93 कौओं के बाद अब चार तीतर मृत अवस्था में मिले, जिले में जबरासर में आया बर्ड फ्लू का मामला

https://www.patrika.com/hanumangarh-news/

हनुमानगढ़. जिले के नोहर क्षेत्र के गांव देइदास में शनिवार को चार तीतर के मृत अवस्था में मिलने के बाद तत्काल पशुपालन विभाग व वन विभाग की टीम मौके पर पहुंची।

 

By: Purushottam Jha

Published: 09 Jan 2021, 08:06 PM IST

93 कौओं के बाद अब चार तीतर मृत अवस्था में मिले
-नोहर रेंज के देइदास क्षेत्र का मामला
हनुमानगढ़. जिले के नोहर क्षेत्र के गांव देइदास में शनिवार को चार तीतर के मृत अवस्था में मिलने के बाद तत्काल पशुपालन विभाग व वन विभाग की टीम मौके पर पहुंची। सहायक वनपाल गौतम व पशु चिकित्सा अधिकारी डॉ. दिनेश जांगिड़ के नेतृत्व में मृत पक्षियों को दफनाकर आसपास में चूने का छिड़काव किया गया। जानकारी के अनुसार देइदास निवासी अनिल पुत्र दलवीर जाट के चार डीडीएनएल के खेत में नौ जनवरी की सुबह चार तीतर के मृत मिलने की सूचना मिली। इसके बाद वन व पशुपालन विभाग की संयुक्त टीम ने मौके पर जाकर पक्षियों को दफनाने की प्रक्रिया पूरी की। अधिकारियों का कहना है कि नियमानुसार पांच से कम पक्षियों के मरने पर इसकी सेंपलिंग के निर्देश नहीं हैं। इसलिए मौके पर डिस्पोजल करवा दिया गया।
वहीं तीन दिन पहले गांव चारणवासी में दो इंडियन मैना के मरने के बाद इसकी सेंपलिंग कर भोपाल लैब भिजवाने पर इसकी शनिवार को रिपोर्ट नेगेटिव आई है। पशुपालन विभाग हनुमानगढ़ के उप निदेशक डॉ. नरेंद्र कुमार चाहर ने बताया कि जिले में अभी जबरासर को छोड़कर कहीं भी बर्ड फ्लू का मामला सामने नहीं आया है। जबरासर के दस किलोमीटर एरिया को वर्जित क्षेत्र घोषित कर दिया गया है। इस क्षेत्र से पक्षियों के कई सेंपल लेकर भोपाल लैब भिजवाए हैं। गौरतलब है कि जिले में बर्ड फ्लू की पुष्टि हो चुकी है। नोहर के जबरासर में तीन जनवरी को ९३ कौए मृत मिलने के बाद इनके पांच सेंपल लेकर जांच के लिए भोपाल लैब भिजवाए गए थे। इसमें दो सेंपल की रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद वन क्षेत्रों की निगरानी बढ़ा दी गई है। पोल्ट्री फॉर्म के मालिकों को आवश्यक सावधानी बरतने के निर्देश दिए गए हैं।

Purushottam Jha Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned