गली-मौहल्लों में खम्भों पर लिखे जाएंगे बिजली बिलों के बकायादारों के नाम

विद्युत निगम के चीफ इंजीनियर बोले...


बकाया वसूली पर रहेगा सर्वाधिक जोर

- मनोज गोयल
हनुमानगढ़. जोधपुर विद्युत वितरण निगम लिमिटेड (डिस्कॉम) कनैक्शन कटवा कर बिजली बिल की राशि हड़प करने वालों के नाम सार्वजनिक करेगा। इसके लिए विद्युत निगम बकाया राशि वाले लोगों के नाम गली- मौहल्लों में खम्भों पर लिखवाएगा। इतना ही नहीं खम्भों पर यह नाम भी लाल रंग से लिखवाए जाएंगे ताकि उनकी पहचान उजागर हो और बकाया राशि हड़पने का इरादा रखने वालों की 'सामाजिक प्रतिष्ठाÓ को आघात लगे और वह राशि जमा करवा कर अपना नाम खम्भों से हटवा लें। विद्युत निगम यह कार्य इस माह के अंत तक आरंभ कर देगा।

विद्युत निगम के मुख्य अभियंता सुभाषचन्द्र बिश्रोई ने 'पत्रिकाÓ से बातचीत में कहा कि विद्युत निगम का स्थाई रूप से कटे हुए कनेक्शनों (पीडीसी) की एवज में करोड़ों रुपए बकाया है। हनुमानगढ़ जिले में ही करीब दस करोड़ रुपए पीडीसी खाते में बकाया पड़े हैं। ऐसे में इस राशि को वसूलने के लिए विशेष प्रयास किए जा रहे हैं।


यहां एक दिवसीय यात्रा पर आए चीफ इंजीनियर ने कहा कि उपभोक्ता कनैक्शन कटवा कर नए नाम से कनैक्शन ले लेते हैं। ऐसे में इस राशि को वसूलने के लिए उनके नाम गली- मौहल्लों में उजागर किए जाएंगे। इसके लिए कार्य योजना बना ली गई है। लिस्टें बना कर उनके नाम खम्भों पर लिखे जाएंगे। पीडीसी कनैक्शन जिस स्थल पर चल रहे थे, उन स्थलों पर चल रहे कनैक्शनों की भी पड़ताल कर राशि वसूलने का कार्य किया जाएगा। इसके अलावा ऐसे नामों को जीपीएस सिस्टम से जोड़ा जाएगा, ताकि उस नाम से अन्यत्र कनैक्शन नहीं हो पाए और होता भी है तो वहां बकाया राशि वसूल की जा सके। मुख्य अभियंता ने कहा कि सहायक अभियंतों को निर्देश दिए गए हैं कि एक बिल से ज्यादा राशि होते ही कनैक्शन काटने की प्रक्रिया आरंभ की जाए। एक से दूसरे बिल के होते ही वसूली के लिए व्यक्तिगत प्रयास किए जाएं।


अब स्क्रेप नहीं बनेंगे विद्युत मीटर
मुख्य अभियंता ने कहा कि विद्युत निगम में पुशफिट मीटरों के खराब होने और फिर उनको बदलने में काफी आर्थिक नुकसान हो रहा था। हर वर्ष करीब ढाई लाख मीटर स्क्रेप बन रहे थे। मुख्य अभियंता ने कहा कि इसके लिए उन्होंने अपने स्तर पर एक प्रयास किया है।
दिसम्बर में इसको प्रयोग के तौर पर कुछ सब डिवीजनों में लागू किया जाएगा। उन्होंने कहा कि उपभोक्ता की शिकायत पर उतरने वाले पुश फीट मीटरों को लैबोरेट्री में जांच करवाई जाएगी। जांच में जो मीटर सही पाए जाएंगे। उन्हें फिर से लगाया जाएगा। हालांकि इस प्रक्रिया में पुशफीट खराब हो जाएगी, उसकी जगह पर उन्होंने अपने प्रयासों से एक विशेष बक्सा बनवाया है, उसका प्रयोग किया जाएगा, सफल रहा तो इसे आगे बढ़ाया जाएगा।


सप्ताह दो दिन होगा उपभोक्ताओं की समस्याओं पर मंथन
मुख्य अभियंता ने कहा कि उपभोक्ताओं की समस्याओं का समाधान हो, इसके लिए सप्ताह में दो दिन उपखंड कार्यालय में सहायक अभियंता, कनिष्ठ अभियंता, एआरओ की संयुक्त बैठक रखने के निर्देश दिए गए हैं। इन बैठकों में उपभोक्ताओं की समस्याओं पर चर्चा होगी और उनके तत्काल समाधान के प्रयास किए जाएंगे ताकि उपभोक्ताओं को तत्काल राहत मिल सके।

निगम के गंभीर आर्थिक हालात पर जताई चिंता
मुख्य अभियंता के अनुसार विद्युत निगम के आर्थिक हालात बहुत चिंता जनक हैं। करोड़ों रुपए बकाया हैं। विद्युत की छीजत और विद्युत की चोरी की स्थिति सही नहीं है। अभियंताओं को विजीलैंस बढ़ाने के लिए कहा गया है। छीजत को 15 प्रतिशत से नीचे लाने के निर्देश दिए गए हैं। रिकवरी पर सर्वाधिक जोर दिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि विद्युत सप्लाई की राशि प्राप्त करना बहुत जरूरी है।


मुख्य अभियंता ने ली अभियंताओं की बैठक
सार्थक परिणाम के लिए अभियंता करें कार्य
हनुमानगढ़. मुख्य अभियंता सुभाषचन्द्र बिश्रोई ने जंक्शन स्थित अधीक्षण अभियंता कार्यालय में जिले सभी सहायक अभियंताओं की बैठक ली। बैठक में उन्होंने कहा कि बकाया वसूली के लिए अभियंता उपखण्ड वार लक्ष्य बना कर कार्य करें। बकाया वसूली के साथ-साथ वर्तमान बिलों की भी वसूली तेजी से की जाए। उन्होंने कहा कि अभियंता सक्रियता और समर्पित भाव से कार्य करें ताकि सार्थक परिणाम आएं।

उन्होंने अभियंताओं को सीख दी कि उपभोक्ताओं के हितों का भी ध्यान रखें। उपभोक्ता के कारण ही निगम का आस्तित्व है। उन्होंने कहा कि उपभोक्ता की तत्काल सुनवाई होनी चाहिए। बैठक में अधीक्षण अभियंता मांगेराम बिश्रोई, अधिशासी अभियंता भूपेन्द्र चौधरी, आरके गर्ग, रिछपाल सिंह चारण सहित सभी उपखण्डों के सहायक अभियंता मौजूद थे।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned