scriptBrainstorming on drawing lottery of 187 hungry people before or after | २६ जनवरी से पहले या बाद में १८७ भूखड़ों की लॉटरी निकालने पर मंथन | Patrika News

२६ जनवरी से पहले या बाद में १८७ भूखड़ों की लॉटरी निकालने पर मंथन

२६ जनवरी से पहले या बाद में १८७ भूखड़ों की लॉटरी निकालने पर मंथन
- चार हजार से अधिक आवेदन हुए थे जमा, जरुरतमंदों को भूखंड का होगा सपना।
हनुमानगढ़. आने वाले दिनों में १८७ जरुरतमंदों का सपना पूरा होगा।

हनुमानगढ़

Updated: January 12, 2022 10:16:00 pm

२६ जनवरी से पहले या बाद में १८७ भूखड़ों की लॉटरी निकालने पर मंथन
- चार हजार से अधिक आवेदन हुए थे जमा, जरुरतमंदों को भूखंड का होगा सपना।
हनुमानगढ़. आने वाले दिनों में १८७ जरुरतमंदों का सपना पूरा होगा। नगर परिषद २६ जनवरी से पहले या बाद में १८७ भूखंडों की लॉटरी निकालने की तैयारी कर रही है। इस लॉटरी में हिस्सा लेने के लिए ४ हजार से अधिक आवेदन जमा हुए थए। इसमें से निरस्त हुए पचास से अधिक फार्मों की दोबारा जांच की जा रही है। इनकी पुन: जांच होने के बाद १८७ भूखंडों की लॉटरी की तिथि निर्धारित की जाएगी। खास बात यह है कि इन १८७ जनों को नप रियायती दरों पर भूखंडों का आवंटन करेगी। भूखंडों का आवंटन दो क्षेणी में होगा। पहली ईडब्ल्यूएस ( आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग) व दूसरी क्षेणी एलआईजी (निम्न आय वर्ग) होगी। इस लॉटरी के लिए नगर परिषद ने ११ अगस्त तक आवेदन मांगे गए थे। लंबे इंतराल के बाद यह लॉटरी होने जा रही है। आवेदन के अनुसार आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग की वार्षिक आय तीन लाख रुपए से कम मांगी गई थी। निम्न रूप से कमजोर वर्ग की आय के लिए ३ से ६ लाख रुपए होनी चाहिए थी। आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग की श्रेणी वाले लोगों को लॉटरी के माध्यम से ४५ स्कवेयर मीटर तक के १०४ भूखंड की लॉटरी निकाली जाएगी। इसके लिए आवंटनधारी को रिजर्व प्राइस का ५० प्रतिशत जमा करवाना होगा। वहीं निम्न रूप से कमजोर वर्ग को लॉटरी के माध्यम से ८३ भूखंडों का आवंटन होगा। इस श्रेणी वाले लोगों को भूखंड ४६ से ७५ स्केयर मीटर तक का होगा। आवंटनधारी को रिजर्व प्राइस का ८० प्रतिशत देना होगा। इसके लिए रजिस्ट्रशन फीस १७००० रुपए बतौर डिमांड ड्राफ्ट के तौर पर ली गई है। लॉटरी नहीं निकलने पर यह राशि वापस लौटाई जाएगी। वहीं लॉटरी के दौरान कॉर्नर के भूखण्ड का आवंटन होने पर 15 प्रतिशत अतिरिक्त भुगतान करना होगा।
२६ जनवरी से पहले या बाद में १८७ भूखड़ों की लॉटरी निकालने पर मंथन
२६ जनवरी से पहले या बाद में १८७ भूखड़ों की लॉटरी निकालने पर मंथन
नहीं बेच सकेंगे भूखंड
आवंटित भूखण्ड का 10 वर्ष की अवधि तक विक्रय अथवा स्थानान्तरण नहीं किया जा सकेगा, किन्तु यदि कोई व्यक्ति भूखण्ड को 5 वर्ष के पश्चात व 10 वर्ष पूर्व विक्रय करना चाहता है तो ऐसे विक्रय के लिए उसे योजना की प्रचलित आरक्षित दर की पांच प्रतिशत की दर से शुल्क वसूल कर नियमानुसार किये गये विक्रय पत्र अथवा दस्तावेज के आधार पर हस्तान्तरण की अनुमति दी जाएगी।
१६२ भूखंडों का हो चुका है आवंटन
इससे पूर्व नगर परिषद की ओर से जंक्शन स्थित शिव मंदिर के पास आवासीय योजना लेकर आई थी। इस योजना के तहत १६२ भूखंडों का आवंटन लॉटरी के माध्यम से किया गया था। इन सभी भूखंडों का साइज २५ गुणा ४९ था। आवंटनधारी से रिजर्व प्राइस के आधार पर राशि जमा करवाई गई थी। इनमें 15 प्लाट अनुसूचित जाति, 10 प्लाट अनुसूचित जनजाति, 96 प्लाट अनारक्षित यानि सामान्य श्रेणी के आधार पर लॉटरी के माध्यम से आवंटित किए गए थे।
इसी माह निकालेंगे लॉटरी
आवासीय योजना के तहत आवेदन मांगे गए थे। चार हजार से अधिक आवेदन जमा हुए थे। इनकी जांच हो चुकी है। निरस्त हुए फार्मों की दोबारा जांच करवाई जा रही है। भूखंडों के आवंटन के लिए इसी माह लॉटरी निकाली जाएगी।
गणेशराज बंसल, सभापति, नगर परिषद

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.