जिला कारागृह में भिड़े बंदी, समझाइश पर नहीं माने तो करना पड़ा बल प्रयोग

https://www.patrika.com/hanumangarh-news/

हनुमानगढ़. अफसरों के आपसी झगड़े, मोबाइल फोन व पिस्तौल मिलने, प्रहरियों पर हमले और बंदियों से मारपीट के चलते बदनाम जिला कारागृह एक बार फिर सुर्खियों में है। जिला कारागृह में शनिवार देर रात बंदियों से मारपीट की घटना हुई।

By: adrish khan

Updated: 10 May 2020, 04:54 PM IST

जिला कारागृह में भिड़े बंदी, समझाइश पर नहीं माने तो करना पड़ा बल प्रयोग
- नशे की तस्करी के आरोपी ने दूसरे बंदियों पर कराया मारपीट का मामला
हनुमानगढ़. जिला कारागृह एक बार फिर रविवार को सुर्खियों में आ गया। जिला कारागृह में शनिवार देर रात आपस में बंदी भिड़ गए। जेल प्रशासन ने उनको नियंत्रित करने के लिए पहले समझाइश की। जब वे नहीं माने तो हल्का बल प्रयोग करना पड़ा। बंदियों की आपसी मारपीट व जेल प्रशासन के हल्के बल प्रयोग से कई बंदी जख्मी हो गए। इस संबंध में एक बंदी ने दूसरे कई बंदियों पर जंक्शन थाने में मारपीट का मामला दर्ज कराया। मारपीट में जख्मी 13 बंदियों को मंगलवार को जिला अस्पताल में मेडिकल मुआयने के लिए लाया गया। बंदियों के हाथ व पैर तथा शरीर के अन्य हिस्सों पर डंडों आदि की चोटों के निशान मिले। हालांकि घायल बंदियों में से कुछ ने जेल प्रशासन पर मूलभूत सुविधाओं की मांग करने पर प्रताडऩा का आरोप भी लगाया।
पुलिस के अनुसार नियंत्रण कक्ष पर सूचना दी गई कि जिला कारागृह में शनिवार रात को झगड़े में कई बंदी जख्मी हो गए। उनका प्राथमिक उपचार जिला कारागृह के चिकित्सक ने कर दिया था। मगर घायल बंदियों का मेडिकल मुआयना करवाना है। अत: पुलिस जाब्ता दिया जाए। इसके बाद हनुमानगढ़ जंक्शन तथा टाउन थाने का जाब्ता जिला कारागृह पहुंचा। बंदियों को मेडिकल मुआयने के लिए जिला अस्पताल लेकर आया। टाउन थाना प्रभारी नंदराम भादू की मौजूदगी में बंदियों का मेडिकल कराया गया।
इन बंदियों का मेडिकल
मारपीट में जख्मी गुरदीप सिंह पुत्र सोहन सिंह निवासी वार्ड दो अमरपुरा थेड़ी, सोनू पुत्र कृष्ण निवासी मिर्जावाली मेर, नाजम खान पुत्र बरियान खान निवासी हांसलिया, जयप्रकाश पुत्र इंद्राज निवासी वार्ड 16, नई मंडी घड़साना, मैनपाल पुत्र मदनलाल, संदीप सिंह पुत्र बीकर सिंह, रमजान खान पुत्र वली मोहम्मद, मंगल सिंह पुत्र हरनाम सिंह, बलजिन्द्र सिंह पुत्र बलराम ङ्क्षसह, सुरजीत सिंह पुत्र बिंदर सिंह, सुशील पुत्र कालूराम, मुकेश पुत्र रजीराम तथा गुरप्रीत उर्फ ज्ञानी पुत्र जगजीत सिंह का जिला अस्पताल में मेडिकल मुआयना कराया गया।
क्या मामला
जिला अस्पताल में मेडिकल कराने आए कुछ बंदियों ने जेल प्रशासन पर गुणवत्ताहीन भोजन देने आदि के आरोप लगाए। वहीं बंदियों के एक गुट की ओर से दर्ज मामले में प्रकरण आपसी झगड़े का बताया गया। एक पक्ष ने दूसरे पक्ष के बंदी की मोबाइल फोन रखने संबंधी शिकायत की थी। इसको लेकर दोनों गुटों में रंजिश थी। इसी बात को लेकर दोनों गुटों में मारपीट हुई।

adrish khan Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned