जिले के 39 होटल व 25 निजी अस्पतालों को किया आरक्षित


जिले के 39 होटल व 25 निजी अस्पतालों को किया आरक्षित
राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन के तहत करेगा अधिग्रहण
डॉक्टर्स, नर्सिंग व सफाई कर्मी के बाद शिक्षक भी सड़कों पर उतरे
- कई अभी भी कोरोना वायरस के बचाव के लिए होम क्वारंटाइन में नहीं बरत रहे गंभीरता

हनुमानगढ़. कोरोना वायरस के बचाव के लिए डटकर लड़ रहे डाक्टर्स, नर्सिग व सफाई कर्मी के बाद शिक्षकों को भी सड़कों पर उतारा जा चुका है। ज्यादातर शिक्षकों की डयूटी होम क्वारंटाइन में पाबंद किए गए लोगों की निगरानी के लिए लगाई गई है।

By: Anurag thareja

Published: 28 Mar 2020, 09:42 PM IST


जिले के 39 होटल व 25 निजी अस्पतालों को किया आरक्षित
- प्रशासन राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन के तहत करेगा अधिग्रहण
डॉक्टर्स, नर्सिंग व सफाई कर्मी के बाद शिक्षक भी सड़कों पर उतरे
- कई अभी भी कोरोना वायरस के बचाव के लिए होम क्वारंटाइन में नहीं बरत रहे गंभीरता

हनुमानगढ़. कोरोना वायरस के बचाव के लिए डटकर लड़ रहे डाक्टर्स, नर्सिग व सफाई कर्मी के बाद शिक्षकों को भी सड़कों पर उतारा जा चुका है। ज्यादातर शिक्षकों की डयूटी होम क्वारंटाइन में पाबंद किए गए लोगों की निगरानी के लिए लगाई गई है। इनमें से कई महिला शिक्षक भी शामिल है। इनकी ओर से होम क्वारंटाइन में पाबंद किए गए लोगों पर नजर रखी जाती है ताकि वह घर से बाहर नहीं निकले। सार्वजनिक वाहनों पर रोक होने के कारण कई महिला शिक्षक को संबंधित इलाके में पहुंचने में परेशानी होती है। क्योंकि इनमें से कईयों को दोपहिया वाहन चलाना नहीं आता। इसके बावजूद अपनी डयूटी बखूबी से निभा रही हैं। एक तरफ वो लोग जिन्हें कोरोना वायरस के दुष्प्रभावों के बारें में बार-बार बताया जा चुका है और घर में ही रहने बार-बार हिदायत दी जा रही है। इसके बावजूद इधर-उधर घूमते हुए दिखाई दे रहे हैं। ये लोग समाज के हित की बजाए उनके दुश्मन बने हुए हैं। इधर, कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए प्रशासन ने जिले के 39 होटल व 25 निजी अस्पतालों का अधिग्रहण करने की तैयारी कर ली है।

कंट्रोल रूम में प्राचार्य तैनात
जिलें स्थापित सभी कंट्रोल रूम में प्राचार्य की डयूटी विभिन्न पारियों में लगाई गई है। प्रत्येक ग्राम पंचायत में भी प्राचार्य की डयूटी लगाई है। ये डयूटी इसलिए लगाई जा रही है ताकि लोगों को होम क्वारंटाइन की गंभीरता के बारे में अवगत कराया जा सके। जबकि हम लोगों को इसको गंभीरता से लेना चाहिए और घरों से बाहर नहीं निकलना चाहिए।

यह लोग संदिग्ध नहीं
कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव को लेकर जिला प्रशासन की ओर से होम आइसोलेशन, क्वारंटाइन सेंटर और आइसोलेशन वार्ड बनाए जा रहे हैं। इस पर पीएमओ डॉ. एमपी शर्मा ने बताया कि जो लोग होम आइसोलेशन या क्वारंटाइन सेंटर में रखे गए हैं उनमें कोरोना के कोई लक्ष्ण नहीं हैं। यो वो लोग हैं जो अन्य जिले, राज्य या विदेश से आए हैं। इन्हें एहतियात के तौर पर होम आइसोलेशन में रखा जाता है और घर के बाहर होम आइसोलेशन की पर्ची चिपका कर उसे घर से बाहर नहीं निकलने की हिदायत दी जाती है। साथ ही उस की निगरानी के लिए कार्मिक लगाए जा रहे हैं। अगर वो घर से बाहर निकलता है तो संबंधित के खिलाफ मुकदमा दर्ज करवाया जाएगा।

होटलों का किया अधिग्रहण
राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन के तहत जिले के 39 होटल व भवन को जिला प्रशासन से अधिग्रहण किया गया है। इसमें हनुमानगढ़ जंक्शन के छोटे से बड़े 13 होटल, टाउन के 11 होटल जिला प्रशासन को सुपुर्द होंगे। इसके अलावा भादरा के चार, नोहर के पांच, रावतसर के भी पांच व पीलीबंगा का एक होटल का अधिग्रहण किया गया है।

दो घंटे में सौंपना होगा निजी अस्पताल
जिला प्रशासन से जिले में 25 निजी अस्पतालों को अधिग्रहण करने की भी सूची तैयार की है। इन अस्पतालों के संचालकों को जरुरत पढऩे पर दो घंटे में सौंपना होगा। इसमें हनुमानगढ़ टाउन के आठ निजी अस्पताल, जंक्शन के चार निजी अस्पताल, भादरा के चार, नोहर के तीन, रावतसर का एक, पीलीबंगा के तीन, संगरिया के दो निजी अस्पताल को राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन के तहत आरक्षित किए गए हैं। प्रशासन की ओर से इनकी जरूरत पढऩे पर निर्देश देने तक दो घंटे में सुपुर्द करना होगा। इन अस्पताल के संचालकों को हर समय तैयार करने के निर्देश भी दिए गए हैं।

*****************************

Anurag thareja
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned