नहर मेें कार डूबने से 4 सदस्यों की पहले हो गई थी मौत

नहर मेें कार डूबने से 4 सदस्यों की पहले हो गई थी मौत
नहर मेें कार डूबने से 4 सदस्यों की पहले हो गई थी मौत

Manoj Goyal | Updated: 11 Oct 2019, 12:21:32 PM (IST) Hanumangarh, Hanumangarh, Rajasthan, India

नहर मेें कार डूबने से 4 सदस्यों की पहले हो गई थी मौत


मां ने भी तोड़ा दम, अकेली रह गई बेटी

संगरिया. नहर में कार गिरने के बाद जिंदा बची महिला भी आखिरकार जिंदगी की जंग हार गई। अब छह जनों के भरे-पूरे परिवार में केवल एक मात्र बड़ी बेटी कोमल ही जीवित बची है। बता दें कि चार अक्टूबर की सुबह सार्दुल ब्रांच नहर की ३६ हैड पर त्रिदेव मंदिर में पूजा कर घर वापिस लौट रहा एक ही परिवार के छह जने कार अनियंत्रित होने से नहर में डूब गए थे। लोगों ने मां-बेटी को तो जीवित बाहर निकाल कर अस्पताल पहुंचा दिया था। मगर जिंदा बची महिला ने दिल्ली में उपचार के दौरान दम तोड़ दिया।

दर्दनाक हादसे में अब मरने वालों की संख्या पांच हो गई है। हादसे के रोज कार में फंसे रहने पर दम घुटने से घर के मुखिया हरियाणा के गांव निम्बी जिला महेंद्रगढ़ निवासी पूर्व सरपंच राकेश कुमार (४०) पुत्र सुरजीत सिंह धानक सहित उसके पुत्र कुणाल (१६), दो बेटियां खुशी उर्फ कालो (१५) व वंदना (१२) की मौके पर मौत हो गई थी। जबकि उसकी पत्नी कमलेश रानी (३८) तथा पुत्री कोमल (१८) को गंभीर हालत में हनुमानगढ़ हस्पताल में भर्ती करवाया गया था। वहां से परिजन कमलेश रानी की हालत में सुधार नहीं होता देख बेहतर उपचार के लिए उसे दिल्ली ले गए थे।

वहां पंाच दिनों बाद कमलेश ने दम तोड़ दिया। उसका गमगीन माहौल में महेंद्रगढ़ में अंतिम संस्कार हुआ। कार में सवार पूरा परिवार कस्बे के वार्ड आठ स्थित अपने चाचा व परिवार से मिलने आया हुआ था। हादसे के रोज ही वापिस लौटना था। लेकिन होनी को कुछ ओर ही मंजूर था। [पसं.]

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned