नगर परिषद तहबाजारी की 350 दुकानें करेगी सीज

नगर परिषद तहबाजारी की 350 दुकानें करेगी सीज
- 1980 में तहबाजारी दुकानों का हुआ था आवंटन, अभी तक नहीं जमा करवाया किराया


नगर परिषद तहबाजारी की 350 दुकानें करेगी सीज
- 1980 में तहबाजारी दुकानों का हुआ था आवंटन, अभी तक नहीं जमा करवाया किराया
हनुमानगढ़. नगर परिषद टाउन व जंक्शन की 350 तहबाजारी दुकानों को सीज करेगी। इसके लिए नगर परिषद कागजी कार्रवाई भी शुरू कर चुकी है। इसके लिए नगर परिषद आयुक्त शैलेन्द्र गोदारा ने बकाया राशि नहीं जमा करवाने पर तहबाजारी दुकानों के आवंटन को निरस्त कर कुर्की करने के आदेश दिए हैं। यह कार्रवाई करने के लिए आयुक्त ने टाउन व जंक्शन में सात सदस्य टीम भी गठित की है। बार-बार नोटिस जारी करने के बावजूद किराया जमा नहीं कराने पर दुकानों को खाली कराने के लिए जिला पुलिस अधीक्षक से पुलिस जाब्ते की भी मांग की है। पत्र में लिखा कि राज्य सरकार की ओर से ऑडिट आक्षेप में बकाया वसूली के संबंध में गठित जनलेखा समिति के आक्षेप संख्या 4, 5, 6 के तहत तहबाजारी क्षेत्र हनुमानगढ़ की बकाया राशि वसूली के लिए उपनिदेशक, निकाय विभाग बीकानेर का पत्र मिला था। इसके उपरांत सभी संबंधित बकायादारों को नोटिस भी जारी किए गए और मुनादी भी करवाई गई। इसके बावजूद वसूली नहीं हो पाई। लेकिन अब नगर परिषद ने बकायादारों की दुकानें सीज कर फिर से नीलामी करेगी। पूर्व में चुनाव आदर्श आचार संहिता प्रभावी होने के कारण कार्यवाही नहीं हो सकी। पत्र के माध्यम से दुकानों को सीज करने के दौरान माहौल बिगडऩे की आशंका होने के कारण शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए अतिरिक्त पुलिस जाब्ते की मांग की है।

केवल साढ़े सात लाख रुपए बकाया
टाउन व जंक्शन में तहबाजारी दुकानों का 11 लाख 87 हजार रुपए किराया बकाया था। इन दुकानों का आवंटन नगर पालिका हनुमानगढ़ की ओर से 1980 में किया गया था। तब से लेकर आज तक कई दुकानों को छोड़ अधिकांश दुकानदारों ने किराया जमा तक नहीं करवाया। लोकसभा चुनाव के पश्चात नोटिस जारी करने पर कई दुकानदारों ने किराए जमा करवा दिया। इन दुकान दारों से नगर परिषद ने साढ़े चार लाख रुपए की वसूली की थी। लेकिन शेष दुकानों का भी किराया जमा नहीं होने पर बीकानेर निकाय विभाग के उपनिदेशक कन्हैलाल सोनगर ने नगर परिषद आयुक्त को कारण बताओ नोटिस जारी किया है। इसमें लिखा है कि जनलेखा समिति प्रतिवेदन वर्ष 2016-17 के अंतर्गत बकाया अग्रिम राशि की ब्याज सहित वसूली की कार्यवाही करने एवं बकाया तहबाजारी राशि की शत प्रतिशत वसूली कर साक्ष्य प्रस्तुत कराने के निर्देश दिए थे। लेकिन अभी तक नगर परिषद हनुमानगढ़ की ओर से वसूली तक नहीं की गई। वसूली के लिए कार्यवाही नहीं करने पर विभागीय कार्यवाही करने के लिए उच्चाधिकारियों से अनुशंषा की जाएगी।

टीम में इन्हें किया शामिल
तहबाजारी की दुकानों को सीज कर नीलामी करने के लिए आयुक्त गोदारा ने सात सदस्यी टीम का गठन किया है। इसमें अधिशासी अभियंता सुभाष बंसल को प्रभारी नियुक्त किया है। सह प्रभारी बंता सिंह, सदस्य सुरेंद्र गोदारा, विनोद पचार, तुलसीराम, अजय कुमार, प्रेमलता को शामिल किया गया है।

मजिस्ट्रेट नियुक्त करने की मांग
कार्यवाही के दौरान शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए आयुक्त ने जिला कलक्टर को पत्र लिख मजिस्ट्रेट नियुक्त करने भी मांग की है। आयुक्त शैलेन्द्र गोदारा ने बताया कि तहबाजारी की दुकानों से वसूली करने के लिए सभी दुकानदारों को तीन दफा नोटिस जारी किया जा चुका है। इसके लिए मुनादी भी करवाई जा चुकी है। इसके बावजूद केवल साढ़े चार लाख रुपए की ही वसूली ही हो पाई है। करीब 350 दुकानों को सीज कर फिर से आवंटन करने के लिए टीम का गठन किया गया है।
********************************

Anurag thareja Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned