आय बढ़ाने का वादा, हकीकत में उचित भाव का भी टोटा

Purushotam Jha | Updated: 04 Jun 2019, 10:21:15 PM (IST) Hanumangarh, Hanumangarh, Rajasthan, India

आय बढ़ाने का वादा, हकीकत में उचित भाव का भी टोटा
-आत्मा की बैठक में कृषि विभाग की योजनाओं की समीक्षा के दौरान सामने आई वादों की असलियत
.......फोटो.......
हनुमानगढ़. सरकार भले किसानों की आय बढ़ाने का दावा करती हो मगर असलियत में किसानों को उपज का उचित मूल्य भी आसानी से नसीब नहीं हो रहा है। कृषि विभाग की योजनाओं की समीक्षा के लिए मंगलवार को कलक्ट्रेट में हुई आत्मा की अहम बैठक में अफसर जब किसान हितों को लेकर आंकड़ेबाजी पेश करने लगे तो कुछ धरतीपुत्रों ने तत्काल उन्हें हकीकत से रुबरु करवा दिया। सहकारिता विभाग के उप रजिस्ट्रार अमीलाल सहारण ने सरसों व चने की सरकारी खरीद को लेकर जब प्रगति रिपोर्ट बताई तो प्रगतिशील किसान जसवंत भादू और पूर्व प्रधान दयाराम जाखड़ ने आपत्ति दर्ज करवाते हुए कहा कि हकीकत में ऐसा नहीं है। किसानों ने कहा कि मंडियों में हालात ऐसे हैं कि सरसों की फसल को बिके एक माह बीत गए हैं लेकिन अभी तक किसानों को भुगतान नहीं किया गया है। अजीब स्थिति यह है कि किसानों की फसल खरीद में भी आनाकानी की जा रही है। सरसों की फसल कभी २५ किलो तो कभी १५ किलो, इस तरह से सरकार किस्तों में ले रही है।
फसल बीमा योजना का जिक्र जब अफसर करने लगे तो किसानों ने पूरे सिस्टम पर ही सवाल खड़े कर दिए। एक किसान ने कहा कि किसान के खेत में बोई ग्वार की फसल जाती है और बैंक अफसर कपास का बीमा कर देते हैं। इसके कारण किसानों को बीमा क्लेम भी नहीं मिल पाता है। बैंक अधिकारी ने इस कमी को बैठक में जब स्वीकार किया तो कलक्टर ने आगे से इस तरह की गलती नहीं करने का निर्देश दिया। कलक्टर जाकिर हुसैन ने कहा कि कृषि प्रधान जिले में किसान हितों को लेकर अफसरों को संवेदनशील होने की जरूरत है। बैठक में कृषि विभाग के उप निदेशक दानाराम गोदारा ने जन घोषणा पत्र की कार्य योजना, खाद व बीज की उपलब्धता के साथ अब तक हुई बिजाई की स्थिति से कलक्टर को अवगत करवाया। टिड्डी नियंत्रण व सफेद मक्खी के प्रभाव को रोकने के संबंध में किए जा रहे विभागीय प्रयासों की जानकारी दी। बैठक में आत्मा परियोजना के निदेशक जयनारायण बेनीवाल, सहायक निदेशक बलवीर खाती, सुभाष डूडी, कृषि अधिकारी बीआर बाकोलिया, कृषि पर्यवेक्षक जगदीश दूधवाल, पीआरओ सुरेश बिश्नोई, मतस्य पालन अधिकारी मदन सिंह सहित अन्य मौजूद रहे।

प्रगति शून्य होने पर नाराजगी
आत्मा की बैठक में विभिन्न बिंदुओ पर विचार-विमर्श किया गया। इसमें तिल प्रदर्शन आदान व्यवस्था, प्रदर्शन के लिए ग्राम पंचायत चयन, जिला कृषि वार्षिक योजना २०१९-२० का अनुमोदन किया गया। साथ ही जिला स्तरीय कृषक सलाहकार समिति के प्रस्ताव पर चर्चा की गई। बैठक में कलक्टर जाकिर हुसैन ने उद्यान विभाग की ओर से प्रस्तुत प्रगति रिपोर्ट पर नाराजगी जताई। क्योंकि रिपोर्ट में ज्यादातर कार्यों में जिले की स्थिति शून्य थी। कलक्टर ने तत्काल कार्यशैली में सुधार करने के निर्देश दिए।

किसानों को बनाएंगे उद्यमी
बैठक में अधिकारियों ने सरकार की योजनाओं का जिक्र कर कहा कि किसानों की आय बढ़ाने के साथ ही फूड प्रोसेसिंग यूनिट लगाने पर भी प्रोत्साहन देने की योजना है। किसानों को उद्यमी बनाने को लेकर भी विचार चल रहा है। ताकि किसानों की आय बढ़ सके। कृषि उप निदेशक ने वन्यजीवों से फसलों को बचाने के लिए किसानों को फैंसिंग के लिए दी जा रही सहायता राशि को लेकर भी जानकारी दी।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned