भ्रांतियों को करेंगे दूर, करेंगे सबको अपडेट, उद्योग और व्यापार का माहौल बनाने को उपलब्ध करवाएंगे दस करोड़ तक की वित्तीय सहायता

https://www.patrika.com/hanumangarh-news/

हनुमानगढ़. अर्थ व्यवस्था को ऊंचाई देने के लिए उद्योग धंधे विकसित करना जरूरी होता है। उद्योग ध्ंाधों को प्रोत्साहन मिलने पर रोजगार के अवसर भी खूब मिलते हैं। इस स्थिति में राज्य सरकार ने अब ऋण योजनाओं में बदलाव करते हुए इसकी सीमा बढ़ा दी है। इस बदलाव को लेकर व्यापारिक सोच रखने वाले लोग काफी उत्साहित नजर आ रहे हैं।

 

By: Purushottam Jha

Published: 01 Mar 2020, 12:05 PM IST

भ्रांतियों को करेंगे दूर, करेंगे सबको अपडेट, उद्योग और व्यापार का माहौल बनाने को उपलब्ध करवाएंगे दस करोड़ तक की वित्तीय सहायता
-तीन व चार मार्च को होगा उद्यम समागम का आयोजन
हनुमानगढ़. अर्थ व्यवस्था को ऊंचाई देने के लिए उद्योग धंधे विकसित करना जरूरी होता है। उद्योग ध्ंाधों को प्रोत्साहन मिलने पर रोजगार के अवसर भी खूब मिलते हैं। इस स्थिति में राज्य सरकार ने अब ऋण योजनाओं में बदलाव करते हुए इसकी सीमा बढ़ा दी है। इस बदलाव को लेकर व्यापारिक सोच रखने वाले लोग काफी उत्साहित नजर आ रहे हैं। सरकार स्तर पर व्यापारियों और उद्योगपतियों को ब्याज अनुदान पर दस करोड़ रुपए तक की वित्तीय सहायता उपलब्ध करवाने की योजना लागू की गई है। इसके तहत प्रदेश में उद्यमियों को प्रोत्साहन देने के लिए राज्य सरकार ने ऋण वितरण योजनाओं में बदलाव किया है। सरकार का मानना है कि इससे प्रदेश के विभिन्न जिलों में व्यापार और उद्योग स्थापित करने का माहौल बनेगा। सभी वर्ग के व्यक्तियों को रोजगार के नए अवसर उपलब्ध करवाने के लिए बैंकों के माध्यम से ब्याज अनुदान युक्त ऋण उपलब्ध करवाने के मकसद से अब मुख्यमंत्री लघु उद्योग प्रोत्साहन योजना शुरू की गई है। इससे पहले भामाशाह रोजगार सृजन योजना संचालित हो रही थी। लेकिन राज्य में नई सरकार बनने के बाद से ही इसे बंद करने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई थी। अब पुरानी योजना को बंद करके शुरू की गई नई योजना ‘मुख्यमंत्री लघु उद्योग प्रोत्साहन योजना’ में बैंकों के माध्यम से विनिर्माण, सेवा एवं व्यापार आधारित उद्यम के लिए ऋण उपलब्ध करवाए जाएंगे। नए स्थापित होने वाले उद्यम के साथ-साथ पूर्व स्थापित उद्यम, विस्तार, विविधीकरण, आधुनिकीकरण आदि के लिए लाभान्वित हो सकेंगे। हनुमानगढ़ में उद्योग प्रसार अधिकारी प्रणिका चौधरी ने बताया कि सरकार की ओर से शुरू की गई मुख्यमंत्री लघु उद्योग प्रोत्साहन योजना की गाइड लाइन मिलने के बाद इस संबंध में लोगों को जागरूक किया जा रहा है। योजना के बारे में आमजन को जागरूक करने के लिए तीन व चार मार्च को जंक्शन में श्रीगंगानगर मार्ग पर दूरदर्शन रिले केंद्र के पास स्थित व्यापार मंडल धर्मशाला में उद्यम समागम रखा गया है। इस दो दिवसीय कार्यशाला में लोगों को इस नई योजना के बारे में बताकर उन्हें इसके फायदे बताएंगे। इस नई योजना का उद्देश्य है कि क्षेत्र में उद्योगों को तो बढ़ावा मिले ही साथ में बेरोजगारों को रोजगार भी उपलब्ध हो। प्रदेश में व्यापार व उद्योग का माहौल बनाने के लिए सरकार ने ऋण सीमा बढ़ाने का फैसला किया है। इस नई योजना को लेकर लोगों में जो भ्रांतियां है, उसे भी दूर करने का प्रयास रहेगा। ऋण आवेदन कैसे और कहां किए जाएं, इसे लेकर भी लोगों को बताया जाएगा।

समागम स्थल पर लगाएंगे स्टॉल
‘मुख्यमंत्री लघु उद्योग प्रोत्साहन योजना’ में १८ वर्ष से अधिक आयु के लोग इस योजना के तहत आवेदन कर सकेंगे। तीन व चार मार्च को होने वाले उद्यम समागम में जिला उद्योग केंद्र, रोजगार कार्यालय, कृषि विभाग, उद्यान विभाग सहित विभिन्न तरह की स्टॉलें लगाई जाएगी। इसमें बैंक अधिकारियों को भी बुलाया गया है। ताकि बैंकों को लेकर यदि किसी तरह के सवाल हों तो उन्हें मौके पर दूर किया जा सके।

जानिए कैसे मिलेगा अनुदान
मुख्यमंत्री लघु उद्योग प्रोत्साहन योजना के तहत वितरित ऋण में २५ लाख रुपए तक ऋण लेने पर ब्याज अनुदान आठ प्रतिशत रहेगा। इसी तरह २५ लाख से पांच करोड़ के ऋण पर छह प्रतिशत तथा पांच करोड़ से दस करोड़ तक ऋण लेने पर ब्याज अनुदान पांच प्रतिशत मिलेगा। ऋण राशि के आधार पर तीन श्रेणियों में प्रदत्त ऋण का समय पर चुकारा करने पर ही ब्याज अनुदान देय होगा। कई लोग इस नई ऋण योजना के तहत आवेदन भी कर रहे हैं।

टॉस्क फोर्स कमेटी गठित
मुख्यमंत्री लघु उद्योग प्रोत्साहन योजना के तहत आने वाले आवेदनों की जांच को लेकर टॉस्क फोर्स कमेटी बनाई गई है। इसमें दस लाख रुपए तक के ऋण आवेदन महाप्रबंधक की ओर से प्राधिकृत अधिकारी या अधिकारियों की ओर से स्क्रूटनी कर स्वयं के स्तर पर अभिशंषित किए जाएंगे। कोई आवेदन निरस्त करने पर आवेदक उसके पुनरीक्षण को लेकर महाप्रबंधक को आवेदन कर सकेगा।

Purushottam Jha Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned