scriptDrones will be made available to custom hiring centers in the first ro | कस्टम हायरिंग सेंटरों को पहले दौर में उपलब्ध करवाएंगे ड्रोन | Patrika News

कस्टम हायरिंग सेंटरों को पहले दौर में उपलब्ध करवाएंगे ड्रोन

https://www.patrika.com/hanumangarh-news/

हनुमानगढ़. आने वाले समय में ड्रोन तकनीक खेती की तस्वीर बदलने वाली है। इस बारे में केंद्र सरकार ने प्रारंभिक निर्देश जारी कर दिए हैं। इसमें सभी जिलों से ड्रोन तकनीक को प्रोत्साहित करने को लेकर सुझाव मांगे हैं। जानकारी के अनुसार केंद्र सरकार ने एक ड्रोन की लागत सात लख दस हजार मानी है।

 

हनुमानगढ़

Published: June 07, 2022 11:07:32 am

कस्टम हायरिंग सेंटरों को पहले दौर में उपलब्ध करवाएंगे ड्रोन

-ड्रोन तकनीक से खेती की तस्वीर बदलने की तैयारी

हनुमानगढ़. आने वाले समय में ड्रोन तकनीक खेती की तस्वीर बदलने वाली है। इस बारे में केंद्र सरकार ने प्रारंभिक निर्देश जारी कर दिए हैं। इसमें सभी जिलों से ड्रोन तकनीक को प्रोत्साहित करने को लेकर सुझाव मांगे हैं। जानकारी के अनुसार केंद्र सरकार ने एक ड्रोन की लागत सात लख दस हजार मानी है। इसमें चालीस प्रतिशत तक अनुदान किसानों को मिल सकता है। पहले चरण में चयनित कस्टम हायरिंग सेंटरों को अनुदानित दरों पर ड्रोन उपलब्ध करवाने की तैयारी है। ताकि किसानों को पहले दौर में किराए पर यह सुविधा मिल सके। हनुमानगढ़ जिले में वर्तमान में ५६ कस्टम हायरिंग सेंटर अधिकृत हैं। जो किसानों को किराए पर कृषि यंत्र उपलब्ध करवा रहे हैं। ड्रोन तकनीक के बारे में किसानों को जागरूक करने के लिए कृषि विभाग स्तर पर पहले कृषि पर्यवेक्षकों व कृषि अधिकारियों को प्रशिक्षित किया जा रहा है। आगे प्रगतिशील किसानों को भी ट्रेनिंग देकर तैयार किया जाएगा। ताकि भविष्य में खेती के क्षेत्र में बदलाव लाया जा सके। इस तकनीक का उपयोग करने से समय की बचत भी होती है। कृषि प्रधान हनुमानगढ़ जिले में यह तकनीक कारगर साबित हो सकती है। जिले में दो लाख से अधिक किसान खेती पर निर्भर हैं। जिले के आर्थिक विकास का बड़ा आधार खेती पर निर्भर है। इस स्थिति में ड्रोन तकनीक को प्रोत्साहित करने को लेकर सरकार ने प्रयास शुरू कर दिए हैं।
कस्टम हायरिंग सेंटरों को पहले दौर में उपलब्ध करवाएंगे ड्रोन
कस्टम हायरिंग सेंटरों को पहले दौर में उपलब्ध करवाएंगे ड्रोन
बताए ड्रोन के फायदे
कृषि विभाग कार्यालय परिसर में कृषि संबंधी वैज्ञानिक तकनीक विषय पर कार्यशाला का आयोजन किया गया। खेती बाड़ी महकमें के अफसरों ने मौजूद किसानों को ड्रोन विमान से कृषि संबंधित वैज्ञानिक तकनीक की जानकारी दी। सहायक निदेशक कृषि बीआर बाकोलिया ने खेती में ड्रोन तकनीक के इस्तेमाल व इसके फायदे बताए। वक्ताओं ने कहा कि वैज्ञानिक तकनीक फसलों की बिजाई समय से लेकर फसल पकाई तक हर कार्य में सहयोग कर सकता है। जैसे खेत में कितने प्रतिशत बीज ऊगा है। कहां पर पौधों की कमी है और दोबारा बिजाई करनी होगी। सिंचाई संबंधी जानकारी कब और कितने पानी की आवश्यकता है। खेत कहां पर ऊंचा या नीचा है, जमीन समतलीकरण कार्य को आसान बनाया जा सकता है। कीटनाशक दवाई का हवाई छिड़काव कर सकते हैं। जो बहुत ही कम समय में ओर अच्छे तरीके से कर सकते हैं।
पानी की बचत भी
प्रशिक्षण के दौरान कृषि विभाग के अधिकारियों ने बताया कि ड्रोन तकनीक से खेती करने पर पानी भी बहुत कम लगता है। कीटनाशक दवाई की भी बचत होती है। समय भी कम लगता है। फसलों की विभिन्न रोगों ओर बीमारियों का पता लगाया जा सकता है। ड्रोन विमान तकनीक को विभिन्न सरकारी योजनाओं से जोडऩे की तैयारी चल रही है। ताकि फसल बीमा योजना में संबंधित फसलों का नुकसान होने पर सही जानकारी प्राप्त हो सके। कृषि विभाग के उप निदेशक दानाराम गोदारा, सहायक निदेशक बीआर बाकोलिया, कृषि अधिकारी बलकरण सिंह सहित प्रगतिशील किसान मौजूद रहे।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

मौसम अलर्ट: जल्द दस्तक देगा मानसून, राजस्थान के 7 जिलों में होगी बारिशइन 4 राशियों के लोग होते हैं सबसे ज्यादा बुद्धिमान, देखें क्या आपकी राशि भी है इसमें शामिलस्कूलों में तीन दिन की छुट्टी, जानिये क्यों बंद रहेंगे स्कूल, जारी हो गया आदेश1 जुलाई से बदल जाएगा इंदौरी खान-पान का तरीका, जानिये क्यों हो रहा है ये बड़ा बदलावNumerology: इस मूलांक वालों के पास धन की नहीं होती कमी, स्वभाव से होते हैं थोड़े घमंडीबुध जल्द अपनी स्वराशि मिथुन में करेंगे प्रवेश, जानें किन राशि वालों का होगा भाग्योदयमोदी सरकार ने एलपीजी गैस सिलेण्डर पर दिया चुपके से तगड़ा झटकाजयपुर में रात 8 बजते ही घर में आ जाते है 40-50 सांप, कमरे में दुबक जाता है परिवार

बड़ी खबरें

Maharashtra Political Crisis: महा विकास अघाड़ी सरकार को बड़ा झटका, शिंदे खेमे में शामिल होंगे उद्धव के 8वें मंत्रीRanji Trophy Final: मध्य प्रदेश ने रचा इतिहास, 41 बार की चैम्पियन मुंबई को 6 विकेट से हरा जीता पहला खिताबBypoll results 2022 LIVE: UP की आजमगढ़ सीट से निरहुआ की हुई जीत, दिल्ली में मिली जीत पर केजरीवाल गदगदअगरतला उपचुनाव में जीत के बाद कांग्रेस नेताओं पर हमला, राहुल गांधी बोले- BJP के गुड़ों को न्याय के कठघरे में खड़ा करना चाहिएSangrur By Election Result 2022: मजह 3 महीने में ही ढह गया भगवंत मान का किला, किन वजहों से मिली हार?सिद्धू मूसेवाला की हत्या के बाद, फिर से सामने आया कनाडाई (पंजाबी) गिरोहMumbai News Live Updates: शिवसेना सांसद संजय राउत ने बागी विधायकों को जिंदा लाश बतायाMaharashtra Political Crisis: केंद्र ने शिवसेना के बागी 15 विधायकों को दी Y प्लस कैटेगरी की सुरक्षा, शिंदे गुट ने डिप्टी स्पीकर के खिलाफ लिया ये फैसला
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.