scriptEfforts to increase the package of government hospitals will honor the | सरकारी अस्पतालों के पैकेज बढ़ाने का प्रयास, बेहतर कार्य करने वाले चिकित्सकों का करेंगे सम्मान | Patrika News

सरकारी अस्पतालों के पैकेज बढ़ाने का प्रयास, बेहतर कार्य करने वाले चिकित्सकों का करेंगे सम्मान


सरकारी अस्पतालों के पैकेज बढ़ाने का प्रयास, बेहतर कार्य करने वाले चिकित्सकों का करेंगे सम्मान
- चिरंजीवी योजना में लोंगो का प्राइवेट अस्पतालों की बजाए सरकार अस्पताल में बढ़े रूझान
हनुमानगढ़. चिरंजीवी योजना के तहत सरकारी अस्पतालों में पैकेज अधिक बुक हों, इसके लिए जिला प्रशासन स्तर बेहतर कार्य करने वाले चिकित्सक को सम्मानित किया जाएगा।

हनुमानगढ़

Published: June 13, 2022 01:02:29 pm


सरकारी अस्पतालों के पैकेज बढ़ाने का प्रयास, बेहतर कार्य करने वाले चिकित्सकों का करेंगे सम्मान
- चिरंजीवी योजना में लोंगो का प्राइवेट अस्पतालों की बजाए सरकार अस्पताल में बढ़े रूझान
हनुमानगढ़. चिरंजीवी योजना के तहत सरकारी अस्पतालों में पैकेज अधिक बुक हों, इसके लिए जिला प्रशासन स्तर बेहतर कार्य करने वाले चिकित्सक को सम्मानित किया जाएगा। यह निर्णय इसलिए लिया जा रहा है क्योंकि प्राइवेट अस्पताल की तुलना में सरकारी अस्पताल में चिरंजीवी योजना में पैकेज बेहद कम बुक हो रहे हैं। रोगी व परिजन प्राइवेट अस्पतालों में चिरंजीवी योजना का लाभ ले रहे हैं। इससे सरकारी अस्पतालों का संचालन करना मुश्किल हो रहा है। दरअसल चिरंजीवी योजना के तहत पैकेज बुक कर सरकारी अस्पताल बीमा कंपनी से करोड़ों रुपए अपने खाते में जमा कर सकता है। इससे अस्पताल में सुविधाएं बढ़ाने पर मदद मिलेगी। लेकिन लोगों का रुझान प्राइवेट अस्पतालों की ओर बढ़ रहा है। यही वजह यह है कि जिला अस्पताल में सर्जन, ऑर्थो, ईएनटी विशेषज्ञ होने के बावजूद करोड़ों की बजाए लाखों रुपए के ऑपरेशन करने तक ही सिमट कर रह गया। जबकि इसके आसपास के प्राइवेट अस्पताल चिरंजीवी योजना के तहत निशुल्क इलाज कर बीमा कंपनी से करोड़ों रुपए भुगतान उठा चुका है। यही नहीं एक अस्पताल तो 4 करोड़ 15 लाख रुपए के ऑपरेशन कर बीमा कंपनी से भुगतान ले चुका है। मुख्यमंत्री चिरंजीवी योजना के तहत इलाज निशुल्क होने के कारण रोगी व परिजन सरकारी अस्पतालों में जाने की बजाए प्राइवेट अस्पतालों की ओर रूख कर रहे हैं। इसकी वजह से सरकारी अस्पतालों में पैकेज कम बुक होने के कारण सरकारी खजाने खाली पड़े है। जबकि सरकारी अस्पताल में रोगियों को बेहतर सुविधा देकर निशुल्क ऑपरेशन की संख्या बढ़ाकर अपना खजाना भर सकते हैं। इस राशि से स्वास्थ्य सुविधा और बढ़ाई जा सकेगी।
सरकारी अस्पतालों के पैकेज बढ़ाने का प्रयास, बेहतर कार्य करने वाले चिकित्सकों का करेंगे सम्मान
सरकारी अस्पतालों के पैकेज बढ़ाने का प्रयास, बेहतर कार्य करने वाले चिकित्सकों का करेंगे सम्मान
राजकीय अस्पताल इतना उठाया भुगतान
चिरंजीवी योजना लागू होने के बाद से सरकारी अस्पताल में सर्जरी न के बराबर हो रही है। रोगी व परिजन प्राइवेट अस्पतालों में योजना का लाभ लेते हुए सर्जरी करवा रहे हैं। वहीं रोगी व परिजनों के आग्रह पर और प्राइवेट अस्पतालों में सुविधा होने के कारण सरकारी अस्पताल के चिकित्सक इन अस्पतालों में जाकर चिरंजीवी योजना के तहत ऑपरेशन कर रहे हैं। इसकी वजह से सरकारी अस्पतालों में सर्जरी के आंकड़े प्राइवेट अस्पताल की तुलना में बेहद कम है। स्वास्थ्य विभाग के 1 मई 2021 से 31 मार्च 2022 तक के आंकड़ों के अनुसार रावतसर के सरकारी अस्पताल में केवल 11.57 प्रतिशत रोगी भर्ती हुए। हनुमानगढ़ टाउन के जिला अस्पताल में 15.71 प्रतिशत, डबलीराठान में 17.29 प्रतिशत, टिब्बी में 17.59 प्रतिशत, पल्लू में 18.40 प्रतिशत, गोलूवाला में 19.66 प्रतिशत, ढाबां में 20.18 प्रतिशत व पीलीबंगा में 20.18 प्रतिशत, भादरा में 27.09 प्रतिशत व नोहर में सर्वाधिक 84.18 प्रतिशत रोगियों को भर्ती किया गया है।
इन्होंने इतना उठाया भुगतान
चिरंजीवी योजना के तहत टाउन के बेनीवाल ऑर्थो एंड मेटरनिटी अस्पताल ने एक मई 2021 से 31 मार्च 2022 तक चार करोड़ 15 लाख 67 हजार रुपए के पैकज बुक कर 3506 ऑपरेशन किए हैं। आरोग्य आर्थोपेडिक सेंटर ने एक करोड़ 10 लाख रुपए के पैकेज बुक कर 772 ऑपरेशन किए हैं। बेनीवाल हॉस्पिटल ने एक करोड़ 4 लाख रुपए के पैकेज बुक कर 575 ऑपरेशन किए हैं। इसी तरह गौरी अस्पताल ने 93 लाख रुपए में 1015 ऑपरेशन किए हैं। चावला नर्सिंग होम ने करीब पचास लाख, एपेक्स अस्पताल ने 217 ऑपरेशन कर 43 लाख रुपए का पैकेज बुक किए थे। स्वास्थ्य विभाग के अनुसार बीमा कंपनी ने इन सभी के खाते में राशि जमा करवा चुकी है।
दस लाख तक का निशुल्क इलाज
मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. नवनीत शर्मा ने बताया कि एक अप्रैल से अब इस योजना के अंतर्गत बीमा कवर राशि को भी बढ़ाकर 10 लाख रुपए कर दिया गया है। इसके साथ ही कॉकलियर, इंप्लांट, बोन मैरों,
सरकारी अस्पतालों के पैकेज बढ़ाने का प्रयास, बेहतर कार्य करने वाले चिकित्सकों का करेंगे सम्मान
- चिरंजीवी योजना में लोंगो का प्राइवेट अस्पतालों की बजाए सरकार अस्पताल में बढ़े रूझान
हनुमानगढ़. चिरंजीवी योजना के तहत सरकारी अस्पतालों में पैकेज अधिक बुक हों, इसके लिए जिला प्रशासन स्तर बेहतर कार्य करने वाले चिकित्सक को सम्मानित किया जाएगा। यह निर्णय इसलिए लिया जा रहा है क्योंकि प्राइवेट अस्पताल की तुलना में सरकारी अस्पताल में चिरंजीवी योजना में पैकेज बेहद कम बुक हो रहे हैं। रोगी व परिजन प्राइवेट अस्पतालों में चिरंजीवी योजना का लाभ ले रहे हैं। इससे सरकारी अस्पतालों का संचालन करना मुश्किल हो रहा है। दरअसल चिरंजीवी योजना के तहत पैकेज बुक कर सरकारी अस्पताल बीमा कंपनी से करोड़ों रुपए अपने खाते में जमा कर सकता है। इससे अस्पताल में सुविधाएं बढ़ाने पर मदद मिलेगी। लेकिन लोगों का रुझान प्राइवेट अस्पतालों की ओर बढ़ रहा है। यही वजह यह है कि जिला अस्पताल में सर्जन, ऑर्थो, ईएनटी विशेषज्ञ होने के बावजूद करोड़ों की बजाए लाखों रुपए के ऑपरेशन करने तक ही सिमट कर रह गया। जबकि इसके आसपास के प्राइवेट अस्पताल चिरंजीवी योजना के तहत निशुल्क इलाज कर बीमा कंपनी से करोड़ों रुपए भुगतान उठा चुका है। यही नहीं एक अस्पताल तो 4 करोड़ 15 लाख रुपए के ऑपरेशन कर बीमा कंपनी से भुगतान ले चुका है। मुख्यमंत्री चिरंजीवी योजना के तहत इलाज निशुल्क होने के कारण रोगी व परिजन सरकारी अस्पतालों में जाने की बजाए प्राइवेट अस्पतालों की ओर रूख कर रहे हैं। इसकी वजह से सरकारी अस्पतालों में पैकेज कम बुक होने के कारण सरकारी खजाने खाली पड़े है। जबकि सरकारी अस्पताल में रोगियों को बेहतर सुविधा देकर निशुल्क ऑपरेशन की संख्या बढ़ाकर अपना खजाना भर सकते हैं। इस राशि से स्वास्थ्य सुविधा और बढ़ाई जा सकेगी।
राजकीय अस्पताल इतना उठाया भुगतान
चिरंजीवी योजना लागू होने के बाद से सरकारी अस्पताल में सर्जरी न के बराबर हो रही है। रोगी व परिजन प्राइवेट अस्पतालों में योजना का लाभ लेते हुए सर्जरी करवा रहे हैं। वहीं रोगी व परिजनों के आग्रह पर और प्राइवेट अस्पतालों में सुविधा होने के कारण सरकारी अस्पताल के चिकित्सक इन अस्पतालों में जाकर चिरंजीवी योजना के तहत ऑपरेशन कर रहे हैं। इसकी वजह से सरकारी अस्पतालों में सर्जरी के आंकड़े प्राइवेट अस्पताल की तुलना में बेहद कम है। स्वास्थ्य विभाग के 1 मई 2021 से 31 मार्च 2022 तक के आंकड़ों के अनुसार रावतसर के सरकारी अस्पताल में केवल 11.57 प्रतिशत रोगी भर्ती हुए। हनुमानगढ़ टाउन के जिला अस्पताल में 15.71 प्रतिशत, डबलीराठान में 17.29 प्रतिशत, टिब्बी में 17.59 प्रतिशत, पल्लू में 18.40 प्रतिशत, गोलूवाला में 19.66 प्रतिशत, ढाबां में 20.18 प्रतिशत व पीलीबंगा में 20.18 प्रतिशत, भादरा में 27.09 प्रतिशत व नोहर में सर्वाधिक 84.18 प्रतिशत रोगियों को भर्ती किया गया है।
इन्होंने इतना उठाया भुगतान
चिरंजीवी योजना के तहत टाउन के बेनीवाल ऑर्थो एंड मेटरनिटी अस्पताल ने एक मई 2021 से 31 मार्च 2022 तक चार करोड़ 15 लाख 67 हजार रुपए के पैकज बुक कर 3506 ऑपरेशन किए हैं। आरोग्य आर्थोपेडिक सेंटर ने एक करोड़ 10 लाख रुपए के पैकेज बुक कर 772 ऑपरेशन किए हैं। बेनीवाल हॉस्पिटल ने एक करोड़ 4 लाख रुपए के पैकेज बुक कर 575 ऑपरेशन किए हैं। इसी तरह गौरी अस्पताल ने 93 लाख रुपए में 1015 ऑपरेशन किए हैं। चावला नर्सिंग होम ने करीब पचास लाख, एपेक्स अस्पताल ने 217 ऑपरेशन कर 43 लाख रुपए का पैकेज बुक किए थे। स्वास्थ्य विभाग के अनुसार बीमा कंपनी ने इन सभी के खाते में राशि जमा करवा चुकी है।
दस लाख तक का निशुल्क इलाज
मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. नवनीत शर्मा ने बताया कि एक अप्रैल से अब इस योजना के अंतर्गत बीमा कवर राशि को भी बढ़ाकर 10 लाख रुपए कर दिया गया है। इसके साथ ही कॉकलियर, इंप्लांट, बोन मैरों, ट्रांसप्लांट, आर्गन ट्रांसप्लांट जैसे महंगे इलाज को भी इस योजना में शामिल किया जा चुका है। लेकिन प्रसव को इस योजना में अभी तक शामिल नहीं किया है। इन्होंने कहा कि सरकारी अस्पताल में ज्यादा पैकेज बुक कर बेहतर कार्य करने वाले चिकित्सकों को जिला प्र्रशासन की ओर से सम्मानित किया जाएगा।
ंसप्लांट, आर्गन ट्रांसप्लांट जैसे महंगे इलाज को भी इस योजना में शामिल किया जा चुका है। लेकिन प्रसव को इस योजना में अभी तक शामिल नहीं किया है। इन्होंने कहा कि सरकारी अस्पताल में ज्यादा पैकेज बुक कर बेहतर कार्य करने वाले चिकित्सकों को जिला प्र्रशासन की ओर से सम्मानित किया जाएगा।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Maharashtra Politics: एकनाथ शिंदे होंगे महाराष्ट्र के अगले सीएम, देवेंद्र फडणवीस ने किया ऐलानMaharashtra: महाराष्ट्र के राज्यपाल से मिलने पहुंचे देवेंद्र फडणवीस और एकनाथ शिंदे, आज शाम होगा शपथ ग्रहण समारोहAgnipath Scheme: अग्निपथ स्कीम के खिलाफ प्रस्ताव पारित करने वाला पहला राज्य बना पंजाब, कांग्रेस व अकाली दल ने भी किया समर्थनPresidential Election 2022: लालू प्रसाद यादव भी लड़ेंगे राष्ट्रपति पद के लिए चुनाव! जानिए क्या है पूरा मामलाMumbai News Live Updates: बीजेपी नेता देवेंद्र फडणवीस का बड़ा बयान, कहा- एकनाथ शिंदे होंगे महाराष्ट्र के अगले सीएमMaharashtra Political Crisis: उद्धव के इस्तीफे पर नरोत्तम मिश्रा ने दिया बड़ा बयान, कहा- महाराष्ट्र में हनुमान चालीसा का दिखा प्रभावप्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने MSME के लिए लांच की नई स्कीम, कहा- 18 हजार छोटे करोबारियों को ट्रांसफर किए 500 करोड़ रुपएDelhi MLA Salary Hike: दिल्ली के 70 विधायकों को जल्द मिलेगी 90 हजार रुपए सैलरी, जानिए अभी कितना और कैसे मिलता है वेतन
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.