केन्द्र ने दिया सुशासन का अवार्ड

https://www.patrika.com/hanumangarh-news/

हनुमानगढ़. राज्य के शिक्षा मंत्री एवं जिला प्रभारी मंत्री गोविन्द सिंह डोटासरा के अनुसार सरकार ने एक साल में जनहित में अनेक फैसले लिए। सरकार ने गुड गवर्नेंस देने का प्रयास किया है। इसी का परिणाम है कि पूरे देश में प्रधानमंत्री ने मुख्यमंत्रियों की जो ग्रेडिंग की उसमें मुख्यमंत्री अशोक गहलोत प्रथम रहे।

 

केन्द्र ने दिया सुशासन का अवार्ड
पे्रसवार्ता में बोले प्रभारी मंत्री
हनुमानगढ़. राज्य के शिक्षा मंत्री एवं जिला प्रभारी मंत्री गोविन्द सिंह डोटासरा के अनुसार सरकार ने एक साल में जनहित में अनेक फैसले लिए। सरकार ने गुड गवर्नेंस देने का प्रयास किया है। इसी का परिणाम है कि पूरे देश में प्रधानमंत्री ने मुख्यमंत्रियों की जो ग्रेडिंग की उसमें मुख्यमंत्री अशोक गहलोत प्रथम रहे। सुशासन देने के लिए ही यह अवार्ड मिला है। जिला कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित प्रेस कॉन्फे्रंस में उन्होंने कहा कि राज्य भर में प्रभारी मंत्री समेत सभी प्रशासनिक अधिकारियों को भी जनसुनवाई के निर्देश सरकार के स्तर से मिले हैं। जनसुनवाई के जरिए आमजन की पीड़ा को समझते हुए उसकी परिवेदना का जल्द से जल्द निस्तारण की कोशिश की जा रही है। उन्होने कहा कि सरकार ने पिछले एक साल में किसानों
का कर्ज माफ कर, 15 जिलों में मेडिकल कॉलेज की सौगात देकर, बुजुर्ग, विधवा की पेंशन बढ़ाकर, राष्ट्रीय स्तर पर खेलने वाले को सरकारी नौकरी में दो फीसदी का कोटा देने, किसानों का बिजली का बिल नहीं बढ़ाकर राहत देने का भरसक प्रयास किया गया
है। उन्होने कहा कि जिले में पिछले एक साल में मेडिकल कॉलेज की मंजूरी, जिला मुख्यालय पर
महिला महाविद्यालय की स्थापना, अंग्रेजी माध्यम स्कूल समेत विभिन्न कार्य हुए हैं।

परशुराम नाम के अनुरूप सख्त और कडक़, बोले विधायक, तो गूंजे ठहाके
हनुमानगढ़. समारोह में विधायक अपने चिरपरिचित अंदाज में बोले, उन्होंने राज्य सरकार के कार्यों की तारीफों के पुल बांधे। वहीं जिला कलक्टर और पुलिस अधीक्षक को भी अच्छे अधिकारी बताया।
उन्होंने कहा कि वह स्वयं भी विनम्र हैं और उन्हें ‘पोलाइट’ अधिकारी ही पसंद हैं। उन्होंने सब की तारीफ की लेकिन अचानक बोले, ‘जिला प्रभारी जी, बाकि सब अधिकारी तो ठीक हैं लेकिन सीओ साब, थोड़े सख्त और कडक़ है। वह जिद्दी भी हैं।’ एकाएक इतनी गंभीर बात बोले तो कार्यक्रम में सन्नाटा पसर गया लेकिन विधायक फिर मंजाकिया मूड में आ गए। उन्होंने कहा कि सीओ साहब का नाम परशुराम है
और वह भगवान परशुराम के अनुरूप ही सख्त हैं। इस पर सभी हंसने लगे।

Purushottam Jha Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned