scriptEmphasis on farming education in agriculture based Hanumangarh distric | खेती आधारित हनुमानगढ़ जिले में जोर खेती की पढ़ाई पर | Patrika News

खेती आधारित हनुमानगढ़ जिले में जोर खेती की पढ़ाई पर

हनुमानगढ़. खेती आधारित हनुमानगढ़ जिले में खेती की पढ़ाई माने एग्रीकल्चर संकाय में अध्ययन का विद्यार्थियों को भरपूर मौका मिलने की उम्मीद है। अगर सब सही रहा तो जिले के राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालयों में बड़ी संख्या में कृषि संकाय संचालन की स्वीकृति मिल सकती है।

हनुमानगढ़

Published: December 27, 2021 08:45:24 pm

खेती आधारित हनुमानगढ़ जिले में जोर खेती की पढ़ाई पर
- जिले के राजकीय विद्यालयों की कृषि संकाय स्वीकृति प्रस्तावों में विशेष रुचि
- पहला राजकीय कृषि महाविद्यालय खुलने के बाद उत्साह
हनुमानगढ़. खेती आधारित हनुमानगढ़ जिले में खेती की पढ़ाई माने एग्रीकल्चर संकाय में अध्ययन का विद्यार्थियों को भरपूर मौका मिलने की उम्मीद है। अगर सब सही रहा तो जिले के राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालयों में बड़ी संख्या में कृषि संकाय संचालन की स्वीकृति मिल सकती है। क्योंकि हनुमानगढ़ सहित कुछ चुनिंदा जिले ही हैं जहां से विज्ञान संकाय संचालित सभी विद्यालयों ने ही कृषि संकाय संचालन स्वीकृति को लेकर मुख्यालय को प्रस्ताव भिजवाए हैं। पिछले दिनों माध्यमिक शिक्षा निदेशालय, बीकानेर के आदेश पर राज्य सरकार की बजट घोषणा के तहत यह प्रस्ताव भिजवाए गए थे।
ऐसे में संभावना है कि हनुमानगढ़ जिले को अन्य की तुलना में ज्यादा संख्या में कृषि संकाय मंजूरी की सौगात मिल सकती है। इससे निश्चित तौर पर कृषि शिक्षा में रुचि रखने वाले विद्यार्थियों को बहुत लाभ होगा। उनको अपने आसपास के राजकीय विद्यालयों में ही सहजता से कृषि संकाय में अध्ययन की सुविधा मिल सकेगी। इससे उनके हजारों रुपए की बचत होगी। जिला मुख्यालय पर राजकीय कृषि महाविद्यालय खुलने के बाद वैसे भी कृषि संकाय में अध्ययन को लेकर विद्यार्थियों एवं अभिभावकों में उत्साह है।
शत-प्रतिशत के प्रस्ताव
जानकारी के अनुसार जिले में 55 राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालयों में विज्ञान संकाय संचालित है। इन सभी राउमावि के संस्था प्रधानों ने कृषि संकाय खोलने को लेकर निदेशालय को प्रस्ताव भेजे। राज्य सरकार की बजट घोषणा के तहत 600 राउमावि में कृषि संकाय खोले जाने का लक्ष्य रखा गया है। इसके तहत सभी जिलों से प्रस्ताव मांगे गए थे। मगर अपेक्षानुरूप प्रस्ताव जिलों से नहीं मिले। ऐसे में पुन: प्रस्ताव मांगे गए थे।
इस साल ही खुला कॉलेज
महत्वपूर्ण यह कि जिला मुख्यालय पर जिले का पहला राजकीय कृषि महाविद्यालय इसी साल खोला गया है। अब तक कृषि संकाय के विद्यार्थियों के समक्ष यह संकट था कि बारहवीं के बाद कृषि स्नातक की पढ़ाई कहां की जाए। उनको निजी शिक्षण संस्थाओं में महंगी शिक्षा हासिल करनी पड़ रही थी। राजकीय कृषि महाविद्यालय खुलने के बाद यह समस्या समाप्त हो गई। समय बीतने के साथ कृषि महाविद्यालय में सीटें भी बढ़ती जाएंगी।
भेजे सभी के प्रस्ताव
जिले के सभी विज्ञान संकाय वाले राउमावि में कृषि संकाय मंजूरी को लेकर प्रस्ताव भिजवाए गए हैं। उम्मीद है कि अधिकाधिक संख्या में कृषि संकाय स्वीकृति की सौगात जिले को मिल सकेगी। - रणवीर शर्मा, एडीईओ माध्यमिक।
खेती आधारित हनुमानगढ़ जिले में जोर खेती की पढ़ाई पर
खेती आधारित हनुमानगढ़ जिले में जोर खेती की पढ़ाई पर

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

इन नाम वाली लड़कियां चमका सकती हैं ससुराल वालों की किस्मत, होती हैं भाग्यशालीजब हनीमून पर ताहिरा का ब्रेस्ट मिल्क पी गए थे आयुष्मान खुराना, बताया था पौष्टिकIndian Railways : अब ट्रेन में यात्रा करना मुश्किल, रेलवे ने जारी की नयी गाइडलाइन, ज़रूर पढ़ें ये नियमधन-संपत्ति के मामले में बेहद लकी माने जाते हैं इन बर्थ डेट वाले लोग, देखें क्या आप भी हैं इनमें शामिलइन 4 राशि की लड़कियों के सबसे ज्यादा दीवाने माने जाते हैं लड़के, पति के दिल पर करती हैं राजशेखावाटी सहित राजस्थान के 12 जिलों में होगी बरसातदिल्ली-एनसीआर में बनेंगे छह नए मेट्रो कॉरिडोर, जानिए पूरी प्लानिंगयदि ये रत्न कर जाए सूट तो 30 दिनों के अंदर दिखा देता है अपना कमाल, इन राशियों के लिए सबसे शुभ

बड़ी खबरें

देश में वैक्‍सीनेशन की रफ्तार हुई और तेज, आंकड़ा पहुंचा 160 करोड़ के पारपाकिस्तान के लाहौर में जोरदार बम धमाका, तीन की नौत, कई घायलजम्मू कश्मीर में सुरक्षाबलों को मिली बड़ी कामयाबी, लश्कर-ए-तैयबा का आतंकी जहांगीर नाइकू आया गिरफ्त मेंCovid-19 Update: दिल्ली में बीते 24 घंटे के भीतर आए कोरोना के 12306 नए मामले, संक्रमण दर पहुंचा 21.48%घर खरीदारों को बड़ा झटका, साल 2022 में 30% बढ़ेंगे मकान-फ्लैट के दाम, जानिए क्या है वजहकर्नाटक में कोरोना की रफ्तार तेज, 47  हजार से अधिक नए मामलेरामगढ़ पचवारा में बरसे टिकैत, कहा किसानों की जमीन को छीनने नहीं दिया जाएगाप्रदेश के डेढ़ दर्जन जिलों में रेत का अवैध परिवहन जारी, सरकार को करोड़ों का नुकसान
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.