आफत से निपटेगी अब 71 लाख वाली मशीन

हनुमानगढ़. आरयूआईडीपी की ओर से बिछाई गई सीवरेज लाइन शहरवासियों के लिए आफत बनी हुई है। अब इस आफत से 71 लाख वाली मशीन निपटेगी। जंक्शन क्षेत्र में जाम सीवरेज लाइनों को खोलने के लिए नगर परिषद ने सुपर सकर मशीन खरीदने की कार्यवाही पूरी कर ली है। इसके लिए संबंधित कंपनी को कार्य आदेश भी दिया जा चुका है।

By: adrish khan

Published: 21 Nov 2020, 10:11 PM IST


आफत से निपटेगी अब 71 लाख वाली मशीन
- सुपर सकर मशीन खोलेगी सीवरेज की जाम लाइनें

हनुमानगढ़. आरयूआईडीपी की ओर से बिछाई गई सीवरेज लाइन शहरवासियों के लिए आफत बनी हुई है। अब इस आफत से 71 लाख वाली मशीन निपटेगी। जंक्शन क्षेत्र में जाम सीवरेज लाइनों को खोलने के लिए नगर परिषद ने सुपर सकर मशीन खरीदने की कार्यवाही पूरी कर ली है। इसके लिए संबंधित कंपनी को कार्य आदेश भी दिया जा चुका है। इस सकर मशीन को ऑपरेट करने वाले ऑपरेटर व कार्य करने वाले संविदा कर्मचारियों को पहले प्रशिक्षण दिलाया जाएगा। ताकि सीवरेज लाइन खोलने के लिए नगर परिषद को अलग से टैंडर प्रक्रिया नहीं करवानी पड़े। जानकारी के अनुसार सुपर सकर ऑपरेटर सहित छह से सात कर्मचारी जंक्शन क्षेत्र की जाम पड़ी सीवरेज लाइन को खोलेंगे। करीब डेढ़ वर्ष पूर्व नगर परिषद ने सुपर सकर मशीन की खरीद करने की योजना तैयार की थी। लेकिन नप की माली हालत के कारण यह योजना अटकी पड़ी थी। अब नीलामी के जरिए नप के खाते में करोड़ों रुपए आने के चलते यह मशीन खरीदने की कार्यवाही की गई है। इससे पूर्व नगर परिषद बड़ी सीवरेज लाइनों को खुलवाने के लिए सुपर सकर मशीन किराए पर ली थी। इस पर 15 से 20 लाख रुपए खर्च आया था। हालांकि नगर परिषद के पास जेंटिंग मशीन है। यह मशीन 250 एमएम तक की जाम सीवरेज लाइनों को ही खोल सकती है।

दो लाख रुपए होते हैं खर्च
वर्तमान में सीवरेज लाइन के रख-रखाव पर नगर परिषद की ओर से प्रतिमाह करीब दो लाख रुपए खर्च किए जा रहे हैं। इस कार्य में जेंटिंग मशीन काम आने पर नगर परिषद संबंधित कंपनी से मशीन का किराया वसूलती है।

ठप हो चुका है प्रोजेक्ट
आरयूआईडीपी का सीवरेज लाइन बिछाने का प्रोजेक्ट हनुमानगढ़ में फैल हो चुका है। वर्तमान में पेयजल सप्लाई का प्रोजेक्ट भी ठप पड़ा है। ऐसे में जंक्शन के जिन वार्डों में सीवरेज लाइन संचालित है। इसके रख-रखाव पर नगर परिषद को प्रत्येक वर्ष में लाखों रुपए खर्च करने पड़ रहे हैं। वहीं टाउन में सीवरेज का कार्य अधूरा होने का कारण लाइनों को संचालित नहीं किया जा सकता।


दिया जा चुका है कार्य आदेश
71 लाख की लागत से नगर परिषद सुपर सकर मशीन खरीदने जा रही है। इसके लिए कंपनी को कार्य आदेश दिया जा चुका है। मशीन के आने पर श्रमिक व ऑपरेटर को प्रशिक्षण दिलवाया जाएगा। इसके बाद नगर परिषद के कर्मी ही सीवरेज का रख-रखाव करेंगे। इससे काफी बचत होगी।
सुभाष बंसल, अधिशासी अभियंता, नगर परिषद

*********

adrish khan Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned