script24 crores will be spent on solving the problem of polluted water | प्रदूषित पानी की समस्या के समाधान पर 24 करोड़ होंगे खर्च | Patrika News

प्रदूषित पानी की समस्या के समाधान पर 24 करोड़ होंगे खर्च

https://www.patrika.com/hanumangarh-news/

हनुमानगढ़. प्रदूषण की समस्या दिनोंदिन बढ़ती जा रही है। सेहत से सीधे तौर पर जुड़े होने की वजह से सुप्रीम कोर्ट भी इस मामले में लगातार सख्ती दिखा रहा है। ग्रीन ट्रिब्यूनल दिल्ली ने भी गाइड लाइन जारी कर रखा है। मगर जिला मुख्यालय पर करीब एक दशक से फैक्ट्रियों का पानी आबादी क्षेत्र के नजदीक खुले में प्रवाहित हो रहा है।

 

हनुमानगढ़

Updated: November 19, 2021 09:09:43 pm

प्रदूषित पानी की समस्या के समाधान पर 24 करोड़ होंगे खर्च
-रीको क्षेत्र में फैक्ट्रियों का प्रदूषित पानी खुले में प्रवाहित होने की समस्या से आसपास की आबादी हो रही प्रभावित
-लागत का आधा पैसा प्रदूषण मंडल देने को तैयार, बाकी का स्थानीय स्तर पर करना होगा इंतजाम
प्रदूषित पानी की समस्या के समाधान पर 24 करोड़ होंगे खर्च
प्रदूषित पानी की समस्या के समाधान पर 24 करोड़ होंगे खर्च
हनुमानगढ़. प्रदूषण की समस्या दिनोंदिन बढ़ती जा रही है। सेहत से सीधे तौर पर जुड़े होने की वजह से सुप्रीम कोर्ट भी इस मामले में लगातार सख्ती दिखा रहा है। ग्रीन ट्रिब्यूनल दिल्ली ने भी गाइड लाइन जारी कर रखा है। मगर जिला मुख्यालय पर करीब एक दशक से फैक्ट्रियों का पानी आबादी क्षेत्र के नजदीक खुले में प्रवाहित हो रहा है। प्रदूषण की वजह से आसपास के कई पेड़ जल कर काले पड़ गए हैं। आसपास का माहौल लंबे समय से बदबूदार बना हुआ है। स्थिति यह है कि समस्या के स्थाई समाधान के लिए ट्रीटमेंट प्लांट के निर्माण की कवायद एक दशक पहले शुरू की गई थी।
इसके निर्माण पर करीब २४ करोड़ की लागत आने का अनुमान है। इसमें आधा पैसा प्रदूषण मंडल देने को तैयार है। आधे पैसों का इंतजाम उद्योगपतियों की संस्था या अन्य विभागों के माध्यम से होने के बाद इसके निर्माण को गति मिलेगी। वहीं आधे पैसों का इंतजाम होने के बाद भी अब तक स्थानीय स्तर पर इसकी डीपीआर बनाने का काम पूरा नहीं हो पाया है। अब जिला प्रशासन की पहल पर डीपीआर बनाने को लेकर फिर से कवायद शुरू की गई है। इसमें उद्योगपतियों ने भी हिस्सा राशि देने पर हामी भरी है। लेकिन जब तक समयबद्ध तरीके से इस पर काम नहीं होगा, तब तक समस्या का स्थाई समाधान संभव नहीं होगा। जिम्मेदारों को तय समय सीमा का निर्धारण कर इस अवधि में डीपीआर बनाने का काम पूर्ण करना होगा।
इसके बाद ही आगे की प्रक्रिया शुरू हो सकेगी। जंक्शन रीको क्षेत्र में वर्तमान में करीब २५१ फैक्ट्रियां संचालित हो रही है। जीरो क्यूसेक पानी डिस्चार्ज की शर्त पर प्रदूषण मंडल ने फैक्ट्रियों को एनओसी जारी किया हुआ है। प्रदूषण मंडल और रीको के अधिकारी इसी तरह सख्ती दिखाएंगे तो आने वाले समय में शहर की आबोहवा साफ-सुथरी होने की उम्मीद कर सकते हैं।
बारह को नोटिस
प्रदूषण मंडल हनुमानगढ़ कार्यालय ने हाल ही में जंक्शन रीको क्षेत्र में वायु व जल प्रदूषण फैला रही बारह फैक्ट्रियों को नोटिस जारी कर पर्यावरण नियमों की पालना करने को लेकर निर्देशित किया है। साथ ही पर्यावरण नियमों के मुताबिक सभी मापदंडों को पूरा करने का लेकर जवाब-तलब किया है। इसी तरह एक बड़ी फैक्ट्री का बिजली कनेक्शन काटकर उसे सीज करने की कार्रवाई चल रही है।
.....वर्जन.....
आधा फंड हम देने को तैयार
रीको क्षेत्र की फैक्ट्रियों से खुले में पानी प्रवाहित होने से पर्यावरण को नुकसान पहुंच रहा है। यह गंभीर समस्या है। इस समस्या का समाधान सीईटीपी प्लांट के निर्माण से ही संभव है। इसके निर्माण पर कुल २४ करोड़ खर्च होने का अनुमान है। इसके लिए जरूरी है कि पहले डीपीआर बनाने का काम शुरू हो। कुल लागत का आधा पैसा प्रदूषण मंडल देने को तैयार है।
-अमित सोनी, आरओ, राजस्थान प्रदूषण मंडल कार्यालय हनुमानगढ़

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Subhash Chandra Bose Jayanti 2022: इंडिया गेट पर लगेगी नेताजी की भव्य प्रतिमा, पीएम करेंगे होलोग्राम का अनावरणAssembly Election 2022: चुनाव आयोग का फैसला, रैली-रोड शो पर जारी रहेगी पाबंदीगोवा में बीजेपी को एक और झटका, पूर्व सीएम लक्ष्मीकांत पारसेकर ने भी दिया इस्तीफाUP चुनाव में PM Modi से क्यों नाराज़ हो रहे हैं बिहार मुख्यमंत्री नितीश कुमारPunjab Election 2022: भगवंत मान का सीएम चन्नी को चैलेंज, दम है तो धुरी सीट से लड़ें चुनाव20 आईपीएस का तबादला, नवज्योति गोगोई बने जोधपुर पुलिस कमिश्नरइस ऑटो चालक के हुनर के फैन हुए आनंद महिंद्रा, Tweet कर कहा 'ये तो मैनेजमेंट का प्रोफेसर है'खुशखबरी: अलवर में नया सफारी रूट शुरु हुआ, पर्यटन को मिलेगा बढ़ावा
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.