सडक़ हादसों में मौत की संख्या घटी, हत्या के सभी मामलों की गुत्थी सुलझी

https://www.patrika.com/hanumangarh-news/

हनुमानगढ़. जिले में सडक़ हादसों में मृतकों की संख्या के ग्राफ में गिरावट आई है। वर्ष २०१८ की तुलना में २०१९ में दुर्घटनाओं के शिकार हुए मृतकों की संख्या १४.७८ प्रतिशत कम रही। घायलों की संख्या में ८.४९ प्रतिशत की कमी आई। हत्या के जो मामले गत वर्ष दर्ज हुए, उन सबको पुलिस ने सुलझा दिया। नशे पर रोकथाम को लेकर पुलिस निरंतर कार्यवाही कर रही है। यही वजह है कि बीते वर्ष रिकॉर्ड तोड़ १९४ मामले नशीले पदार्थों की तस्करी के पकड़े गए।

 

By: Purushottam Jha

Published: 03 Jan 2020, 11:39 AM IST

सडक़ हादसों में मौत की संख्या घटी, हत्या के सभी मामलों की गुत्थी सुलझी
मादक पदार्थांे की तस्करी के मामले बढ़े

हनुमानगढ़. जिले में सडक़ हादसों में मृतकों की संख्या के ग्राफ में गिरावट आई है। वर्ष २०१८ की तुलना में २०१९ में दुर्घटनाओं के शिकार हुए मृतकों की संख्या १४.७८ प्रतिशत कम रही। घायलों की संख्या में ८.४९ प्रतिशत की कमी आई। हत्या के जो मामले गत वर्ष दर्ज हुए, उन सबको पुलिस ने सुलझा दिया। नशे पर रोकथाम को लेकर पुलिस निरंतर कार्यवाही कर रही है। यही वजह है कि बीते वर्ष रिकॉर्ड तोड़ १९४ मामले नशीले पदार्थों की तस्करी के पकड़े गए। जिला पुलिस अधीक्षक राशि डोगरा ने गुरुवार को प्रेस वार्ता में यह जानकारी दी। बीते वर्ष पुलिस के कामकाज व अपराधों के आंकड़े जारी करते हुए एसपी डोगरा ने कहा कि महिला अपराधों व नशे की तस्करी पर रोक लगाना तथा सडक़ दुर्घटनाओं में कमी लाना पुलिस की प्राथमिकता रहेगी।
साथ ही प्रयास किया जाएगा कि आमजन के बीच पुलिस की छवि मजबूत हो। सीएलजी सदस्य व पुलिस जनमित्र पुलिस के लिए अच्छा सूचना तंत्र बने। एसपी ने बताया कि जिले में वर्ष 2019 में हत्या के ५३ मामले दर्ज हैं। उनमें से एक भी प्रकरण अनसुलझा नहीं रहा। भिरानी का सूरतपुरा होटल हत्याकांड, भादरा का नरेन्द्र फौजी मर्डर, हनुमानगढ़ जंक्शन का रवि मेघवाल हत्याकांड सहित सभी बहुचर्चित प्रकरण पुलिस ने सुलझाए हैं। इसके अलावा पुलिस ने महिला आत्म सुरक्षा प्रशिक्षण, अपराध नियंत्रण के लिए सीसीटीवी कैमरे, खेल के क्षेत्र में, महिला सुरक्षा के लिए महिला शक्ति टीम, पुलिस जनमित्र योजना, पर्यावरण संरक्षण के लिए वृक्षारोपण, ऑपरेशन आशा सहित कई सामाजिक एवं सकारात्मक कार्य भी किए। यह प्रयास निरंतर जारी रहेगा। प्रेस वार्ता में एएसपी जस्साराम बोस, चंद्रभान धुंआ आदि मौजूद रहे।
नशे पर एक्शन
एसपी डोगरा ने बताया कि मादक पदार्थांे की धरपकड़ का अभियान निरंतर जारी है। वर्ष 2019 में 194 प्रकरण पकड़े गए जो वर्ष 2018 की तुलना में 40 प्रतिशत अधिक है। इन मामलों में 303 आरोपियों को गिरफ्तार किया गया। उनके कब्जे से 3568 किलोग्राम डोडा पोस्त, 15 किलोग्राम अफीम, 600 ग्राम चिट्टा व 4 लाख 10 हजार नशीले कैप्सूल व गोलियां जब्त की गई। इनमें जंक्शन पुलिस की ओर से 3 किलोग्राम अफीम व ट्रक से 10 क्विंटल डोडा पोस्त पकडऩे के बड़े मामले भी शामिल हैं। जिला पुलिस ने वर्ष 2019 में अवैध शराब व निर्धारित समयावधि के बाद शराब विक्रेताओं के खिलाफ कार्रवाई कर कुल 688 मामले दर्ज किए। इसमें सदर पुलिस थाना ने कैंटर से करीब 80 लाख रुपए की 1340 पेटी अंग्रेजी शराब व हनुमानगढ़ जंक्शन पुलिस ने ट्रक से करीब 1 करोड़ 25 लाख रुपए की 1500 पेटी अंग्रेजी शराब बरामद की।
लूट व चोरी के मामले खोले
जिला पुलिस अधीक्षक राशि डोगरा ने बताया कि बीते वर्ष हुई डकैती, लूट व चोरी की कई बड़ी वारदातों का खुलासा करने में पुलिस सफल रही। इसमें जंक्शन में ट्रांसपोर्ट व्यवसायी के साथ हुई डकैती, नरमे से भरी ट्रैक्टर-ट्रॉली की लूट, करणी पेट्रोल पम्प पर हुई लूट, गोलूवाला में श्रीबालाजी फिलिंग स्टेशन पर हुई डकैती, राहगीर से हुई कार लूट, हनुमानगढ़ टाउन में जीसीओ फाइनेंस कंपनी के मैनेजर से 15 लाख 9 हजार रुपए की लूट, टिब्बी में एसबीआई शाखा के एटीएम के गार्ड से लूट व एटीएम लूट का प्रयास, संगरिया में बैंक शाखा से चेक चुराकर कांट-छांट कर ठगी करने वाली उत्तरप्रदेश की गैंग का खुलासा आदि शामिल हैं।
जिला पुलिस ने 2019 में 1 उद्घोषित अपराधी, 13 भगौड़े, 160 स्थाई वारंटी व 12666 गिरफ्तारी वारंटी गिरफ्तार किए गए। इनमें 2 रेंज स्तरीय टॉप-10 वांछित अपराधी व 4 जिला स्तरीय टॉप-10 वांछित अपराधी
शामिल हैं।

Purushottam Jha Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned