scriptDrone technology will make farming easier in the district | जिले में ड्रोन तकनीक से आसान बनेगी खेती | Patrika News

जिले में ड्रोन तकनीक से आसान बनेगी खेती

locationहनुमानगढ़Published: Oct 27, 2022 12:53:03 pm

Submitted by:

Purushottam Jha

https://www.patrika.com/hanumangarh-news/

हनुमानगढ़. कृषि प्रधान हनुमानगढ़ जिले के लिए ड्रोन तकनीक खेती के लिए काफी अहम साबित हो सकती है। फसल प्रबंधन को लेकर सरकार ड्रोन तकनीक से खेती करने को बढ़ावा दे रही है। चालू वर्ष में राज्य सरकार की ओर से पेश किए गए कृषि बजट में सभी जिलों में ड्रोन खरीदने को लेकर बजट भी स्वीकृत किया गया है।

 

जिले में ड्रोन तकनीक से आसान बनेगी खेती
जिले में ड्रोन तकनीक से आसान बनेगी खेती
जिले में ड्रोन तकनीक से आसान बनेगी खेती
-सभी जिलों में कस्टम हायरिंग सेंटरों को पहले दौर में ड्रोन उपलब्ध करवाने की योजना
-जिले में अभी करीब 56 कस्टम हायरिंग सेंटर हो रहे संचालित
हनुमानगढ़. कृषि प्रधान हनुमानगढ़ जिले के लिए ड्रोन तकनीक खेती के लिए काफी अहम साबित हो सकती है। फसल प्रबंधन को लेकर सरकार ड्रोन तकनीक से खेती करने को बढ़ावा दे रही है। चालू वर्ष में राज्य सरकार की ओर से पेश किए गए कृषि बजट में सभी जिलों में ड्रोन खरीदने को लेकर बजट भी स्वीकृत किया गया है। सरकार खेती में तकनीक को बढ़ावा देने की मकसद से इस तरह के नवाचार करने जा रही है। इसके तहत जल्द गांवों में ड्रोन तकनीक से किसान खेती करते मिलेंगे। वहीं राज्य सरकार के साथ ही अब इस बारे में केंद्र सरकार ने प्रारंभिक निर्देश जारी कर दिए हैं। इसमें सभी जिलों से ड्रोन तकनीक को प्रोत्साहित करने को लेकर सुझाव मांगे हैं। जानकारी के अनुसार केंद्र सरकार ने एक ड्रोन की लागत सात लाख दस हजार मानी है। इसमें चालीस प्रतिशत तक अनुदान किसानों को मिल सकता है। पहले चरण में चयनित कस्टम हायरिंग सेंटरों को अनुदानित दरों पर ड्रोन उपलब्ध करवाने की तैयारी है। ताकि किसानों को पहले दौर में किराए पर यह सुविधा मिल सके। इस बार त्योहारी सीजन में आधुनिक कृषि यंत्रों की खरीद बाजार में खूब हुई है। फसल उत्पादन ठीक होने से किसानो ंकी जेब में पैसा आ रहा है। खेती को आसान बनाने की प्रक्रिया में अब ड्रोन तकनीक को भी काफी अहम माना जा रहा है।
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.