मुंबई से आए पति-पत्नी के चेकअप के बाद डॉक्टर ने दिए कोरोना के संकेत, नगर में लोग भयभीत

उत्तर प्रदेश के हमीरपुर जनपद के कस्बा राठ का है, जो हमीरपुर जनपद का सबसे बड़ा और ज्यादा जनसंख्या वाला कस्बा है. यहां पर कोरोना के दो संदिग्ध मरीज मिलने से हड़कंप मचा हुआ है।

हमीरपुर. बुधवार शाम को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र राठ में बुखार और इंफेक्शन की शिकायत होने पर मुंबई से लौटे एक दंपत्ति ने अपनी जांच करवाई। डॉक्टरों ने प्राथमिक जाँच में कोरोना के लक्षण का शक जताया, लेकिन अस्पताल के आईसोलन वार्ड में भर्ती करने की बजाए घर में 7 दिन के लिए क्वारेंटाइन रहने के लिए कह दिया। दोनों ही मरीज महाराष्ट्र के रहने वाले हैं। और एक सुनार की दुकान पर सोने चांदी की कारीगरी का काम करते हैं। वह एक हफ्ते पहले ही महाराष्ट्र से लौटे हैं। मरीजों का न ही कोई सेम्पल टेस्ट लिया गया है और न ही जांच के लिए भेजा गया है। मरीजों को उनके घर में ही सात दिन के लिए क्वारेंटाइन करवा दिया गया है, लेकिन उनके ऊपर न ही स्वास्थ्य विभाग और न ही प्रशासन की कोई निगरानी है। जिससे कस्बे के लोग भयभीत हैं। उनका कहना है कि इनको तुरंत अस्पताल में रिफर कर इनका ब्लट टेस्ट करवाना चाहिए और जो भी लोग इनके सपंर्क में आये हैं, उनकी भी जानकारी करवानी चाहिए। फिलहाल प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही सामने आ रही है, जिससे जनपद में स्थिति ज्यादा गंभीर होती दिख रही है।

coronavirus
Abhishek Gupta Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned