महामारी के माहौल में नियमित अध्ययन से मोहभंग

अदरीस खान @ हनुमानगढ़. कोरोना महामारी से उपजे विकट हालात एवं विपरीत माहौल का असर जीवन के हर क्षेत्र में पड़ रहा है। कॉलेज शिक्षा की बात करें तो विद्यार्थियों का नियमित विद्यार्थी के रूप में अध्ययन से मोहभंग हो रहा है।

By: adrish khan

Updated: 13 Oct 2021, 08:04 PM IST

महामारी के माहौल में नियमित अध्ययन से मोहभंग
- परीक्षा व कक्षाओं को लेकर पहले रही असमंजस की स्थिति का अब प्रवेश प्रक्रिया पर असर
- राजकीय महाविद्यालयों में ही सीटें भरने में आ रहा जोर
अदरीस खान @ हनुमानगढ़. कोरोना महामारी से उपजे विकट हालात एवं विपरीत माहौल का असर जीवन के हर क्षेत्र में पड़ रहा है। कॉलेज शिक्षा की बात करें तो विद्यार्थियों का नियमित विद्यार्थी के रूप में अध्ययन से मोहभंग हो रहा है। कोरोना काल में परीक्षा व कक्षाओं को लेकर रही असमंजस की स्थिति का दुष्प्रभाव अब महाविद्यालयों की प्रवेश प्रक्रिया पर पड़ रहा है।
इससे राजकीय से लेकर निजी महाविद्यालयों तक सब प्रभावित हो रहे हैं। कॉलेज की सीटें भरने के लिए विशेष प्रयास करने पड़ रहे हैं। इसके बावजूद पहले के वर्षों की तुलना में नामांकन घटा है। जिले के राजकीय महाविद्यालयों में स्नातक प्रथम वर्ष में प्रवेश की अंतिम तिथि गुजर चुकी है। मगर अब भी कहीं 50 प्रतिशत तो कहीं 30 से 40 प्रतिशत तक सीटें खाली पड़ी हैं। इसलिए रिक्त सीटों पर प्रवेश के लिए पुन: प्रक्रिया प्रारंभ की गई है जो मंगलवार से प्रारंभ हो गई।
अब तक यह स्थिति
भादरा स्थित राजकीय महाविद्यालय में केवल कला संकाय स्वीकृत है। बीए प्रथम वर्ष में 200 सीटें हैं। इनमें से अब तक 150 सीटें ही भरी हैं। शेष 50 सीटों को भरने के लिए फिर से आवेदन मांगे गए हैं। यही हालात हनुमानगढ़ जंक्शन स्थित राजकीय कन्या महाविद्यालय के हैं। यहां भी कला संकाय ही स्वीकृत है। बीए प्रथम वर्ष में 200 सीट है। अभी 100 सीट खाली पड़ी है। इसी तरह राजकीय कन्या कॉलेज नोहर में बीए प्रथम वर्ष में 200 सीटें स्वीकृत है। अब तक केवल 45 सीटें ही भरी जा सकी है। जिले के सबसे बड़े कॉलेज में शामिल राजकीय एनएम पीजी कॉलेज में बीए प्रथम वर्ष में 1100 सीट स्वीकृत है। अब तक 292 सीटें खाली पड़ी हैं। इसी तरह बीकॉम में 337, बीएससी मैथ में 144, बीएसससी बायोलॉजी में 48 एवं बीसीए एसएफएस में 77 सीटें खाली हैं।
केवल यहां स्थिति ठीक
जिले में राजकीय एनडीबी कॉलेज नोहर में स्नातक प्रथम वर्ष में प्रवेश की स्थिति अन्य कॉलेजों से बेहतर है। एनडीबी कॉलेज में कला संकाय प्रथम वर्ष में 900 सीट स्वीकृत है। इन पर प्रवेश के लिए 2508 आवेदन जमा हुए हैं। विज्ञान संकाय बायोलॉजी में 176 सीट पर 379 तथा गणित में 176 सीट पर एडमिशन के लिए 412 आवेदन जमा हुए हैं। हालांकि वाणिज्य संकाय में स्थिति खराब है। 200 सीट पर आवेदन के लिए अब तक महज 59 आवेदन ही जमा हुए हैं।
खाली सीटें भरने की कोशिश
राजकीय महाविद्यालयों में बीए प्रथम वर्ष में रिक्त रही सीटों पर प्रवेश के लिए आवेदन मांगे गए हैं। जंक्शन स्थित राजकीय कन्या महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ. मोहनलाल गोस्वामी ने बताया कि बीए प्रथम वर्ष में श्रेणीवार रिक्त सीटों पर प्रवेश के लिए मंगलवार से ऑनलाइन आवेदन की प्रक्रिया प्रारंभ की गई। ऑनलाइन आवेदन 18 अक्टूबर तक स्वीकार किए जाएंगे। इसके बाद 21 अक्टूबर को वरीयता सूची का प्रकाशन किया जाएगा। मूल दस्तावेजों का सत्यापन 22 से 25 अक्टूबर तक किया जाएगा। ई-मित्र के माध्यम से शुल्क जमा कराने की अंतिम तिथि 26 अक्टूबर तय की गई है।
राजकीय कॉलेज : बीए प्रथम वर्ष
कॉलेज कुल सीट खाली सीटें
कन्या कॉलेज, जंक्शन 200 100
राजकीय कॉलेज, भादरा 200 050
कन्या कॉलेज, नोहर 200 155
एनएम पीजी कॉलेज 1100 292
एनडीबी कॉलेज, नोहर 900 000

adrish khan Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned