बेटे की मौत के सदमे में मां की भी मौत

Ashish Pandey | Publish: Jan, 14 2018 06:23:03 PM (IST) Lucknow, Uttar Pradesh, India

सर्दी की चपेट में आने से राजा की मौत हो गई थी।

हमीरपुर. मुख्यालय में बीते 9 जनवरी को सर्दी की चपेट में आकर शहर में राजा की मौत हो गई थी। सर्दी से बेटे की मौत के बाद मानसिक आघात से बीमार हुई मां की इलाज के दौरान सदर अस्पताल में मौत ही गई। इस वृद्धा को जिला प्रशासन तीन दिन पूर्व अस्पताल में भर्ती करवाया था।
9 जनवरी को सर्दी की चपेट में आकर शहर के मोहल्ला पटकाना निवासी राजा की मौत हो गई थी, जिसके गम में उसकी वृद्ध मां सावित्री का बुरा हाल था। बेटे के अंतिम संस्कार के लिए मां के पास पैसे भी नहीं थे। पड़ोसियों से चन्दा कर किसी तरह बेटे का अंतिम संस्कार किया था। पुत्र की मौत से वह बेसुध हो गई थी। बीते डेढ़ माह पूर्व ये बुजुर्ग महिला भी आग की चपेट मे आकर झुलस गई थी। पैसों की कमी के कारण उसका सही तरह से इलाज न हो सका था। बेटे की मौत के बाद चन्दा कर अंतिम संस्कार करने की खबर जब जिला प्रशासन को लगी तो जिलाधिकारी आरपी पाण्डेय व एसडीएम राहुल यादव इसके घर पहुंचे जहां उन्होंने पीडि़त परिवार को आर्थिक मदद के साथ साथ इस बूढ़ी मां को बेवा पेंशन दिलाने का भी आश्वासन दिया था।

दो नम्बर बेड में चल रहा था

साथ ही महिला की हालत गम्भीर देखते हुए इसे जिला अस्पताल में भर्ती करवाया गया था। जिसका इलाज सदर अस्पताल के वार्ड डी के दो नम्बर बेड में चल रहा था, जिसकी शनिवार रात इलाज के दौरान मौत हो गई। इस परिवार में एक सप्ताह के अंदर दो मौतों से परिजनों में कोहराम मच गया। वहीं इस घटना से मोहल्ले में शोक की लहर दौड़ गई। बताते चलें कि यह परिवार बेहद ही गरीबी की स्थिति से गुजर रहा है। इनके पास कोई भी स्थाई रोजगार नहीं है और किसी से कोई मदद भी नहीं मिल पा रही है।

Ad Block is Banned