अच्छे दिनों का एहसास होगा।
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned