Video: हनुमानगढ़ में पाले और घने कोहरे ने लोगों की छुड़ाई धूजणी, तो ठंड से बचने के लिए करना पड़ा ये काम

गांव के लोगों ने बताया कि कई दिनों बाद फिर से पाले और घने कोहरे ने धूजणी छुड़ा दी।

By: पुनीत कुमार

Published: 02 Jan 2018, 05:32 PM IST

Hanumangarh, Rajasthan, India

संगरिया। उपखंड सर्दी और शीतल हवा की चपेट रहा। मंगलवार को विभिन्न हिस्से में कोहरे ने सूर्यदेव को दोपहर तक धरती पर झांकने का मौका नहीं दिया। हवा के तेज प्रवाह और अचानक बदले मौसम के मिजाज ने लोगों को शीत लहर का फिर से एहसास करा दिया। ठंडी हवा से बचने के लिए जहां लोग घरों में दुबके रहे। वहीं लोग गर्म कंबल और कपड़े पहनकर, अलाव जलाकर और गर्म पदार्थों का उपयोग कर ठंड से बचने की कोशिश करते नजर आए।

 

गांव ढाबां में मां के साथ बच्चे भी अलाव तापते दिखें। तो वहीं कोहरे से दूर-दूर तक दृश्यता कम रही। साथ ही वाहन चालकों को वाहनों की लाईटें जलाकर धीरे-धीरे आवागमन करने को मजबूर होना पड़ा। सबसे ऊंचा आदिशक्ति मां काली मंदिर भी दोपहर तक कोहरे के आगोश में नहीं दिखा। नगरपालिका की ओर से रैन बसेरों में विशेष इंतजाम के चलते इनमें रहने वालों को काफी राहत मिली। गांव के लोगों ने बताया कि कई दिनों बाद फिर से पाले और घने कोहरे ने धूजणी छुड़ा दी।

 

गौरतलब है कि प्रदेश में नए साल के साथ ही सर्दी ने जनजीवन को भी प्रभावित कर रखा है। तो वहीं प्रदेश के अन्य हिस्सों जैसे पर्वतीय पर्यटन स्थल माउंट आबू में भी सोमवार को तापमान जमाव बिंदु पर पहुंच गया। जहां पारा शून्य डिग्री पर आने से खुले पानी पर भी बर्फ तैरती दिखी। जबकि गलन के साथ ही शीतलहर चलने से शेखावाटी, अलवर, जोधपुर , जैसलमेर और बाड़मेर में भी तापमान लुढ़क गया।

Show More

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned